• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • The Mother Was Forcibly Getting The Minor Married, The Girl Told The Neighbors, The Police Reached; The Boy And The DJ Absconded

पुलिस ने नाबालिग का जबरन निकाह रोका:नाबालिग का जबरन निकाह करा रही थी मां, बच्ची ने पड़ोसियों को बताया, पहुंच गई पुलिस

पटना5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
परिजनों के साथ थाने में बैठी नाबालिग बच्ची। - Dainik Bhaskar
परिजनों के साथ थाने में बैठी नाबालिग बच्ची।

कोतवाली थाने की पुलिस और स्थानीय लोगों की मदद से मंगलवार को एक नाबालिग बच्ची का निकाह रोक दिया गया। 13 साल की बच्ची अपनी मां समरून नेसा, पिता मनीर साह और पांच साल के भाई के साथ अदालतगंज झोपड़पट्टी में रहती है। परिवार मूलरूप से बेतिया के रामनगर का रहने वाला है। बच्ची का निकाह 16 दिसंबर को उसकी मौसी के बेटा 19 वर्षीय एमाम हुसैन के साथ था।

एमाम प. चंपारण के लौरिया के रहने वाला है। निकाह की तैयारी घर में चल रही थी। बच्ची निकाह के लिए तैयार नहीं थी। उसने अपने निकाह की जानकारी पड़ोसियों को दे दी। मंगलवार को एजाज शृंगार बॉक्स लेकर अदालतगंज पहुंचा था। स्थानीय लोगों ने मामले की जानकारी पुलिस को दे दी। आसपास के लोग मनीर साह के घर पहुंच गए। लोगों को देख लड़का एमाम वहां से भाग गया। डीजे वाले भी फरार हो गए। पुलिस बच्ची को थाने ले आई।

मजिस्ट्रेट ने समझाया तो मां बोली- गलती हो गई
जिला प्रशासन की तरफ से मजिस्ट्रेट मीना कुमारी कोतवाली थाने पहुंच गई। वार्ड पार्षद पिंकी कुमारी भी थाने में मौजूद थीं। मजिस्ट्रेट के समक्ष नाबालिग बच्ची ने कहा कि मेरे पिता भी निकाह का विरोध कर रहे थे। मां ने मजिस्ट्रेट से कहा कि मैं एमाम से निकाह कर देती लेकिन गौना छह साल के बाद करती। हालांकि समझाने के बाद वह रोने लगी और मजिस्ट्रेट से बोली- मैडम गलती हो गई। मजिस्ट्रेट के समक्ष माता-पिता से बांड भरवाया गया कि 18 साल के पहले शादी नहीं करेंगे। फिर सभी को छोड़ दिया गया।

स्कूल नहीं जाती है बच्ची, दैनिक मजदूर पिता भी लाचार
जिस लड़के से मनीर की बेटी की शादी हो रही थी वह पटना में ही रहता है और मजदूरी करता है। मनीर ने कहा कि मैं शुरू से ही निकाह का विरोध कर रहा था। पत्नी और लड़का मानने को तैयार नहीं थे। मनीर की बेटी स्कूल नहीं जाती है। किशोरी ने कहा कि कुछ दिन आंगनबाड़ी में पढ़ने गए लेकिन फिर छोड़ दिए। मनीर पेंटिंग का काम करते हैं। जिस दिन काम मिलता है उस दिन 400 रुपए दिहाड़ी मिलती है। मनीर ने कहा कि किसी तरह आठ से दस हजार रुपए महीने में कमा लेते हैं।