• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • The Selection For The Tournament Is Being Done Ranging From Rs 8 To 10 Lakhs; Both Bowlers Said That Our Performance Is Better, From Where To Get This Amount For Selection

खिलाड़ियों के चयन में भ्रष्टाचार का मामला:लाखों रुपए लेकर टूर्नामेंट के लिए चयन करने का आरोप; दो गेंदबाज बोले हमारा प्रदर्शन बेहतर, चयन के लिए कहां से लाएं इतनी रकम

पटना7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मोहम्मद जफर इमाम एवं प्रशांत ने वीडियो जारी कर बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली और सचिव जयशाह से लगाई गुहार, सेलेक्टर भेजें ताकि सही तरीके से हो चयन। - Dainik Bhaskar
मोहम्मद जफर इमाम एवं प्रशांत ने वीडियो जारी कर बीसीसीआई अध्यक्ष सौरव गांगुली और सचिव जयशाह से लगाई गुहार, सेलेक्टर भेजें ताकि सही तरीके से हो चयन।

बिहार क्रिकेट एसाेसिएशन यानी बीसीए 8 से 10 लाख रुपए लेकर खिलाड़ियाें का चयन करता है। बिना नजराना दिए खिलाड़ियाें का मुश्ताक अली टूर्नामेंट या दूसरे टूर्नामेंट के लिए बिहार टीम में चयन नहीं हाेता है। बिहार के दाे क्रिकेट खिलाड़ियाें ने वीडियाे जारी कर बीसीए पर यह गंभीर आराेप लगाया है। दैनिक भास्कर ने आरोप लगाने वाले दाेनाें खिलाड़ियों से बात की ताे कहा कि हमने ही वीडियाे जारी किया है।

सारण के गेंदबाज प्रशांत कुमार के बारे में कहा जाता है कि वह जूनियर कपिलदेव हैं। दाे माह पहले ही सुरेंद्र खन्ना ने इनके बारे में सीएम नीतीश कुमार से से कहा था कि यह बिहार के हाेनहार खिलाड़ी हैं। प्रशांत ने वीडियाे जारी कर कहा है कि दाे-तीन साल से बेहतर प्रदर्शन करने के बावजूद मुश्ताक अली टूर्नामेंट में चयन नहीं हुआ।

ट्रायल के लिए चुने गए 91 खिलाड़ियाें में मेरा नाम नहीं है। प्रशांत ने वीडियाे जारी कर बीसीसीआई के सचिव जयशाह और चेयरमैन साैरव गांगुली से गुहार लगाई है कि आप ही सेलेक्टर काे भेजें ताकि सही खिलाड़ियाें का चयन हाे। आराेप है कि बेहतर प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ी साबिर खान का भी चयन नहीं हुआ।

उन्होंने कहा कि बिहार में धांधली हाे रही है, इसलिए साेशल मीडिया के जरिए अपनी बात कह रहा हूं। पिछली बार विजय हजारे टूर्नामेंट में मेरा नाम नहीं था। मेरा रिकाॅर्ड देख लिया जाए। मैंने पिछली बार 6 विकेट लिए थे। बीसीए के सेलेक्टर खिलाड़ियाें का एज और टाइम बर्बाद कर रहे हैं। प्रशांत ने जारी वीडियाे में यह भी कहा है कि मेरे पिता पुलिस विभाग में थे। 2016 में उनका निधन हाे गया। चयन के लिए रकम कहां से लाएंगे?

मुश्ताक अली टूर्नामेंट की ट्रायल लिस्ट में नाम न आने पर टूटा सब्र का बांध,

माे. जफर ने कहा-किसी भी इंटरनेशनल प्लेयर के सामने मेरा ट्रायल करा दें
वहीं बिहार के बेस्ट अपकमिंग गेंदबाज सीवान के माे. जफर इमाम ने भी वीडियाे जारी कर कहा है कि क्या गरीब और टैलेंटेड खिलाड़ियाें का चयन नहीं हाेगा? कहते हैं-बीसीए में काेई पटवर्धन सर हैं। वे कहते हैं कि बीसीसीआई बीसीए काे रकम नहीं दे रही है। इसलिए सेलेक्शन के लिए आठ से दस लाख रुपए देने हाेंगे।

वीडियो में मो. जफर ने बीसीसीआई से अनुरोध किया है कि किसी भी इंटरनेशनल प्लेयर के सामने मेरा ट्रायल करा दें। मेरा सेलेक्शन क्याें नहीं हुआ? खिलाड़ियाें के ट्रायल में भी मेरा नाम नहीं है। अगर मैं गलत बाेल रहा हूं ताे जाे सजा हाे दी जाए, मुझे मंजूर है।

बेटे के लिए ब्लैकमेल कर रहे आदित्य वर्मा : पटवर्धन
बीसीए के लाॅजेस्टिक मैनेजर धर्मेंद्र पटवर्धन ने कहा कि वीडियाे की सत्यता की जांच हाे। बीसीए में रकम लेकर सेलेक्शन हाेने का जाे आराेप लगाया जा रहा है, वह 100 प्रतिशत गलत है। इसके पीछे आदित्य वर्मा का हाथ है। आदित्य वर्मा अपने बेटे का सीनियर में सेलेक्शन कराना चाहता है। तीन दिन पहले उन्हें गैलेरी में बैठने से मना कर दिए थे। वह इसलिए कि उस दिन सीनियर का ट्रायल हाेने वाला था। उसी दिन आदित्य ने धमकी दी थी कि मैं तुम्हें नहीं छाेड़ूंगा। जाे वीडियाे या ऑडियाे आया है, उसके पीछे आदित्य है। उसने बीसीसीआई काे भी ब्लैकमेल किया है। दाे दिन में हम आदित्य का कच्चा चिट्ठा खाेलेगे।

दोनों खिलाड़ियों से पूछें पटवर्धन: आदित्य वर्मा
पटवर्धन के आराेपाें पर आदित्य ने पलटवार किया है। आदित्य का कहना है कि पटवर्धन का मेरे सामने खड़ा नहीं हाे सकता है। मैं बेटे काे सेलेक्ट करवाना चाहता हूं। यह बात गलत है। मैं बिहार में किक्रेट के लिए 2003 से लड़ रहा हूं। उस वक्त मेरा बेटा चार साल का था। मैंने बिहार काे किक्रेट में पहचान दिलाई है। आदित्य ने कहा कि दाे खिलाड़ियाें ने जाे वीडियाे वायरल किया है, उसमें मेरा हाथ कैसे हाे सकता है। पटवर्धन उन दाेनाें से जाकर पूछ लें।

खबरें और भी हैं...