• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Technician To Be Reinstated For Oxygen Plant Operation; Generator Set Will Be Installed At 6 Crore To 61 Places So That The Plant Is Operated Without Stopping

कोरोना को देखते हुए निर्णय:ऑक्सीजन प्लांट संचालन के लिए तकनीशियन की होगी बहाली; बिना रुके प्लांट संचालित हो इसलिए 6 करोड़ से 61 जगहों पर लगाया जाएगा जेनरेटर सेट

पटना14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

राज्य के अस्पतालों में पीएसए ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट संचालित करने के लिए स्वास्थ्य विभाग की ओर से दो बड़े निर्णय लिए गए हैं। पहला है ऑक्सीजन प्लांट के संचालन में बिजली बाधित रहने अथवा ट्रिपिंग की वजह से बाधा न हो इसके लिए साइलेंड डीजल जेनरेशन सेट (डीजी सेट) लगाया जाएगा। तथा दूसरा है इन प्लांट के संचालन के लिए आईटीआई पास टेक्नीशियन की नियुक्ति होगी। राज्य स्वास्थ्य समिति की ओर से इसके लिए सभी जिलों को निर्देश दिए गए हैं। विभाग ने कहा है कि प्लांट संचालन के दौरान बिजली बाधित होने की स्थिति मरीजों के लिए घातक हो सकती है।

राज्य में 118 पीएसए प्लांट में डीजी सेट स्थापित किया जाना है। ईसीआरपी-2 के बजट में इसके लिए 6.05 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। इन पैसों से 61 स्वास्थ्य संस्थानों में डीजी सेट लगाया जाएगा, बाकी 57 जगहों पर डीजी सेट के लिए बजट की व्यवस्था की जा रही है। अलग-अलग पीएसए प्लांट के लिए उसकी उत्पादन क्षमता के हिसाब से डीजी सेट लगाया जाएगा। विभाग ने कहा है कि 61 स्वास्थ्य संस्थानों में जल्द से जल्द डीजी सेट को स्थापित किया जाए।

राज्य के अस्पतालों में 80 एलपीएम से लेकर 5 हजार एलपीएम तक है प्लांट की क्षमता
राज्य के अस्पतालों में 80 एलपीएम से लेकर 5 हजार एलपीएम ऑक्सीजन उत्पादन की क्षमता वाला प्लांट लगा है। पीएमसीएच पटना में 5 हजार एलपीएम कैपेसिटी का प्लांट लगा है, यहां 1400 केवीए का डीजी सेट लगेगा। एसकेएमसीएच मुजफ्फरपुर में 2 हजार एलपीएम कैपेसिटी का प्लांट लगा है यहां 500 केवीए का प्लांट लगा है। अनुमंडल अस्पताल दानापुर में 1 हजार एलपीएम, मधेपुरा में 2500 एलपीएम का प्लांट लगा है।

हर प्लांट पर कम से कम दो टेक्नीशियन की नियुक्ति होगी
पीएसए आक्सीजन प्लांटों के संचालन एवं रखरखाव के लिए आईटीआई पास टेक्नीशियन बहाल किए जाएंगे। राज्य स्वास्थ्य समिति के कार्यपालक निदेशक संजय सिंह ने इस संबंध में आदेश जारी किए हैं। उन्होंने कहा है कि राज्य में पीएम केयर के तहत 62 तथा राज्य सरकार के संसाधन से 60 यानि कुल 122 प्लांट स्थापित किए गए हैं। इनमें से 106 प्लांट के संचालन तथा ऑक्सीजन मैनेजमेंट के लिए आईटीआई पासआउट एवं कौशल विकास एवं उद्यमशीलता मंत्रालय के 180 घंटे के अनिवार्य प्रशिक्षण के साथ सीबीटी परीक्षा पास 212 तकनीशियन की नियुक्ति आउटसोर्स के आधार पर की जाएगी। फिलहाल छह महीने के लिए दैनिक पारिश्रमिक पर रखने का निर्णय लिया गया है। प्रत्येक प्लांट पर दो टेक्नीशियन रहेंगे।

खबरें और भी हैं...