पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Son In Law Hired Contract Killers For Retired Bank Staff Murder At Patna Bakhtiyarpur NH 30 In Fatuha

दामाद ने कराई ससुर की हत्या:रिटायर्ड बैंक कर्मचारी को दूसरे की जमीन दिखा ठग लिए 50 लाख, रजिस्ट्री का दबाव पड़ा तो सुपारी किलर से मरवा दिया

पटनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
ग्रामीण SP कांतेश कुमार मिश्रा के साथ पुलिस गिरफ्त में आए सभी आरोपी। - Dainik Bhaskar
ग्रामीण SP कांतेश कुमार मिश्रा के साथ पुलिस गिरफ्त में आए सभी आरोपी।

रिटायर्ड बैंक कर्मचारी शैलेंद्र कुमार की हत्या उनके दामाद पवन ने 50 लाख रुपए हड़पने के लिए कराई थी। यह खुलासा बुधवार को पटना पुलिस ने किया है। शैलेंद्र कुमार का दामाद पवन मूल रूप से नालंदा जिले के उतरथू गांव का रहने वाला है। लेकिन, परिवार के साथ पटना के भागवत नगर में रह रहा था। पवन को पता था कि फरवरी में ससुर रिटायर हुए हैं और उनके पास रिटायरमेंट में मिली मोटी रकम है। वह बेटे के नाम पर जमीन खरीदना चाहते हैं। इसे देखते हुए रुपए ठगने का उसने शातिराना प्लान बनाया।

बिहार शरीफ में एक शॉपिंग मॉल के पास की खाली पड़ी दूसरे की जमीन को दिखाया। पवन खुद मीडिएटर बन गया। उसने अपने ससुर को जमीन मालिक से मिलवाया भी नहीं था, लेकिन पैसा ले लिया था। शैलेंद्र कुमार के दो बेटे हैं। बड़ा बेटा दिमागी तौर पर कमजोर है। इसका फायदा उठाते हुए पवन ने बड़े बेटे की पत्नी निभा से ही दूसरी शादी भी कर ली थी। इसके बाद भी शैलेंद्र अपने बड़े बेटे के नाम से जमीन खरीदना चाहते थे। इस बात का भी पवन ने फायदा उठाया।

23 लाख रुपए कर चुका है निवेश

उसने जमीन के नाम पर 50 लाख रुपए अपने ससुर से ठग लिए थे। इसमें से करीब 23 लाख रुपए उसने किसी कंपनी में निवेश भी कर दिए। हत्या से कुछ दिन पहले ही शैलेंद्र ने जमीन की रजिस्ट्री के लिए दबाव बनाया। वो रुपए दे चुके थे, इस कारण जल्द से जल्द जमीन की रजिस्ट्री कराना चाहते थे। इस दबाव को पवन झेल नहीं पा रहा था। उसे डर था कि कहीं उसका फर्जीवाड़ा सामने न आ जाए।

इसलिए उसने अपने भाई टिंकू कुमार के साथ मिलकर साजिश रची। इसमें शैलेंद्र की बड़ी बहु रही निभा की भी भूमिका थी। वह पवन से दूसरी शादी कर चुकी है। उसने भी अहम रोल निभाया। भाई की मदद से पवन ने कंकड़बाग के अशोक नगर रोड नंबर 4 के रहने वाले शूटर अमर कुमार को हायर किया था। सुपारी एक लाख रुपए में दी थी। इसमें शूटर को 40 हजार रुपए एडवांस दिए गए थे। हत्या के वक्त पवन का भाई टिंकू बाइक चला रहा था और शूटर अमर पीछे बैठा था।

5 जून को हुई थी हत्या

5 जून की सुबह बाइक सवार अपराधियों ने नेशनल हाइवे-30 पर कार से पटना आ रहे शैलेंद कुमार की गोली मारकर हत्या कर दी थी। शैलेंद्र को 4 गोलियां लगी थीं। जबकि, एक गोली कार चला रहे ड्राइवर को भी लगी। इस वारदात को फतुहा थाना क्षेत्र में अंजाम दिया गया था।

पटना पुलिस की टीम वारदात के बाद से ही अपराधियों की पहचान और इसकी प्लानिंग करने वालों की तलाश में जुट गई थी। इस केस को सुलझाने में कुल 4 दिनों को वक्त लगा। ग्रामीण SP कांतेश कुमार मिश्रा ने बताया कि पुलिस ने सभी चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है। इनके पास से उस पिस्टल को भी बरामद किर लिया गया है, जिससे शैलेंद्र कुमार के ऊपर गोली चलाई गई थी। पिस्टल को जांच के लिए FSL भेजा जाएगा। जबकि, जांच के साथ अपराधियों को पकड़ने के लिए फतुहा थानेदार मनोज कुमार सिंह सहित बनाई गई स्पेशल टीम अफसरों और जवानों को पुरस्कृत भी किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...