पटना में 'रेचलस्वी' का WELCOME:तेजस्वी बोले- मां-पापा ने पूछा था तुम्हारी नजर में कोई लड़की हो तो बताओ, मैंने बताया और वे राजी हो गए

पटनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव अपनी दुल्हन को लेकर सोमवार रात वापस पटना आ गए हैं। आते ही उन्होंने दुल्हन के नाम को लेकर चल रहा कन्फ्यूजन भी क्लियर कर दिया है। उन्होंने बताया, 'उनका नाम रेचल है, लेकिन यहां (बिहार में) उन्हें राजश्री नाम से बुलाएंगे। यह नाम पिता लालू प्रसाद यादव ने ही दिया है।' लगे हाथ तेजस्वी ने यह भी कह दिया कि उनकी दुल्हन का सरनेम 'यादव' ही रहेगा। यानी तेजस्वी की पत्नी को अब राजश्री यादव के नाम से जाना जाएगा।

रात 8:30 के करीब पटना एयरपोर्ट पहुंचने पर तेजस्वी और राजश्री का राजद कार्यकर्ताओं ने भव्य स्वागत किया। वो सब शाम से ही एयरपोर्ट पर ढोल-नगाड़ों के साथ मौजूद थे। एयरपोर्ट टर्मिनल बिल्डिंग से निकलते ही दोनों का स्वागत माला पहनकर किया गया। इसके बाद तेजस्वी यादव कार्यकर्ताओं और अपने काफिले के साथ राबड़ी आवास पहुंचे।

नई बहू के घर आने पर की जानेवाली रस्में निभाई गई। इसके बाद तेजस्वी यादव मीडिया के सामने भी आए और शादी से जुड़े कई सवालों के जवाब दिए। उन्होंने कहा- 'राजश्री से लंबे समय से हमारी दोस्ती थी। पिताजी ने पूछा कि तुम्हारी पसंद की कोई लड़की हो तो बताओ, नहीं तो हम ढूंढ़ेंगे। मैंने बताया और वे राजी हो गए। वैसे, उन्हें पहले से हिंट था। बीच में बिहार में विधानसभा का चुनाव हुआ। कोरोना का दौर भी चल रहा। लालू जी भी हमलोगों के साथ नहीं थे। उनकी तबीयत भी ठीक नहीं थी। समय आया और सब हो गया।'

राजश्री ने बहुत सपोर्ट किया

यह पूछने पर कि राजश्री के बारे में लालू जी की क्या राय थी? तेजस्वी बोले-उनका यही कहना था कि जहां बच्चे खुश रहे। वैसे भी हमलोग समाजवादी हैं। भेदभाव नहीं करते। नए जमाने में ये चीजें तो पीछे छूट ही चुकी हैं। मेरा जीवन बहुत चैलेंजिंग रहा है और हमेश राजश्री का सपोर्ट रहा है।'

वहीं, लालू से अपनी पहली मुलाकत पर राजश्री ने कहा- 'बहुत अच्छी मुलाकात रही थी। शादी से पहले मैं दो-तीन बार उनसे मिली थी। वे बड़े अच्छे और जमीन से जुड़े हैं।' क्या जब दोस्ती हुई थी तो सोचा था कि तेजस्वी इतने बड़े राजनेता बनेंगे? राजश्री का जवाब था- 'नहीं, लेकिन मैं हमेशा इनके सपोर्ट में रही। इनको अलग एंगल पर देखती हूं. ये बड़े स्मार्ट, अच्छे यूथ लीडर, इंटेलेक्चुअल हैं।'

वर-वधू के आने से पहले इस तरह थी स्वागत की तैयारी।
वर-वधू के आने से पहले इस तरह थी स्वागत की तैयारी।
ढोल-बाजे के साथ राजद समर्थक।
ढोल-बाजे के साथ राजद समर्थक।
एयरपोर्ट से बाहर निकलकर माला पहनाकर नव दंपती का किया गया स्वागत।
एयरपोर्ट से बाहर निकलकर माला पहनाकर नव दंपती का किया गया स्वागत।
तेजस्वी और उनकी पत्नी राजश्री।
तेजस्वी और उनकी पत्नी राजश्री।
राबड़ी आवास पहुंची तेजस्वी-राजश्री की गाड़ी।
राबड़ी आवास पहुंची तेजस्वी-राजश्री की गाड़ी।
फ्लाइट में तेजस्वी और राजश्री।
फ्लाइट में तेजस्वी और राजश्री।
मीडिया से बात करते तेजस्वी।
मीडिया से बात करते तेजस्वी।

शादी से लेकर साधु यादव तक के मामलों पर तेजस्वी ने क्या-क्या कहा

तेजस्वी यादव ने कहा कि लालू जी की तबीयत ठीक नहीं है। उनका ट्रीटमेंट चल रहा है इसलिए वह नहीं आ पाए। कुछ रस्म हैं, जिसको निभाना था इसलिए हम लोग अभी आए हैं। माताजी पहले आ चुकी थी, उन्होंने स्वागत किया है। लोगों ने मुझे बधाई दी, विपक्ष के लोगों ने भी बधाई दी। मैं उनकी शुभकामना स्वीकार करता हूं। राजनीतिक प्रतिद्वंदिता अलग है। सुख-दुख में हम लोग एक साथ रहे हैं।

तेजस्वी यादव ने यह साफ किया कि जब मैं आईपीएल खेलता था, तो उस समय बहुत लोग फोटो खिंचवाते थे। लेकिन जिस लड़की के साथ मेरी तस्वीर वायरल हुई है, वह अलग लड़की है और यह अलग लड़की है। दोनों इंसान अलग-अलग हैं। रेचल से उन्होंने शादी की है। लालू यादव ने मेरी पत्नी को नया नाम राजश्री दिया है, ताकि लोगों के उच्चारण में ठीक रहे।

मामा का सम्मान आगे भी करता रहूंगा: तेजस्वी

मामा साधु यादव पर कहा कि वह बड़े हैं। मैं उनका पहले भी सम्मान करता था, आज भी करता हूं, आगे भी करूंगा। जो नाराजगी है, वह अपनी जगह है। मामा द्वारा कुजात में शादी करने की बात पर कहा कि हम नौजवान लोग हैं। हम लोग एटूजेड की बात करते हैं। सामाजिक दूरी मिटाने की बात करते हैं। हम लोग लोहिया को मानने वाले लोग हैं। समाजवादी लोग हैं। इस तरह का भेदभाव नहीं होना चाहिए।

जब तेजस्वी यादव से यह पूछा गया कि आपकी मुलाकात कैसे हुई थी, तो उन्होंने कहा कि कुछ बातें बाद में की जाएंगी। आज ही सारी बातें कर लेंगे क्या...फिर हंसते हुए घर में चले गए।

स्वागत के लिए राबड़ी देवी पहले ही पहुंची
तेजस्वी यादव आज पटना इसलिए आए हैं, क्योंकि 14 दिसंबर के बाद खरमास शुरू हो जाएगा। तब उनके पटना आने का संयोग नहीं बन पाएगा। ऐसे में तेजस्वी यादव पत्नी के साथ पटना पहुंचकर आज ही अपने कुल देवी-देवताओं के दर्शन करेंगे। इसकी तैयारी को लेकर उनकी मां और बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी पहले ही पटना पहुंच गई थीं।

बताया जा रहा है कि तेजस्वी पटना में भव्य रिसेप्शन देंगे, जिसमें खास लोगों को निमंत्रण दिया जाएगा। रिसेप्शन में ही मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को वर-वधू को आशीर्वाद देने के लिए बुलाया जाएगा।

शादी के दौरान रेचल के साथ रस्म करते तेजस्वी यादव।
शादी के दौरान रेचल के साथ रस्म करते तेजस्वी यादव।
तेजस्वी और रेचल के साथ तेज प्रताप यादव।
तेजस्वी और रेचल के साथ तेज प्रताप यादव।

दिल्ली में हुई थी तेजस्वी की शादी
9 दिसंबर को बिहार के प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव ने दिल्ली में रहने वाली ईसाई धर्म की रेचल से शादी कर ली थी। काफी सादे समारोह में किए गए शादी के बाद बिहार की राजनीति में उस समय भूचाल आ गया था, जब उनके मामा साधु यादव ने इस शादी पर सवाल उठाए थे। साधु यादव ने कहा था कि तेजस्वी यादव कुजात में शादी कर ली है। उन्होंने समाज में शादी ना कर के यादवों को धोखा दिया है।

खबरें और भी हैं...