• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • The Fare Of Buses Running Under The Corporation Increased From 26 To 75; Will Be Applicable From Today

तीन साल बाद परिवहन निगम ने बढ़ाया किराया:निगम के मातहत चलने वाली बसों का किराया 26 से 75 बढ़ा; आज से होगा लागू

पटनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बिहार राज्य पथ परिवहन निगम ने प्रदेश के विभिन्न जिलों में आने-जाने वाली बसों का तीन साल बाद किराया बढ़ा दिया है। निगम के मातहत चलने वाली बसों में बुधवार से यात्रियों को अधिक किराया देना पड़ेगा। यात्रियों पर पहले की तुलना में 26 से 75 रु. प्रति टिकट बोझ बढ़ गया है। नन एसी, एसी और डीलक्स सहित सभी टाइप के बसों के किराया में वृद्धि की गई है। इससे पहले 2018 में सरकारी बसों की किराया में वृद्धि की गई थी। पटना से मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर, दरभंगा, नवादा सहित 13 जिलों में आने-जाने वाली बसों का किराया बढ़ा है। पहले पटना से मुजफ्फरपुर के किराया 90 रु था अब 116 रु. प्रति टिकट कर दिया गया है।

प्रदेश के 38 जिलों में चलने वाली निगम की बसों के किराए में की गई है वृद्धि
पटना सहित प्रदेश के 38 जिलों में चलने वाली निगम बसों की किराया में वृद्धि हुई है। नया किराया बुधवार को सभी जिलों में लागू हो जाएगा। बिहार राज्य पथ परिवहन निगम के एक अधिकारी ने बताया कि नए फैसले से राज्य भर में पथ परिवहन निगम व निगम की ओर से पीपीपी मोड पर चलाए जाने वाले करीब 750 बसों में किराया में वृद्धि हुई है। निगम की ओर से 500 बसों का संचालन हो रहा है जबकि पीपीपी मोड पर 250 बसों का संचालन हो रहा है। राज्य के सभी रूटों पर निगम व उससे जुड़ी बसों में किराया में वृद्धि हुई है।

नॉन एसी, एसी, डीलक्स सहित सभी तरह की बसों पर प्रभाव

  • 750 में 500 बसें परिवहन निगम खुद चलाता है। बाकी 250 बसें पीपीपी मोड पर चलती हैं।
  • 38 में से 13 जिलों के लिए पटना से चलती हैं निगम की बसें।
खबरें और भी हैं...