पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Strict Action Will Be Taken Against Candidates Who Make Personal Attacks On Opponents In Panchayat Elections

आयोग का निर्देश:पंचायत चुनाव में विरोधियों पर निजी हमले करने वाले प्रत्याशियों पर होगी सख्त कार्रवाई

पटना7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
धर्म-जाति के नाम पर वोट मांगा तो होगा आचार संहिता का उल्लंघन - Dainik Bhaskar
धर्म-जाति के नाम पर वोट मांगा तो होगा आचार संहिता का उल्लंघन

पंचायत चुनाव लड़ने वाले प्रत्याशियों पर राज्य निर्वाचन आयोग की खास नजर रहेगी। आयोग ने ऐसे भावी प्रत्याशियों को आगाह कर दिया है कि वोट पाने के लिए धार्मिक, सामप्रदायिक, जातीय या भाषायी भावनाओं का सहारा लिया तो खैर नहीं। यह भी कहा गया है कि कोई भी उम्मीदवार किसी धर्म, सम्प्रदाय या जाति के लोगों की भावना को ठेस पहुंचाएगा तो उसे आदर्श आचार संहिता का उल्लंघन माना जाएगा।

पंचायत चुनाव के मद्देनजर आयोग ने प्रत्याशियों के लिए भी आदर्श आचार संहिता से संबंधित दिशा-निर्देश जारी कर दिया है। चुनाव की अधिसूचना के साथ ही यह प्रभावी हो जाएगा। चुनाव के दौरान किसी प्रत्याशी के व्यक्तिगत जीवन के ऐसे पहलुओं की भी आलोचना पर रोक रहेगी, जिनका संबंध उसके सार्वजनिक जीवन या क्रियाकलापों से नहीं होगा। ऐसे आरोप भी नहीं लगाए जाएंगे, जिनकी सत्यता स्थापित न हुई हो। आलोचना प्रत्याशी की नीति, कार्यक्रम, पूर्व इतिहास और कार्य तक सीमित होगी।

किसी राजनीतिक दल के झंडे की आड़ में प्रचार नहीं करना होगा

पंचायत चुनाव दलगत आधार पर नहीं होना है इसलिए किसी भी राजनीतिक दल के नाम पर या दल के झंडा की आड़ में चुनाव प्रचार नहीं करना होगा। सरकारी सर्किट हाउस, रेस्ट हाउस, डाकबंगला या अन्य आवासों का उपयोग चुनाव प्रचार, चुनाव बैठक के लिए किसी भी उम्मीदवार द्वारा नहीं किया जाएगा। किसी सरकारी, उपक्रम के भवन की दीवार तथा चहारदीवारी पर अभ्यर्थियों तथा उनके समर्थकों द्वारा किसी तरह का पोस्टर, सूचना नहीं चिपकाया जाएगा। इसके अलावा किसी तरह का नारा नहीं लिखा जाएगा। सरकारी भवनों पर किसी तरह का झंडा या बैनर भी नहीं लगाया जाएगा। चुनावी सभा की अनुमति संबंधित निर्वाची पदाधिकारी देंगे। प्रचार के लिए नुक्कड़ सभा की सूचना निर्वाची पदाधिकारी एवं स्थानीय थाना को देना होगा। जुलूस का आदेश निर्वाची पदाधिकारी द्वारा दिया जाएगा।

आचार संहिता जारी होते ही ट्रांसफर-पोस्टिंग पर रोक
पंचायत चुनाव की आचार संहिता प्रभावी होने के बाद जिला निर्वाचन पदाधिकारी(पंचायत), अनुमंडल पदाधिकारी, जिला पंचायत राज पदाधिकारी, निर्वाची पदाधिकारी, सहायक निर्वाची पदाधिकारी, जिला निर्वाचन पदाधिकारी द्वारा मनोनीत उप निर्वाचन पदाधिकारी(पंचायत) के ट्रांसफर-पोस्टिंग पर पाबंदी रहेगी। इसके अलावा निर्वाचन कार्य से जुड़े अन्य क्षेत्रीय पदाधिकारियों-कर्मचारियों(शिक्षकों सहित) आदि के ट्रांसफर-पोस्टिंग पर रोक रहेगी। हालांकि, मेडिकल-पारा मेडिकल तथा आपातकालीन सेवाओं से जुड़े पदाधिकारियों-कर्मचारियों के पदस्थापन-स्थानांतरण को इस आदेश से मुक्त रखा गया है।

दिशा-निर्देशों का सख्ती से पालन होगा
खासबात यह होगी कि विधानसभा चुनाव की तरह पंचायत चुनाव में भी कोविड-19 से संबंधित दिशा निर्देशों का सख्ती से पालन किया जाएगा। सभी उम्मीदवारों एवं उनके समर्थकों द्वारा सभाओं, नुक्कड़ सभाओं एवं जुलूस के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा। कोविड-19 से संबंधित दिशा-निर्देशों का अनुपालन निर्वाची पदाधिकारी, सहायक निर्वाची पदाधिकारी द्वारा सुनिश्चित कराया जाएगा।

खबरें और भी हैं...