कंकड़बाग थाने में केस दर्ज, भेजा गया जेल:सरपंच कर रहा था शराब का धंधा, दाेस्त के साथ गिरफ्तार

पटना10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
आरोपियों की फाइल फोटो। - Dainik Bhaskar
आरोपियों की फाइल फोटो।

दरभंगा के कुशेश्वर स्थान के सरपंच दयानंद प्रसाद को शराब तस्करी के मामले में शनिवार को गिरफ्तार किया गया। पत्रकार नगर और कंकड़बाग थाने की पुलिस ने यह कार्रवाई की है।

सरपंच दयानंद के दोस्त वैशाली के अमित को भी पुलिस ने गिरफ्तार किया है। इनके पास से पुलिस ने 79 बोतल विदेशी शराब बरामद की और एक कार भी जब्त की है। दाेनाें के खिलाफ कंकड़बाग थाने में केस दर्ज किया गया है।

दोनों को जेल भेज दिया गया। कंकड़बाग थानेदार रविशंकर सिंह ने गिरफ्तारी की पुष्टि की। दरअसल, कंकड़बाग इलाके में दोनों थानाें की पुलिस जांच कर रही थी। इसी दाैरान पुलिस ने सरपंच की कार को रोका। सरपंच जांच से बचने के लिए पुलिस को धौंस दिखाने लगा। इसके बावजूद ने पुलिस कार की तलाशी ली ताे तीन बोतल शराब बरामद की गई।

इसके बाद सरपंच और उसके दोस्त को थाने ले आया गया। दोनों से पूछताछ के बाद सरपंच के पोस्टल पार्क स्थित किराया के घर पर छापेमारी की गई। वहां 76 बोतल शराब मिली। सरपंच ने पुलिस को बताया कि वह अमित के जरिए झारखंड और यूपी से शराब मंगवाता था और पटना में होम डिलिवरी करवाता था। पुलिस सरपंच की निशानदेही पर छापेमारी कर रही है।

एयरपोर्ट क्षेत्र में खरीदा प्लॉट
गिरफ्तार सरपंच दयानंद पुराना शराब तस्कर है। 2018 और 2020 में जक्कनपुर थाने की पुलिस ने दयानंद की दो कार को शराब के साथ जब्त की थी। वहीं 2019 में हाजीपुर सदर थाना में भी उसकी कार जब्त की गई थी। वहीं अररिया के एक थाना में बीते जून महीने में सरपंच की एक कार जब्त की गई थी।

दयानंद कई जिलों में शराब का धंधा करता है। शराब के धंधे से सरपंच करोड़ों की संपत्ति अर्जित कर चुका है। दयानंद और अमित दरभंगा, हाजीपुर और पटना में संपत्ति अर्जित की है। पुलिस की माने तो हाल ही में दयानंद ने एयरपोर्ट इलाके में घर बनाने के लिए करोड़ों का एक प्लॉट खरीदा है।

खबरें और भी हैं...