• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Raj Ballabh Yadav Treatment In IGIMS; Rajballabh Welcome By Supporter In Patna; Bihar Bhaskar Latest News

रेप के दोषी पूर्व विधायक का IGIMS में दिखा जलवा:राजबल्लभ यादव ने मेडिकल जांच के बहाने लगाई चौपाल, समर्थकों ने किया जबरदस्त स्वागत

पटना2 महीने पहले
अस्पताल से ले जाने के दौरान पूर्व विधायक के समर्थकों की भीड़।

क्लॉस 9 की नाबालिग छात्रा से दुष्कर्म करने वाले नवादा के पूर्व विधायक राजबल्लभ जेल में जाने के बाद भी मनोबल नहीं टूटा है। जेल से भी उसका सिक्का चल रहा है। इसका नजारा सोमवार को इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान में दिखा है। अस्पताल आने का बहाना तो मेडिकल चेकअप का था लेकिन यहां पूर्व विधायक की क्षेत्र के लोगों के साथ चौपाल लगी है।

सुरक्षा में लगे पुलिस कर्मियों के साथ क्षेत्र के लोग भी अधिक संख्या में आव भगत में दिखाई दिए। खाना-पीना तो हुआ ही क्षेत्र के लोगों के साथ खूब मंथन भी हुआ। इस दौरान पूर्व विधायक की पत्नी विभाग देवी के साथ क्षेत्र के कई नेता भी मौजूद रहे।

जानिए कौन है राजबल्लभ यादव

नवादा में साल 2016 में क्लास 9 की नाबालिग छात्रा से दुष्कर्म की घटना हुई। आरोप राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के विधायक राजबल्लभ यादव पर लगा। विधायक पर आरोप लगने के बाद राजद से निलंबित कर दिया गया था। पूर्व विधायक राजबल्लभ यादव को न्यायालय ने उम्रकैद की सजा सुनाई और 50 हजार का जुर्माना भी लगाया। राजद के पूर्व विधायक पर सबूत में छेड़छाड़ करने के साथ कई गंभीर आरोप लगका है।

पटना के तत्कालीन डीआईजी शालीन ने इस मामले में काफी सख्ती दिखाई थी और जांच में राजबल्लभ का कोई प्रभाव नहीं दिखा। इस पर सबूत खूब कलेक्ट किया गया और फोरेंसिक जांच में भी कई सबूत जांच के लिए भेजे गए थे। ठोस सबूत के आधार पर न्यायालय ने उसे राजबल्लभ यादव को उम्र कैद की सजा सुनाई।

अस्पताल में पुलिस कर्मियों ने कर दिया आजार

इंदिरा गांधी आयुर्विज्ञान संस्थान में पहुंचते ही पूर्व विधायक राज बल्लभ यादव की सुरक्षा में लगे पुलिस कर्मियों ने उन्हें आजाद कर दिया। पुलिस के जवान राज बल्लभ से कुछ दूरी पर खड़े हाे गए। राज बल्लभ IGIMS में जेनरेट कक्ष के पास पहुंच गया। वहां पहले से मौजूद नवादा की विधायक राज बल्लभ की पत्नी विभा देवी मौजूद थी। विभाग देवी के साथ एक दर्जन से अधिक क्षेत्र के लोग मौजूद थे।

पुलिस वालाें से दूर जाकर जेनरेट कक्ष के पास राज बल्लभ ने खाना पीना खाया और फिर काफी देर तक पत्नी व क्षेत्र के लोगों के साथ मंथन किया। इस दौरान हर कोई हाथ में कुछ न कुछ लाया था जो राज बल्लभ को दिया। पुलिस वालों ने भी खाया और सजायाफ्तार कैदी को लेकर जारी प्रोटोकॉल का पालन नहीं किया। पुलिस कर्मियों की मनमानी बिहार पुलिस की सजायाफ्ता के साथ किए जा रहे आवभगत की पोल खोलने वाली है।

खबरें और भी हैं...