पुलिस हिरासत में चिराग पासवान:लाठीचार्ज के बाद गिरे समर्थक को रिपोर्टर ने की उठाने की कोशिश, तो बोला- ऐसे ही रहने दो बाबू वरना पुलिस और मारेगी

पटना6 महीने पहले

बिहार में लगातार बढ़ते अपराध और अपराधियों के मनोबल को लेकर मंगलवार को चिराग पासवान और उनकी पार्टी (लोक जनशक्ति पार्टी रामविलास) ने नीतीश सरकार के खिलाफ हल्ला बोल दिया। वह अपने समर्थकों के साथ पटना के गांधी मैदान स्थित लोकनायक जय प्रकाश नारायण की प्रतिमा स्थल से राजभवन तक के लिए निकले। इस दौरान पुलिस और समर्थकों आपस में भिड़ गए। वहीं, पुलिस ने भीड़ पर काबू पाने के लिए लाठीचार्ज और वॉटर कैनन की बौछार की। इधर, पुलिस ने चिराग पासवान को हिरासत में ले लिया है और अपने साथ थाने ले गई। वहीं, पुलिस की मार से बेहोश पड़े एक समर्थक को जब भास्कर के रिपोर्टर ने पानी छिड़क कर होश में लाने की कोशिश की, तो युवक ने बोला कि ऐसे ही रहने दो बाबू वरना पुलिस और मारेगी।

डाकबंगला चौराहे पर बैरिकेडिंग लांघकर आगे बढ़ते पासवान के समर्थक।
डाकबंगला चौराहे पर बैरिकेडिंग लांघकर आगे बढ़ते पासवान के समर्थक।

चिराग पासवान ने कहा कि यह मेरे लिए जनता का प्यार है। आज यहां मौजूद सभी लोगों का शुक्रगुजार हूं। अगर पुलिस लाठी बरसाती है तो सबसे पहले लाठी में खाऊंगा।

समर्थकों के आगे पुलिस प्रशासन पस्त दिखी।
समर्थकों के आगे पुलिस प्रशासन पस्त दिखी।

चिराग ने पहले ही अपनी इस यात्रा के बारे में ऐलान कर दिया था। उन्होंने कहा था, 'बिहार बचाओ मार्च के तहत हम राज्यपाल फागू चौहान को पार्टी की ओर से ज्ञापन सौंपेंगे। राज्य में उत्पन्न स्थिति की विस्तृत जानकारी देते हुए उनसे अनुरोध किया जाएगा कि वे इस सरकार को बर्खास्त करने के लिए केंद्र सरकार के पास सिफारिश भेजें। राज्य में अपराध की स्थिति चरम पर है। हत्या, लूट, दुष्कर्म और चोरी की घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही हैं।'

रिपोर्ट- अनिकेत कुमार।