• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Teachers Will Now Be Freed From The Responsibility Of Providing Mid day Meals To Children In Elementary Schools Of The State

व्यवस्था में बदलाव:राज्य के प्रारंभिक स्कूलों में बच्चों के मध्याह्न भोजन की जिम्मेदारी से अब मुक्त होंगे शिक्षक

पटनाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
कार्यक्रम में मौजूद शिक्षा मंत्री विजय चौधरी, अपर मुख्य सचिव संजय कुमार के साथ शिक्षा विभाग व अक्षय पात्र फाउंडेशन के पदाधिकारी। - Dainik Bhaskar
कार्यक्रम में मौजूद शिक्षा मंत्री विजय चौधरी, अपर मुख्य सचिव संजय कुमार के साथ शिक्षा विभाग व अक्षय पात्र फाउंडेशन के पदाधिकारी।

प्रारंभिक स्कूलों के शिक्षकों को बच्चों के लिए मध्याह्न भोजन तैयार करवाने से बंटवाने तक की जिम्मेदारी से मुक्त की जाएगी। इसके लिए शिक्षा विभाग ने शुरुआत कर दी है। पटना जिले के दानापुर, फुलवारीशरीफ, पटना सदर प्रखंड के 204 स्कूलों में कक्षा 1 से 8 तक के 38 हजार बच्चों को भोजन परोसने की जिम्मेदारी अक्षय पात्र फाउंडेशन बेंगलुरू को दी गई।

बुधवार को इसके लिए शिक्षा विभाग की ओर से पटना जिला के डीपीओ (एमडीएम) मनोज कुमार और अक्षय पात्र फाउंडेशन की ओर से उपाध्यक्ष स्वामी अनंतवीर्य दास ने एकरारनामा पर हस्ताक्षर किया। इसके पहले पटना पूर्वी क्षेत्र के स्कूलों के बच्चों काे भाेजन परोसने की जिम्मेदारी इस्काॅन संस्था काे दी गई। पटना पूर्वी के 201 स्कूलों के 41 हजार बच्चों को इस्कॉन के माध्यम से मध्यह्न भोजन मिलेगा।

जल्द ही इसके लिए करार होगा। शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी ने कहा कि इससे विद्यालय के शिक्षकों को मध्याह्न भोजन के कार्य से मुक्त होकर बच्चों को गुणवत्तापूर्ण शिक्षा देने के लिए पर्याप्त समय उपलब्ध होगा। बच्चों को स्वच्छ, ताजा, गरम और पौष्टिक भोजन समय पर उपलब्ध होगा। भविष्य में इस संस्था द्वारा अधिक से अधिक विद्यालयों के बच्चों को भी भोजन उपलब्ध कराया जा सकेगा।

अपर मुख्य सचिव संजय कुमार ने मंत्री को पुष्पगुच्छ देकर स्वागत किया। विशेष सचिव सह एमडीएम निदेशक सतीश चंद्र झा ने स्वागत किया। मौके पर सचिव असंगबा चुबा आओ, माध्यमिक शिक्षा निदेशक मनोज कुमार और उच्च शिक्षा निदेशक डॉ. रेखा कुमारी सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे।

रसाेई निर्माण के लिए शिक्षा विभाग देगा जमीन
एकरारनामा के तहत शिक्षा विभाग द्वारा बलदेव उच्च विद्यालय दानापुर में अक्षयपात्र फाउंडेशन को एक केंद्रीयकृत रसोई घर निर्माण के लिए 50 डिसमिल जमीन 10 वर्षों के लिए दी जाएगी। शिक्षा विभाग इस कार्य में भोजन निर्माण या वितरण के लिए परिवहन के लिए कोई अतिरिक्त भुगतान नहीं करेगा।

खबरें और भी हैं...