पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

बजट में बिहार को ये मिला:रविशंकर बोले- वन नेशन वन राशन कार्ड से प्रवासी मजदूरों को मिलेगी बड़ी राहत

पटनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
केंद्रीय मंत्री ने कहा- कोरोना वैक्सीन में जितना भी रुपया लगेगा सरकार देगी, रेल बजट में बिहार को 5150 करोड़। - Dainik Bhaskar
केंद्रीय मंत्री ने कहा- कोरोना वैक्सीन में जितना भी रुपया लगेगा सरकार देगी, रेल बजट में बिहार को 5150 करोड़।
  • केंद्रीय बजट के बारे में केंद्रीय आईटी मंत्री ने विस्तार से बताया

केंद्रीय आईटी व कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद ने कहा कि रेलवे बजट में बिहार को 5150 करोड़ रुपया मिला है। यह 2009-14 की तुलना में 355% ज्यादा है। ‘वन नेशन वन राशन कार्ड’ से प्रवासी मजदूरों को बड़ी राहत मिलेगी। जमीन मालिकों को डिजिटल ओनरशिप कार्ड मिलेगा। वे शनिवार को यहां संवाददाताओं से बात कर रहे थे।

उन्होंने केंद्रीय बजट के बारे में विस्तार से बताया। उन्होंने बजट की पंचलाइन बताई- ‘स्वस्थ, स्वच्छ, संकल्पित एवं सुरक्षित भारत।’ इससे जुड़े सभी पहलुओं की चर्चा की। बजट को ऐतिहासिक बताते हुए कोरोना काल के दौरान केंद्र सरकार के 27 लाख करोड़ रुपए के पैकेज और इसके तहत लोगों को दिए गए अनाज, रसोई गैस तथा खातों में भेजी गई सहायता राशि की जानकारी दी।

कहा- बजट में स्वास्थ्य प्रक्षेत्र के लिए 2.38 करोड़ रुपये का इंतजाम है। यह पिछली बार से 137 फीसदी अधिक है। कोरोना वैक्सीन के लिए 35 हजार करोड़ रुपये का प्रावधान है और सरकार ने यह भी कहा है कि इसके लिए जितना भी रुपया लगेगा, दिया जाएगा। जल जीवन मिशन के लिए 2.87 लाख करोड़ रुपए, स्वच्छ भारत के लिए 1.39 लाख करोड़ रुपए, कृषि ऋण के लिए 16 लाख 5 हजार करोड़ रुपए की व्यवस्था है।

1000 ई-मंडी खुलेगी और 1 करोड़ लोगों को उज्जवला योजना से जोड़ा जाएगा। टी गार्डेन में काम करने वाली महिलाओं के लिए 1000 करोड़ की योजना है। इस काम में बिहार, झारखंड की महिलाएं भी शामिल हैं। 5 लाख 54 हजार करोड़ का कैपिटल बजट है। इंटरनेट की सामग्री हिन्दी तथा प्रमुख स्थानीय भाषाओं में भी होगी।

स्वास्थ्य, इन्फ्रास्ट्रक्चर व आर्थिक सुधार पर है फोकस: सुशील मोदी

पूर्व उपमुख्यमंत्री व सांसद सुशील कुमार मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार ने कोरोना के कारण राजस्व संग्रह में 5 लाख करोड़ की कमी के बावजूद कर में किसी प्रकार की वृद्धि नहीं की है। वित्तीय वर्ष 2021-22 के केंद्रीय बजट में स्वास्थ्य क्षेत्र, इन्फ्रास्ट्रक्चर निर्माण और आर्थिक सुधार पर फोकस किया गया है।

स्वास्थ्य क्षेत्र के बजट में 2020-21 की तुलना में 137 फीसदी की वृद्धि गई है। पूर्व उपमुख्यमंत्री बिहार चैंबर ऑफ कॉमर्स और आईसीएसआई के पटना चैप्टर द्वारा आयोजित ‘पोस्ट बजट सेमिनार’ को संबोधित कर रहे थे। मौके पर चैंबर के प्रेसिडेंट पीके अग्रवाल, रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज हिमांशु शेखर और आईसीएसआई के पटना चैप्टर के अध्यक्ष पूजा कसेरी आदि उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आर्थिक योजनाओं को फलीभूत करने का उचित समय है। पूरे आत्मविश्वास के साथ अपनी क्षमता अनुसार काम करें। भूमि संबंधी खरीद-फरोख्त का काम संपन्न हो सकता है। विद्यार्थियों की करियर संबंधी किसी समस्...

    और पढ़ें