पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Shocked By The Speaker's Decision, The Election Commission Has Already Reached The Election Commission, The Post Of The Leader Of The Parliamentary Party Has Gone, The Party Should Not Go Anywhere.

चिराग और पारस ने आयोग का खटखटाया दरवाजा:स्पीकर के फैसले से सहमे चिराग पहले ही पहुंच गए चुनाव आयोग, संसदीय दल के नेता का पद गया, कहीं पार्टी न चली जाए

पटनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
चुनाव आयोग के समक्ष चिराग पासवान ने लोजपा पर स्वामित्व की अपनी दावेदारी पेश की। - Dainik Bhaskar
चुनाव आयोग के समक्ष चिराग पासवान ने लोजपा पर स्वामित्व की अपनी दावेदारी पेश की।

लोजपा की लड़ाई शुक्रवार को चुनाव आयोग पहुंच गई। आयोग के समक्ष चिराग पासवान ने लोजपा पर स्वामित्व की अपनी दावेदारी पेश की। वहीं पशुपति कुमार पारस की लोजपा ने भी अपना दावा ठोक दिया है। गुरुवार को दोनों ओर से आनन-फानन में पार्टी पर दावेदारी को लेकर आयोग का दरवाजा खटखटाया गया। पहले चिराग अपनी टीम के साथ आयोग पहुंचे फिर पारस की ओर से पांच सदस्यीय टीम पहुंची।

आयोग को सौंपे ज्ञापन में चिराग ने पारस की दावेदारी खारिज कर दी है। बाद में पत्रकारों से बात करते हुए चिराग ने कहा कि 2019 में राष्ट्रीय कार्यकारिणी ने उन्हें राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाया था और पांच साल के लिए यह जिम्मेवारी सौंपी। पूरी प्रक्रिया का पालन किया गया है। लिहाजा बीच में कोई कैसे बदलाव कर सकता है।

चिराग ने कहा कि उन्होंने आयोग से अनुरोध किया है कि वे किसी और दावे पर विचार न करें। यदि कोई दूसरा दावा करता है और आयोग को कोई निर्णय लेना ही है तो वे हमें भी अपनी बात कहने का अवसर दें। लोकसभा अध्यक्ष ने बगैर उनकी बात सुने निर्णय ले लिया, इसी आशंका से वे आयोग पहुंचे कि कहीं यहां भी उसी तरह न हो जाए।

पारस ने कार्यकारिणी बैठक का हवाला दे ठोका दावा
उधर, पारस की ओर से तीन नेताओं ने दो वकीलों के साथ चुनाव आयोग में दावेदारी पेश की। इन नेताओं ने पटना में 17 जून को राष्ट्रीय कार्यकारिणी की बैठक का हवाला देते हुए पारस को राष्ट्रीय अध्यक्ष बताया। उन्होंने बैठक के आधार पर पारस को अध्यक्ष के रुप में मान्यता देने का अनुरोध किया। प्रवक्ता ललन चंद्रवंशी ने कहा कि आयोग के समक्ष हमने अपनी बात रख दी है।

खबरें और भी हैं...