पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • The Seat From Where MLAs Won Remained In Every Government After 1990, Two Close Contests, Once The Government Lasted For Seven Days, Once President's Rule

सुपौल जिसके साथ सत्ता उसी के पास:ऐसी सीट जहां से जीते विधायक 1990 के बाद हर सरकार में रहे, दो करीबी मुकाबले, एक बार सरकार सात दिन चली, एक बार राष्ट्रपति शासन

पटना24 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

लगातार चुनाव जीतने वाले विधायक या एक ही सीट पर चुनाव नहीं हारने वाली पार्टी के उदाहरण तो बिहार की राजनीति में कई मिल जाएंगे। लेकिन सुपौल एक ऐसी सीट है जहां से जीतने वाले विधायक की पार्टी ने 1990 के बाद हर बार सरकार बनाई। सुपौल के विधायक विजेंद्र प्रसाद यादव ऐसे ही अकेले विधायक हैं जो 1990 के बाद से जिस भी पार्टी में रहे, उसकी ही सरकार बनी।

पहली बार 1990 में जनता दल की टिकट पर सुपौल से चुनावी मैदान में उतरे तो कांग्रेस के प्रमोद कुमार सिंह को 4256 मतों से हरा दिया। तब सुपौल में 74.6 प्रतिशत वोटिंग हुई थी और यादव को 35.72 वोट मिले थे। तब 276 सीट पर लड़ने वाली जद को 122 सीटें मिली थी और लालू सीएम बने थे। 1995 के चुनाव में भी जनता दल के ही टिकट पर फिर लड़े और कांग्रेस के प्रत्याशी को 13000 हजार वोटों से हराया। उस चुनाव में बिजेंद्र को कुल मतदान का 42% वोट मिला था। फिर लालू के नेतृत्व में सरकार बनी। 1997 में जनता दल में टूट के बाद बिजेंद्र शरद के साथ हो लिए। शरद गुट का समता पार्टी में विलय हुआ तो जदयू के हो गए।

दो करीबी मुकाबले, एक बार सरकार सात दिन चली, एक बार राष्ट्रपति शासन

2000 में हुए विधानसभा चुनाव में राजद के विनायक प्रसाद यादव से विजेन्द्र का करीबी मुकाबला हुआ। वोट शेयर में भी गिरावट आई। 34321 मत हासिल कर उन्होंने राजद प्रत्याशी को 2448 मतों से हरा दिया। 2000 में जदयू की सरकार बनी। सरकार अपना बहुमत साबित नहीं कर पाई और 7 दिनों में ही नीतीश ने इस्तीफा दे दिया। साल 2005 में बिहार ने दो चुनाव देखे। फरवरी के महीने में हुए चुनाव में जदयू की टिकट से लड़ रहे विजेंद्र को राजद के ईसराइल से और कड़ी टक्कर मिली।

जितनी बड़ी जीत उतना बड़ा बहुमत
साल 2005 अक्टूबर में दोबारा चुनाव हुए। इस बार विजेन्द्र ने वापसी की और दो चुनावों से ज्यादा मत भी हासिल किए। उनके सामने राजद के राईन ही थे। लेकिन यादव ने उन्हें 12235 वोटों से हरा दिया। शेष बिहार की जनता से भी इसी अंदाज में जदयू को समर्थन मिला और एक बार फिर विजेन्द्र की पार्टी की सरकार बन गई।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आप अपने विश्वास तथा कार्य क्षमता द्वारा स्थितियों को और अधिक बेहतर बनाने का प्रयास करेंगे। और सफलता भी हासिल होगी। किसी प्रकार का प्रॉपर्टी संबंधी अगर कोई मामला रुका हुआ है तो आज उस पर अपना ध...

और पढ़ें