पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • The Committee Submitted A Report To The High Court According To The Patients, The Requirement Of 150 Oxygen Cylinders, Consumption Showed 348

कालाबाजारी:कमेटी ने हाईकोर्ट को सौंपी रिपोर्ट- मरीजों के हिसाब से जरूरत 150 ऑक्सीजन सिलेंडर की, खपत दिखाई 348

पटना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • क्या पीएमसीएच में हो रही ऑक्सीजन की कालाबाजारी

बिहार में कोरोना से निपटने में सरकारी व्यवस्था की मॉनिटरिंग करने वाली हाईकाेर्ट की खंडपीठ के लिए नियुक्त कोर्ट मित्र एडवोकेट मृग्यांक मौली की जांच रिपोर्ट में पीएमसीएच में ऑक्सीजन सिलेंडरों व गैस की खपत में लापरवाही दिखा रही है। यह जांच रिपोर्ट कोर्ट के 29 अप्रैल के आदेश के आलोक में साैंपी गई है।

हाईकोर्ट ने अपने आदेश में कहा था कि एनएमसीएच में कोविड के ज्यादा मरीज व बेड हैं लेकिन कोविड मरीजों के लिए ऑक्सीजन की आपूर्ति और खपत पीएमसीएच में अधिक कैसे होती है? ऑक्सीजन सिलेंडर की कालाबाजारी की आशंका जताते हुए हाईकोर्ट ने तीन सदस्यीय एक्सपर्ट कमेटी और कोर्ट मित्र मृग्यांक मौली को पीएमसीएच का दौरा कर इस बाबत पड़ताल करने काे कहा। रिपाेर्ट में कहा गया है कि मरीज के हिसाब से जहां जरूरत थी 150 की, वहां खपत दिखाए गए 348 सिलेंडर!

कोर्ट मित्र ने कहा-पीएमसीएच में ऑक्सीजन ऑडिटिंग की जांच एक स्वतंत्र निकाय से कराएं

कमेटी ने एक मई को पीएमसीएच का दौरा किया। रिपोर्ट में बताया है कि पीएमसीएच में मुख्यतः डी टाइप सिलेंडर का इस्तेमाल होता है, जिसमें प्रति सिलेंडर 7 हजार क्यूबिक लीटर गैस रहता है। यहां विभिन्न वार्ड में कोविड सहित अन्य तमाम मरीज जिन्हें ऑक्सीजन की ज़रूरत थी, उनमें 99 फीसदी नॉर्मल रेस्पिरेशन वाले थे, जिन्हें खून में नॉर्मल ऑक्सीजन के सेचुरेशन स्तर पाने के लिए पांच लीटर प्रति मिनट की दर से राेज लगभग एक सिलेंडर ऑक्सीजन की ज़रूरत होती है। 1%ही कोविड के गंभीर मरीज ऐसे हैं जिन्हें खून में नार्मल ऑक्सीजन लाने के लिए 15 लीटर प्रति मिनट ऑक्सीजन की दर से रोजाना तीन सिलेंडर की जरूरत होती है। पर, पीएमसीएच में दौरे के दौरान एक दिन के चार्ट के मुताबिक वहां कोविड मरीजों की संख्या 127 थी। उनमें नॉर्मल रेस्पिरेटरी वाले मरीज 125 (रोजाना 1 सिलेंडर) और 2 मरीज गंभीर रेस्पिरेटरी (रोजाना 3 -4 सिलेंडर वाले) थे। यानी 24 घंटे में उन 127 मरीजों को अधिकतम 150 सिलेंडर की ही जरूरत थी पर चार्ट के मुताबिक उनपर 348 सिलेंडर खपत हु

खबरें और भी हैं...