पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

डॉक्टर्स प्राइड अवार्ड:स्पीकर बोले- कोरोना में सोशल मीडिया डराता, भास्कर सकारात्मकता से भरता था हौसला

पटना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
डॉ. गोपाल प्रसाद सिन्हा को सम्मानित करते स्पीकर विजय सिन्हा व स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय। - Dainik Bhaskar
डॉ. गोपाल प्रसाद सिन्हा को सम्मानित करते स्पीकर विजय सिन्हा व स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय।
  • हर परिस्थिति में हमारी जान बचाने वाले 63 डॉक्टरों को विधानसभा अध्यक्ष और स्वास्थ्य मंत्री ने दैनिक भास्कर ‘डॉक्टर्स प्राइड अवार्ड’ से किया सम्मानित

कोरोना काल में बिहार की जिंदगी को सजाने-संवारने वाले व बिहार को स्वस्थ बनाने वाले आप सभी डॉक्टरों को हमारा नमन। भारत के अंदर भयावहता को कम करने में आप डॉक्टरों की भूमिका अहम रही। आप सब के ही कारण आज भारत अंधकार से उजाले की ओर बढ़ा है। यह बातें शनिवार को मुख्य अतिथि व बिहार विधान सभा के अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा ने कहीं।

उन्होंने कहा कि एक ओर जहां सोशल मीडिया कोरोना काल में लोगों को डरा रहा था, वहीं दैनिक भास्कर सकारात्मक खबरें प्रकाशित कर हम सभी की हिम्मत बढ़ाते रहा। मौका था होटल मौर्या में दैनिक भास्कर की ओर से आयोजित ‘डॉक्टर्स प्राइड अवॉर्ड’ का। इसमें विभिन्न विभागों के कुल 63 डॉक्टरों को ‘डॉक्टर्स प्राइड अवॉर्ड’ से सम्मानित किया गया।

कार्यक्रम का उद्घाटन मुख्य अतिथि व बिहार विधानसभा के अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा, स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय, दैनिक भास्कर, बिहार-झारखंड के सीईओ सौरेंद्र चटर्जी, दैनिक भास्कर, बिहार के एडिटर सतीश सिंह और भुटानी इंफ्रा के डायरेक्टर आउटस्टेशन विपिन बिहारी ने दीप प्रज्ज्वलित कर किया।

बिहार का रिकवरी रेट 98.95%, अब सिर्फ 1247 एक्टिव केस

इस माैके पर स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि कोविड के टीकाकरण की शुरुआत होते ही अब देश उजाले की ओर बढ़ चला है। कोविड काल में डॉक्टरों ने अपनी जान का बिना परवाह किए कोविड मरीजों के साथ-साथ आम मरीजों की सेवा की। वैसे डॉक्टरों को दैनिक भास्कर समूह की ओर से सम्मानित करने पर हम सभी गौरवान्वित महसूस कर रहे हैं।

उन्होंने दैनिक भास्कर परिवार का हृदय से आभार व्यक्त किया। स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा, हम सभी को यही इंतजार था कि हम कब कोरोना वायरस के अंधकार से बाहर निकलेंगे। लेकिन, 16 जनवरी को भारतीय वैज्ञानिकों ने उस इंतजार की घड़ी को खत्म कर दिया। कभी चिकित्सा विज्ञान में हमारे पास यह संकट हुआ करता था कि हम महामारी के वक्त या मुश्किल परिस्थिति में दूसरे देशों की ओर देखते थे।

लेकिन, आज भारतीय वैज्ञानिकों ने स्वदेशी वैक्सीन का निर्माण कर पूरी दुनिया को अपना महत्व बता दिया। उन्होंने आगे कहा कि 12 करोड़ की आबादी वाले बिहार में कोरोना से काफी कम मृत्यु हुई। यहां का रिकवरी रेट 98.95 फीसदी है। अब बिहार में सिर्फ 1247 ही एक्टिव केस बचे हैं। जबकि, अब तक दो लाख 57 हजार लोग कोरोना को मात देकर स्वस्थ हो चुके हैं।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज आसपास का वातावरण सुखद बना रहेगा। प्रियजनों के साथ मिल-बैठकर अपने अनुभव साझा करेंगे। कोई भी कार्य करने से पहले उसकी रूपरेखा बनाने से बेहतर परिणाम हासिल होंगे। नेगेटिव- परंतु इस बात का भी ध...

    और पढ़ें