जांच पर आंच:विमान यात्रियाें काे 2000 रुपए में फर्जी आरटीपीसीआर रिपोर्ट देने वाले पैथ लैब में छापेमारी, चार हिरासत में

पटना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
राजाबाजार में है प्लाज्मा डायग्नोस्टिक सेंटर, शास्त्रीनगर थाने में केस। - Dainik Bhaskar
राजाबाजार में है प्लाज्मा डायग्नोस्टिक सेंटर, शास्त्रीनगर थाने में केस।

2000 रुपए में पटना एयरपोर्ट से कोलकाता, मुंबई जाने वाले यात्रियों को फर्जी आरटीपीसीआर की निगेटिव रिपोर्ट देने वाले पैथोलॉजी सेंटरों का जिला प्रशासन की टीम ने भंडाफोड़ किया है। प्रशासन की टीम ने बुधवार की रात को शास्त्रीनगर थाना के राजाबाजार स्थित पीलर नंबर 83 के पास प्लाज्मा डायग्नोस्टिक में छापेमारी की। इस दौरान पुलिस व प्रशासन की टीम ने वहां मौजूद चार लोगों को हिरासत में लिया है।

छापेमारी में वहां से राजधानी के विभिन्न इलाकों में स्थित सरल पैथ के दाे लैब के अलावा जेनरल डायग्नोस्टिक इंटरनेशनल, हिंद लैब्स डायग्नोस्टिक सेंटर के साथ ही देश के कई शहरों में स्थित लैब की रिपोर्ट फीस की रसीद और पैड आदि मिले हैं।

इस लैब को आरटीपीसीआर जांच करने की नहीं है अनुमति
इस बाबत अपर मुख्य चिकित्सा पदाधिकारी डॉ. अविनाश कुमार सिंह के लिखित बयान पर शास्त्रीनगर थाने में प्लाज्मा डायग्नोस्टिक के संचालक व कर्मियों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की गई है। डीएम डॉ. चंद्रशेखर सिंह ने बताया कि जिन लैब के पैड, पैसे के रसीद व रिपोर्ट आदि प्लाज्मा डायग्नोस्टिक में मिले हैं, उसकी भी जांच की जाएगी।

बकौल डीएम प्लाज्मा डायग्नोस्टिक को आरटीपीासीआर टेस्ट करने की अनुमति भी नहीं है। साथ ही प्लाज्मा डायग्नोस्टिक क्लिनिकल एस्टेब्लिशमेंट एक्ट के तहत निबंधित नहीं है। छापेमारी टीम में नगर दंडाधिकारी जिला नियंत्रण कक्ष, प्रोटोकॉल अफसर, जिला कार्यक्रम प्रबंधक डीएचएस डॉ प्रशांत, डीपीएम विवेक कुमार सिंहके अलावा शास्त्रीनगर और एयरपोर्ट के थानेदार शामिल थे।

एयरपोर्ट के निदेशक ने दी थी सूचना
डीएम ने बताया कि एयरपोर्ट निदेशक भूपेश नेगी ने सूचना दी थी कोलकाता, मुंबई, पुणे आदि शहरों के लिए जाने वाले जिन विमान यात्रियों के पास आरटीपीसीआर रिपोर्ट निगेटिव नहीं रहती थी, उसे हवाई यात्रा करने से रोक दिया जाता था। लेकिन ऐसे यात्री एक घंटे में ही निगेटिव आरटीपीसीआर रिपोर्ट लेकर आ जाते थे।

खबरें और भी हैं...