बेटी ने शुरू की नई मुहिम:लोगों को खानपान के प्रति जागरूक कर रहीं ऋचा

पटना15 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

नाम- ऋचा रंजन। पढ़ाई- आईआईटी रुड़की से बीटेक। नौकरी- अमेरिका की एक इंवेस्टमेंट बैंकिंग कंपनी में वाइस प्रेसिडेंट। कमाई- लाखों का पैकेज। इस मुकाम तक पहुंचना किसी भी युवा का सपना हो सकता है। कुछ ही इस उंचाई को छू पाते हैं। लेकिन दिलचस्प यह है कि इतना सबकुछ हासिल करने के बाद ऋचा ने इंसानी जिंदगी की खातिर अपना पूरा मिशन ही बदल लिया है। बिहार की बेटी ऋचा ने लोगों के खानपान में बदलाव लाने के लिए एक मुहिम शुरू कर दी है।

वे लोगों को ऐसे अनाज की खेती करने और भोजन में शामिल करने के लिए प्रेरित कर रही हैं जिसका सीधा सरोकार लोगों के स्वास्थ्य से है। उनका मसकद लोगों और किसानों को पुरानी खेती और अनाजों को उपजाने के लिए प्रेरित करना है। दरअसल इन सब के पीछे उनका तर्क है कि लोगों में लगातार बढ़ रहीं बीमारियों की मूल वजह उनका खानपान ही है। खेती में केमिकल का प्रयोग। सब्जी को उपजाने में कीटनाशक का प्रयोग। और इसका सीधा असर लोगों के स्वास्थ्य पर होना लाजिमी है।

ऋचा कहती हैं कि मेरा प्रयास हैं कि लोग खानपान को लेकर जागरूक हों। क्योंकि जैसा अन्न वैसा मन। पेस्टिसाइड और केमिकल का प्रभाव है कि वैशाली जिले के एक गांव में एक ही परिवार के 50 लोग कैंसर से पीड़ित हो गए। इसमें बदलाव कर ही हम भविष्य को बचा सकते हैं। ऋचा ने ऑनलाइन प्लेटफाॅर्म शुरू किया है।

खबरें और भी हैं...