पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Raw Drains Being Constructed By Marking Water Logging Places Where It Is Not Possible To Install Pumps

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कोशिश:जलजमाव वाली जगह जहां पंप लगाना संभव नहीं, उन्हें चिह्नित कर बनाए जा रहे कच्चे नाले

पटना10 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बारिश के बाद लोगों की परेशानी कम करने की कवायद, बेउर में पुराने नालाें काे अस्तित्व में लाने की तैयारी
  • निगम का दावा-160 मिमी बारिश होने पर भी 18 घंटे के भीतर निकलेगा पानी

बारिश के बाद लोगों को जलजमाव से मुक्ति दिलाने के लिए नए नाले बनाए जा रहे हैं। बारिश के पानी को निकालने के लिए हर स्थान पर पंप लगाना संभव नहीं है। अभी तक पटना शहर में एक दिन में 100 मिलीमीटर की बारिश नहीं हुई है। इसके बाद भी जलजमाव की समस्या से लोगों को जूझना पड़ा है। इसको देखते हुए ऐसे प्वाइंट चिह्नित किए गए हैं, जहां तेज बारिश के बाद जलजमाव होता है।

उन स्थानों पर पहले के जलनिकासी ड्रेन की जानकारी ली जा रही है और उसे एकबार फिर जीवित करने की रणनीति पर काम शुरू कर दिया गया है, ताकि लोगों को जलजमाव की समस्या का सामना न करना पड़े। नगर आयुक्त हिमांशु शर्मा का कहना है कि अगर एक दिन में 150 से 160 मिलीमीटर तक बारिश हो जाती है तो 15 से 18 घंटे के भीतर उस पानी को ड्रेन आउट करा दिया जाएगा। इन तमाम दावों के बीच वे इलाके महत्वपूर्ण हो जाते हैं, जहां पर अभी तक पानी निकालने की लाइन ही नहीं बनाई गई है।

ऐसे इलाकों से पानी निकालना मुश्किल हो गया है। हल्की बारिश के बाद भी जलजमाव का संकट उत्पन्न होता है और जमा पानी तब तक नहीं निकलता है, जब तक उसे पंप से न निकाला जाए। ऐसे इलाकों को अब नाला के जरिए कनेक्ट करने की योजना पर काम शुरू कर दिया गया है। बेउर मोड़ से मेन रोड में लगातार जलजमाव के मामले सामने आ रहे हैं। हरनीचक की तरफ से आने वाले पानी के कच्चे नाला का महावीर कॉलोनी की तरफ के नाला का कनेक्शन टूट गया है।

इससे पानी निकालने में मुश्किल हो रही थी। अब इस नाला की उड़ाही कराई गई है। लॉकडाउन के कारण गाड़ियों की कम संख्या के कारण मुख्य सड़क को खोदकर उसमें ह्यूम पाइप डालने में कामयाबी मिली है। इससे पानी का बहाव सही हो सकेगा और इस पूरे इलाके में होने वाले जलजमाव को दूर करने में सहायता मिलेगी। स्थानीय लोगों ने बताया कि नमामि गंगे प्रोजेक्ट के कारण यहां का नाला भर गया।

पाटलिपुत्र में भी नालों को किया जा रहा कनेक्ट
पाटलिपुत्र कॉलोनी व आसपास के इलाकों में जलजमाव का मामला पिछले कुछ समय में काफी गरमाया हुआ है। यहां कच्चे नाले का जाल बिछा है, लेकिन बारिश होते ही सड़क पर पानी बहना शुरू हो जाता है। इससे निजात के लिए निगम ने कच्चा नाला को कनेक्ट कर पानी को एक स्थान पर पहुंचाने की योजना तैयार की है। पीएंडएम मॉल के सामने मैदान में पानी को लाकर उसे कुर्जी नाला तक पहुंचाने की कवायद शुरू कर दी गई है। वहां पर पंप लगाए जाने से उम्मीद की जा रही है कि अब बारिश तेज होने पर लंबे समय तक लोगों को जलजमाव जैसी स्थिति का सामना न करना पड़े। वहीं, पटेल नगर में नाला से पानी निकलने की शिकायतों के बाद मैनहोल का ढक्कन खोलकर ड्रेन लाइन के जाम को हटाने की कवायद शुरू की गई है।
शिवाजी नगर में लोगों का घर से निकलना मुश्किल
शिवाजी नगर में घरों से निकलना दूभर हो गया है। मुख्य सड़क की कटाई नमामि गंगे प्रोजेक्ट के तहत बिछाई जा रही सीवरेज लाइन के लिए की गई है। इससे पानी निकालने की पहले की लाइन क्षतिग्रस्त हो चुकी है। रोड नंबर एक की हालत काफी खराब है। जलजमाव का सामना लोगों को करना पड़ रहा है। स्थानीय विनोद कुमार व रंजन ने बताया कि यहां पर हर बार पानी लग जाता है। इसकी शिकायत निगम से भी की गई, लेकिन अब तक कोई उपाय नहीं हो पाया है। श्रीकृष्ण विहार कॉलोनी तक जाने वाली सड़क का हाल बुरा है। सोमवार को हुई हल्की बारिश ने ही एकबार फिर इस पूरे इलाके में पानी भर गया है। कुशवाहा चौक से बीडी पब्लिक स्कूल से आगे तक सड़क की हालत खस्ता है। बतौरा रोड की स्थिति भी फिर खराब हो गई है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- व्यक्तिगत तथा व्यवहारिक गतिविधियों में बेहतरीन व्यवस्था बनी रहेगी। नई-नई जानकारियां हासिल करने में भी उचित समय व्यतीत होगा। अपने मनपसंद कार्यों में कुछ समय व्यतीत करने से मन प्रफुल्लित रहेगा ...

    और पढ़ें