यह कैसा टीका उत्सव:पटना में कोवैक्सीन का दूसरा डोज लेने वालों से कहा जा रहा- स्टॉक खाली है, बाद में आएं

पटना8 महीने पहले
11 से 14 अप्रैल तक प्रदेश में कोरोना वैक्सीन का टीका उत्सव मनाया जा रहा है।
  • कोवैक्सीन की पहली डोज लेने वालों के लिए दूसरी डोज में आ रही समस्या
  • राज्य स्वास्थ्य समिति का दावा है कि वैक्सीन की कहीं कोई कमी नहीं है

11 से 14 अप्रैल तक प्रदेश में कोरोना वैक्सीन का टीका उत्सव मनाया जा रहा है। अधिक से अधिक टीकाकरण को लेकर चलाए जा रहे इस विशेष अभियान में ऐसे लोग भी हैं जो दूसरी डोज के लिए भटक रहे हैं। सेंटर पर सही जानकारी नहीं मिल रही है। सेंटर पर ऐसे लोग भी मिल रहे हैं जो पूछ रहे हैं वैक्सीन की दूसरी डोज कब लगेगी। सेंटर पर लोग दूर दूर से आ रहे हैं जो वापस जा रहे हैं। वहीं राज्य स्वास्थ्य समिति के ED मनोज कुमार का दावा है कि वैक्सीन की कहीं कोई कमी नहीं है। टीका के लिए सेंटर पर आए लोगों की जुबानी हम बता रहे हैं उत्सव में वैक्सीन का क्या हाल है।

गोला रोड से आए अधिवक्ता लौटे वापस

गोला रोड के रहने वाले अधिवक्ता राघवेंद्र कुमार सिंह और उनकी पत्नी रश्मि सिंह के साथ तीन और लोग वैक्सीन की दूसरी डोज के लिए न्यू गार्डिनर रोड अस्पताल आए थे। उनका कहना है कि वह निराश लौट रहे हैं क्योंकि उन्हें वैक्सीन नहीं लग पाई है। टीका उत्सव में भी वैक्सीन क्यों नहीं लग पाई इस सवाल पर अधिवक्ता का कहना है कि वह पहली डोज कोवैक्सीन की लिए थे और सेंटर से कोवैक्सीन खत्म है। बताया गया है कि दो-तीन दिन में वैक्सीन का स्टॉक आएगा। बोला गया है कि पता कर लीजिएगा फिर आकर वैक्सीन ले लीजिएगा। अधिवक्ता और उनकी पत्नी के साथ तीन अन्य लोग वैक्सीन की दूसरी डोज लिए बिना वापस चले गए। उनका कहना है कि संडे को समय निकालकर आए लेकिन व्यवस्था से परेशान होकर वापस लौटना पड़ा। वैक्सीन नहीं है तो इसकी सूचना पहले देनी चाहिए थी।

अब बताया गया बुधवार को लगेगा टीका

अनिकेत सिंह बेउर से वैक्सीन की दूसरी डोज लगवाने गर्दनीबाग हॉस्पिटल आए थे। वह जागरूक हैं और वैक्सीन की दूसरी डोज का समय पूरा होते ही परिवार के अन्य सदस्यों के साथ सेंटर पहुंच गए। अनिकेत सिंह का कहना है कि उनके परिवार के कई सदस्यों को पहली डोज लग गई है। समय पूरा हो गया तो दूसरी डोज के लिए भी सेंटर आ गए लेकिन गर्दनीबाग में बताया गया कि वैक्सीन की डोज नहीं है। अनिकेत सिंह का कहना है कि पहली डोज उन्होंने कोवैक्सीन की ली थी इसके बाद दूसरी डोज भी इसकी दी जानी थी लेकिन सेंटर पर बताया जा रहा है कि अब बुधवार को टीका लगाया जा रहा है। इस कारण वह निराश होकर वापस लौट रहे हैं। उनका कहना है कि सरकार को ऐसी व्यवस्था करनी चाहिए कि टीका लेने वालों को पूरी जानकारी मोबाइल पर मिल जाए और वह तय समय पर सेंटर पहुंच कर टीका लगवा लें। कोरोना के समय में इस तरह दौड़ाना खतरे से खाली नहीं है।

अधिकतर सेंटर पर यही हाल

पटना के एक दो नहीं अधिकतर सेंटरों पर ऐसी समस्या आ रही है। वैक्सीन की उपलब्धता नहीं होने से लोगों को दूसरी डोज के लिए भटकना पड़ रहा है। वैक्सीनेशन में प्रशासन जो भी निर्णय लेते है उसे आम लोगों तक नहीं पहुंचाया जाता है। जानकारी के अभाव में लोग सेंटर पर भटकते हैं। दूसरी डोज को लेकर भी ऐसा ही हो रहा है। सेंटर पर बताया जा रहा है कि वैक्सीन नहीं है जबकि अधिकारी कह रहे कोई कमी नहीं है। ऐसे में कौन सही बोल रहा यह भी पता नहीं चल पा रहा है।

अब जानिए टीका लगाने वाले कर्मचारियों ने क्या कहा

न्यू गार्डिनर रोड पर वैक्सीनेशन में लगे कर्मचारियों ने कहा कि अभी दो से तीन दिन में वैक्सीन आने का चांस है। वैक्सीन आएगी तो दूसरी डोज लगेगी। कर्मचारियों का कहना है कि कोवैक्सीन खत्म हो गया है। इस कारण से समस्या हो रही है। कर्मचारियों का कहना है कि सेंटर पर फोन कर लीजिएगा, अगर वैक्सीन आ जाएगी तो आकर लगवा लीजिएगा। जिसका टाइम पूरा हो गया उसके लिए क्या होगा के सवाल पर कर्मचारियों का कहना है कि जब टीका नहीं है तो क्या होगा। पता करके दो दिन बाद आइएगा टीका लग जाएगा। वहीं कुछ सेंटर के प्रभारियों ने बताया अब दूसरी डोज बुधवार को लगेगी। तब तक के लिए लोगों को इंतजार करना पड़ेगा। हालांकि, बताया गया इसमें पहली और दूसरी डोज में अंतर से कोई फर्क नहीं पड़ेगा। लेकिन, इससे लोगों को काफी समस्या हो रही है। ऐसे में लोग दूर से आकर वापस लौट रहे हैं, जिन्हें कोविशील्ड की पहली डोज पड़ी है उनके लिए समस्या नहीं हो रही है।

खबरें और भी हैं...