पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ईवीएम की व्यवस्था:पंचायत चुनाव के लिए फिर से ईवीएम की तैयारी में जुटा राज्य चुनाव आयोग

पटनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सितंबर-अक्टूबर में संभावित है चुनाव, 7-8 लाख ईवीएम की होगी जरूरत

ईवीएम के चक्कर में एक बार समय पर पंचायत चुनाव नहीं करा पाने के कारण आयोग अब दूसरी बार नहीं चूकना चाहता। लिहाजा, सितंबर-अक्टूबर में संभावित पंचायत चुनाव के लिए वह फिर से ईवीएम की व्यवस्था की तैयारियों में जुट गया है। सूत्रों के अनुसार दूसरे राज्यों से ईवीएम मंगाने की तैयारी हो रही है। पंचायत चुनाव के मद्देनजर ईवीएम की उपलब्धता के लिए राज्य निर्वाचन आयोग ने पिछले दिनों 24 राज्यों के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारियों को पत्र लिखा है। साथ ही 14 राज्य निर्वाचन आयोगों को भी पत्र लिखा गया है।

केंद्रीय निर्वाचन आयोग ने पंचायत चुनाव के लिए राज्य निर्वाचन आयोग को ईवीएम आवंटित कर दिया है, लेकिन ईवीएम को दूसरे राज्यों से बिहार लाना होगा। जिन राज्यों में ईवीएम पड़ी हैं, उन राज्यों के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारियों से राज्य निर्वाचन आयोग अब संपर्क कर रहा है। राज्य निर्वाचन आयोग के सूत्रों के अनुसार सभी मुख्य निर्वाचन पदाधिकारियों एवं राज्य निर्वाचन आयोगों को ईवीएम उपलब्ध कराने के लिए पत्र भेजा जा चुका

है। ईवीएम को लेकर केंद्रीय और राज्य निर्वाचन आयोग के बीच पिछले दिनों दिल्ली में हुई बैठक के दौरान बिहार ने सात से आठ लाख ईवीएम की आवश्यकता जताई थी। आयोग के अधिकारियों का कहना है कि बिहार ने अपनी जरूरत के हिसाब से ईवीएम की मांग की है। अब कोशिश है कि समय पर ईवीएम मंगा ली जाए, ताकि आने वाले दिनों में चुनाव कराने में कठिनाई न हो।

चुनाव में पहली बार ईवीएम का हाेगा इस्तेमाल
गौरतलब है कि बिहार में पहली बार ईवीएम से पंचायत का चुनाव होना है। इसके लिए केंद्रीय और राज्य निर्वाचन आयोग के बीच सिंगल पोस्ट ईवीएम को लेकर सहमति बन गई है। ईवीएम की अनुपलब्धता के कारण ही बिहार में पंचायत का चुनाव समय पर नहीं हो पाया और राज्य सरकार को पंचायतों के संचालन के लिए परामर्शी समिति का गठन करना पड़ा। बिहार में लगभग 2 लाख 58 हजार पदों के लिए पंचायत का चुनाव होना है। बरसात के बाद राज्य में पंचायत चुनाव की गतिविधियां तेज होंगी।

खबरें और भी हैं...