• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Sudhakar Singh Roared After Leaving The Minister's Post, Don't Expect Status Quo From Me, We Have Come To Power For Change

इस्तीफे के बाद बोले सुधाकर....बदलाव के लिए सत्ता में आए:मुझसे पहले वाली स्थिति की उम्मीद ना रखें; अफसरशाही और भ्रष्टाचार पर भी बरसे

पटना4 महीने पहलेलेखक: प्रणय प्रियंवद

पूर्व कृषि मंत्री सुधाकर सिंह ने किसानों की सभा में अपनी भविष्य की रणनीति साफ कर दी है। सोमवार को कैमूर जिले के अधौरा प्रखंड में आयोजित किसानों की सभा में सुधाकर सिंह ने कहा कि मुझसे लोग यह अपेक्षा नहीं करें कि हम पहले की स्थिति बरकरार रखेंगे। हम सत्ता में बदलाव के लिए आए हैं।

किसानों को संबोधित करते हुए उन्होंने सरकार के खिलाफ नाराजगी भी जाहिर की। साथ ही अफसरशाही और भ्रष्टाचार पर जमकर बरसे। उन्होंने कहा कि सत्ता में बैठे जिन लोगों को लगा कि मैं व्यवस्था में फिट नहीं बैठता उन्होंने मुझे और मैंने उन्हें अलविदा करने में देर नहीं की।

अफसरशाही और भ्रष्टाचार पर लगातार बोल रहे थे सुधाकर

बता दें कि सुधाकर सिंह ने रविवार को कृषि मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया है। कृषि विभाग में अफसरशाही और भ्रष्टाचार पर वे लगातार हल्ला बोल रहे थे। उन्होंने कहा था कृषि विभाग में चोरों की भरमार है और वे चोरों के सरदार हैं। माना जा रहा है कि उन्होंने अपने चोरों के सरकार वाले बयान पर माफी मांगने की बजाए इस्तीफा देना उचित समझा। इससे भ्रष्टाचार पर जीरो टॉलरेंस की बात करने वाली नीतीश सरकार की काफी किरकिरी हुई। सुधाकर मंडी कानून और पैक्स में मनमानी पर भी लगातार बोल रहे थे।

मंत्री पद को अलविदा करने में देर नहीं लगी

मंत्री पद से इस्तीफा देने के बाद सुधाकर सिंह सोमवार को अघौरा की सभा में किसानों को संबोधित कर रहे थे। सुधाकर ने कहा कि जब लगा मैं इस व्यवस्था में फिट नहीं हूं तो मुझे मंत्री पद को अलविदा कहने में देर नहीं लगी। हजारों लोग यहां बैठे वे लोग हैं जिन्होंने राष्ट्र और राज्य को बनाने में कुर्बानी दी है। हम टाना भगत के वंशज, बिरसा मुंडा के वंशजों ने देश के निर्माण के लिए कुर्बानी दी। उस समाज के लोगों को अपनी छोटी -छोटी जरूरतों के लिए भी सत्ता के सामने हाथ जोड़ना पड़ रहा है। चिरौरी और मिन्नतें करनी पड़ रही है।

अस्पताल में पुलिस बैरक सरकार की असंवेदनशीलता

सत्ता में बैठे हुक्मरान जो सरकारी नौकरी में बैठे हैं, वे मालिक भाव से आते हैं। हॉस्पिटल बना इलाज के लिए लेकिन उसमें पुलिस बैरक बना हुआ है। विधान सभा में सवाल उठाने के बाद भी आज तक वह बैरक नहीं हटा। इससे ज्यादा संवेदनहीनता सरकार में और क्या हो सकती है।

कहा कि सरकार जो बनी है इस सरकार के बारे में मैं आश्वासन दूंगा कि हम आपके हॉस्पिटल को बहुत जल्दी शुरू करवाने का काम करेंगे। जरूरत पड़ेगी तो नए भवन का निर्माण भी करवाएंगे। जल छाजन जो पानी की व्यवस्था तक सीमित था उसमें हमने बागवनी को भी जोड़वाया है ताकि आमदनी का जरिया बढ़े। हम गौ वंशज के लिए भी काम करेंगे।

सुधाकर सिंह का मंत्री पद से इस्तीफा मंजूर:CM नीतीश ने राज्यपाल को भेजी अनुशंसा, कुमार सर्वजीत नए कृषि मंत्री

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की नाराजगी के बाद बिहार के कृषि मंत्री सुधाकर सिंह ने रविवार को मंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। उन्होंने अपना इस्तीफा मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को सौंपा। CM ने इस्तीफा स्वीकार करते हुए राज्यपाल को अपनी अनुशंसा भेज दी है। पर्यटन मंत्री कुमार सर्वजीत को कृषि विभाग आवंटित किया गया है। जबकि पर्यटन विभाग का प्रभार डिप्टी CM तेजस्वी को दिया गया है। पूरी खबर पढ़ने के लिए क्लिक करें

खबरें और भी हैं...