• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Stick To Its Demand For Special Status To Bihar; All Party Meeting Will Be Held Again On Caste Based Census

जाति आधारित जनगणना:सीएम नीतीश ने कहा- दिल्ली में तो हमने अपनी बात रख दी है; यहां हम सर्वदलीय बैठक बुलाएंगे, बात करेंगे, फिर आगे निर्णय लेंगे

पटना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बिहार विधान परिषद की नवनिर्वाचित सदस्य रोजीना नाजिश ने बुधवार को शपथ ली। इस दौरान सीएम भी मौजूद रहे हैं। - Dainik Bhaskar
बिहार विधान परिषद की नवनिर्वाचित सदस्य रोजीना नाजिश ने बुधवार को शपथ ली। इस दौरान सीएम भी मौजूद रहे हैं।

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने स्पष्ट कर दिया है कि बिहार विशेष दर्जे की अपनी मांग पर कायम है। हमने विशेष राज्य के दर्जे की मांग की थी आगे भी करेंगे। हमने अपनी मांग नहीं छोड़ी है। केंद्र सरकार को इस पर निर्णय लेना है। विशेष राज्य के मुद्दे पर केंद्र सरकार ने एक कमिटी भी गठित की थी। लेकिन जो भी निर्णय लेना है वो भारत सरकार को लेना है। जहां गरीबी है, वहां सहायता देने का प्रावधान है। पर, हमारी मांग आगे भी जारी रहेगी।

विशेष दर्जा की मांग छोड़ने के सवाल पर कहा कि मंत्री विजेन्द्र यादव ने अपनी बात कही है। उन्होंने कहा था कि विशेष राज्य की बार-बार मांग करते-करते थक गए हैं। इसलिए अब विशेष सहायता की मांग करेंगे। मुख्यमंत्री बुधवार को विधानमंडल परिसर में पत्रकारों से बात कर रहे थे। जाति आधारित जनगणना पर नीतीश ने कहा कि दिल्ली में तो हमने अपनी बात रख दी है। यहां हम सर्वदलीय बैठक बुलाएंगे। आपस में बात करेंगे। उसके बाद आगे का निर्णय लेंगे।

विप की नवनिर्वाचित सदस्य रोजीना नाजिश ने ली शपथ
बिहार विधान परिषद की नवनिर्वाचित सदस्य रोजीना नाजिश ने बुधवार को शपथ ली। विधान परिषद के सभापति कक्ष में कार्यकारी सभापति अवधेश नारायण सिंह ने एनडीए की निर्वाचित उम्मीदवार रोजीना का शपथ ग्रहण कराया। शपथ ग्रहण समारोह में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, उप मुख्यमंत्री तारकेश्वर प्रसाद भी मौजूद थे।

तेजस्वी की चिट्ठी मिलने से किया इनकार, कहा- मीडिया में ही देते हैं
तेजस्वी द्वारा बाढ़ के मुद्दे पर लिखे गए पत्र के संदर्भ में पूछे जाने पर उन्होंने पत्र मिलने की बात को खारिज कर दिया। कहा कि हमें तो कोई पत्र नहीं मिला है। वो सिर्फ मीडिया में पत्र लिखते हैं। नीतीश ने कहा कि बाढ़ को लेकर हमने कितना काम किया है, यह कहने वाली बात है।

बाढ़ प्रभावित इलाकों में अब तक कोरोना का एक भी केस नहीं मिला
बाढ़ प्रभावित इलाके से लोगों को सुरक्षित निकालना और उनके लिए राहत शिविर चलाना, ये सभी काम सरकार ने पूरी तत्परता से किया है। बाढ़ प्रभावित इलाकों में कोरोना टेस्ट भी किया गया है। अभी तक एक भी कोरोना पॉजिटिव नहीं मिले हैं। टीकाकरण भी हो रहा है।

खबरें और भी हैं...