• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Sushil Modi Said Nitish Kumar's Bail Will Be Forfeited, JDU's Counterattack Still Troubled From The Beginning

फूलपुर पर BJP-JDU आमने-सामने:सुशील मोदी ने कहा- नीतीश कुमार की जमानत जब्त हो जाएगी, JDU का पलटवार- BJP आगाज से ही परेशान

पटना11 दिन पहले

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के फूलपुर से चुनाव लड़ने की चर्चा के बाद राजनीति तेज हो गई है। BJP नीतीश कुमार और JDU पर हमलावर हो गई है। खास तौर पर BJP नेता सुशील मोदी इस मामले पर काफी मुखर हो गए हैं।

सुशील मोदी ने तो यहां तक कह दिया कि नीतीश कुमार की जमानत जब्त हो जाएगी। BJP नेता रविवार को कहा कि नीतीश कुमार कहीं से भी लोकसभा का चुनाव लड़ें, जनता उन्हें बुरी तरह पराजित करेगी और वे अपनी जमानत भी नहीं बचा पाएंगे।

वहीं, भाजपा पर पटलवार के लिए जदयू नेता नीरज कुमार सामने आए। उन्होंने सुशील मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि बीजेपी बेचैन हो गई है। जदयू के आगाज से ही परेशान है।

विधानसभा जीत जाएं तो राष्ट्रीय पुरस्कार देंगे: अश्वनी चौबे

केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार पर एक बार फिर से निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि लोकसभा की बात छोड़िए नीतीश कुमार यदि विधानसभा चुनाव जीत कर दिखा दें तो भारत सरकार उन्हें राष्ट्रीय पुरस्कार देगी। जो आदमी अब तक 17 साल में एक भी चुनाव नहीं लड़ा, अब वह यूपी में चुनाव लड़ने जा रहे हैं। यूपी में तो उनकी जमानत भी जब्त हो जाएगी।

बता दें कि आज अश्विनी चौबे ज्ञान भवन में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर लिखी किताब ' मोदी @ 20' का विमोचन समारोह के कार्यक्रम में भाग लेने के लिए पहुंचे थे।

सिर्फ दो सीट पर हुई थी जीत

बिहार के पूर्व सीएम सुशील मोदी ने कहा कि प्रधानमंत्री पद का सपना देखने वाले नीतीश कुमार भाजपा के बढ़ते जनाधार और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता से इतना डरे हुए हैं कि वे बिहार से संसदीय चुनाव लड़ने के बजाय यूपी में सपा के गढ़ फूलपुर और मिर्जापुर से प्रत्याशी बनने की सोच रहे हैं।

उन्होंने कहा कि 2014 में बिहार की 40 सीटों में से जदयू सिर्फ दो पर जीता था। उसमें भी नालंदा संसदीय सीट पर मात्र 8 हजार वोटों के अंतर से उसकी प्रतिष्ठा बची थी। इस बार भाजपा 35 से ज्यादा सीटें जीत कर 2014 की सफलता दोहराएगी।

अखिलेश मायावती पर भी निशाना

वहीं सुशील मोदी ने यूपी के अखिलेश यादव और मायावती पर हमला करते हुए कहा कि यूपी में बूआ-बबुआ के साथ आने के बावजूद भाजपा ने 2019 के संसदीय चुनाव में 64 सीटें जीतीं । हाल के उपचुनाव में सपा आजमगढ़ और रामपुर में अपनी सीट नहीं बचा सकी।

उन्होंने कहा कि इससे पहले यूपी के दो लड़के (अखिलेश, राहुल) मिलकर भी भाजपा का विजय रथ रोक नहीं पाए थे। मोदी ने कहा कि जिस पार्टी का यूपी के विधानसभा चुनाव में भी खाता नहीं खुलता, उसके नेता नीतीश कुमार दो लड़कों के कहने पर वहां की किसी सीट पर लड़ें, उनकी जमानत जब्त होगी।

जदयू ने किया पलटवार

सुशील मोदी के इस हमले पर जेडीयू के मुख्य प्रवक्ता नीरज कुमार ने पलटवार करते हुए कहा कि 9 अगस्त 2022 को महागठबंधन के आकार में आने के बाद से बिहार भाजपा के नेता ही परेशान नहीं है बल्कि बिहार भाजपा के बड़े नेता नरेंद्र मोदी के चेहरे पर भी परेशानी झलक रही है।

बिहार भाजपा को तो चाकरी करनी है अब माननीय नीतीश कुमार जी चुनाव लड़ेंगे या नहीं लड़ेंगे, इस संबंध में 2024 में जब चुनाव आएगा तब फैसला होगा। केवल आगाज होने से भाजपा परेशान है।

बेचैन हो गई है बीजेपी

नीरज कुमार ने यह भी कहा कि हमारी प्राथमिकता है गैर-भाजपा दलों को एकजुट करना है। जब चुनाव आएगा तो पार्टी का नेतृत्व क्या तय करेगा। यह सब कुछ स्पष्ट हो चुका है। अब भाजपा बेचैन है। भाजपा को इस बात का एहसास है। वह 2014 का उदाहरण तो दे रहे हैं। लेकिन 2015 के विधानसभा का उदाहरण नहीं दे रहे है।

उस समय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 42 जनसभा की थी। लेकिन, 53 सीट पर लॉक हो गए और यही उनकी संभावित बेचैनी है।

UP के फूलपुर से नीतीश कुमार लड़ेंगे चुनाव ?:लोकसभा चुनाव की तैयारी में JDU, अंबेडकरनगर और मिर्जापुर से भी ऑफर

नीतीश के लिए अचानक PK खास क्यों हो गए:मिशन PM में 'ब्रह्मास्त्र' हो सकते हैं, साथ आए तो ममता-केजरीवाल और साउथ साधेंगे

खबरें और भी हैं...