विवादित बयानों से सुर्खियों में रहे हैं भाई बीरेंद्र:CM को कहा था- सरकार गिरने वाली है, खाना पड़ेगा सल्फास, कभी स्पीकर की कुर्सी पर बैठ गए

पटना7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
भाई बीरेंद्र, विधायक, राजद। - Dainik Bhaskar
भाई बीरेंद्र, विधायक, राजद।

बिहार विधानसभा का शीतकालीन सत्र चल रहा है। सत्र के दूसरे दिन यहां जनता के मुद्दों पर बहस शुरू होती, इसके पहले ही मंगलवार को विधानसभा परिसर में दो विधायक आपस में भिड़ गए । तू-तू तड़ाक से निकली ये बात पहले जूते-चप्पल चलाने तक पहुंची और फिर गालीगलौज तक शुरू हो गई।

भाजपा के विधायक संजय सरावगी और राजद के विधायक भाई बीरेंद्र के बीच हुई इस बहस में भाई बीरेंद्र अभद्र टिप्पणियां करने में आगे दिखे। लेकिन, यह पहला मौका नहीं है, जब भाई बीरेंद्र ने सार्वजनिक तौर पर किसी नेता के खिलाफ अभद्र टिप्पणियां की हो।

विवादित बोल बोलने में वीर हैं भाई बीरेंद्र
भाई बीरेंद्र राजद के प्रवक्ताओं कि लिस्ट में सबसे टॉप है । 5 महीने राजद ने 19 प्रदेश प्रवक्ताओं की लिस्ट जारी की थी उसमें भाई बीरेंद्र एक मात्र नेता हैं जो मुख्य प्रवक्ता का पद पा सकें हैं। बाकी सभी नेताओं को प्रवक्ता पद मिला है। अब जरा जान लीजिए कि वो कौन से बयान हैं जिसनें राजद के 75 विधायकों में शामिल भाई बीरेंद्र को राजद का टॉप प्रवक्ता बनाया है। 22 फरवरी 2018 को उन्होंने ने मीडिया के सामने कहा , नीतीश कुमार की सरकार जल्द गिरने वाली है और उन्हें सल्फास की गोली खानी पड़ेगी।

22 सितंबर 2019 भाई उन्होंने सीएम नीतीश कुमार की तुलना भारत को 17 बार लूटने वाले महमूद गजनवी से करते हुए कहा कि नीतीश कुमार गजनवी की तरह बिहार को लूट रहे हैं। नवंबर 2020 भाई बीरेंद्र ने नीतीश कुमार पर कहा- सीएम नहीं पैदा कर पाए तेजस्वी जैसा लाल, कौन होगा पार्टी का खेवनहार।

मार्च 2021 में बजट सत्र के दौरान भाई बीरेंद्र ने स्पीकर की कुर्सी पर बैठ अध्यक्ष बन बैठे और पुलिस बिल अधिनियम 2021 पर वोटिंग करा दी। 30 नवंबर 2021 शीतकालीन सत्र के दौरान उन्होंने भाजपा विधायक संजय सरावगी के लिए मिलावटी पैदाइश जैसे शब्द का इस्तेमाल किया ।

डेयरी का व्यवसाय करने वाले भाई बीरेंद्र हथियारों के हैं शौकीन
भाई बीरेंद्र राजद के पुराने विधायकों में से एक हैं। उनकी उम्र 59 है। चुनावी शपथपत्र के मुताबिक को वो कृषि और डेयरी का व्यवसाय करते हैं। अजब बात ये है कि डेयरी का व्यवसाय करने वाले विधायक हथियार के शौकीन हैं। उनके पास 2 लायसेंसी राइफल और रिवॉल्वर है। साल 2017 में उनके ऊपर अवैध बालू खनन में संलिप्त होने के आरोप लगे थे। तब विधायक के भतीजे के ठिकानों पर रेड मारी गई थी, जिसमें सैकड़ों की संख्या में बालू खनन में लगे ट्रैक्टर और पोकलेन मशीन को जब्त किया गया था। मनेर के विधायक भाई बीरेंद्र पर मनेर थाना में तीन, बिहटा थाना में दो, कोतवाली थाना में दो और सचिवालय थाना में एक मामले आपराधिक मामला दर्ज है ।