• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Lalu Prasad Yadav Rabri Yadav | CBI Raid At Lalu Yadav Patna Delhi Residence Latest News And Updates

लालू पर CBI की रेड, अफसरों से धक्कामुक्की:दिल्ली समेत 16 ठिकानों पर छापा, नौकरी के बदले जमीन लेने पर लालू-राबड़ी और दो बेटियों पर FIR

पटना3 महीने पहले

बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव और उनके परिवार के 16 ठिकानों पर शुक्रवार को CBI ने छापेमारी की है। पटना में राबड़ी देवी के आवास पर RJD कार्यकर्ताओं ने जमकर हंगामा किया। सीबीआई के खिलाफ नारेबाजी की। अफसरों के साथ धक्कामुक्की और अभद्रता की गई। महिला अफसर नीतू कुमारी को भी घेर लिया। अपशब्दों का इस्तेमाल किया गया।

सीबीआई के कई अफसरों को राबड़ी देवी के आवास के मुख्य गेट के बजाए दूसरे गेट से निकाला गया। एक ही कार में सीट से ज्यादा अफसरों को बैठा कर भेजा गया। अफसरों को बाहर निकालने के लिए राबड़ी और तेज प्रताप को गेट के बाहर आना पड़ा। वहां RJD कार्यकर्ता नारेबाजी और धक्कामुक्की कर रहे थे। इससे नाराज होकर राबड़ी देवी को थप्पड़ भी दिखाना पड़ा।

रेलवे भर्ती बोर्ड के ग्रुप डी में हुई गड़बड़ी के मामले में ये कार्रवाई हुई है। आरोप है कि रेलवे में नौकरी देने के बदले एक लाख स्क्वॉयर फीट से ज्यादा की जमीन उपहार में ली गई है। रेलवे में नौकरी पाने वाले लोगों के घरों में भी सीबीआई ने छापा मारा है।

सीबीआई ने शुक्रवार को ही लालू प्रसाद यादव, राबड़ी देवी, बेटी मीसा भारती और हेमा यादव समेत 15 लोगों पर केस दर्ज किया। पटना में राबड़ी देवी और बड़े बेटे तेजप्रताप यादव से CBI अलग-अलग कमरों में पूछताछ की। पूछताछ के लिए 3-3 अफसरों की दो टीमें बनाई गई है। वहीं दिल्ली में मीसा भारती के आवास पर लालू यादव से CBI के एसपी और डीएसपी स्तर के अफसर पूछताछ की। लालू से भर्ती से जुड़ी फाइलों के बारे में जानकारी ली गई।

मीसा भारती के आवास पर लालू से मिलने एक सप्ताह पहले बीजेपी नेता हुक्म देव नारायण यादव पहुंचे थे।
मीसा भारती के आवास पर लालू से मिलने एक सप्ताह पहले बीजेपी नेता हुक्म देव नारायण यादव पहुंचे थे।

1 लाख 5 हजार स्क्वॉयर फीट जमीन नौकरी के बदले ली
सीबीआई के विज्ञप्ति के मुताबिक रेल मंत्री रहते हुए लालू ने 2004-2009 के दौरान समूह 'डी' में नियुक्ति के बदले में अपने परिवार के सदस्यों के नाम पर जमीनें ट्रांसफर कराई। यह जमीन 1 लाख 5 हजार 292 स्क्वॉयर फीट है। यह सारी जमीन पटना में हैं। ये जमीनें लालू के परिवार से संचालित कंपनी के नाम पर गिफ्ट के तौर पर लिया गया है।

बिना विज्ञप्ति के भर्ती की

सीबीआई ने कहा है कि यह भी आरोप है कि क्षेत्रीय रेलवे में ऐसी नियुक्ति के लिए कोई विज्ञापन या कोई सार्वजनिक नोटिस जारी नहीं किया गया था। फिर भी पटना के निवासी नियुक्तियों को , जबलपुर, कोलकाता, जयपुर और हाजीपुर में स्थित विभिन्न क्षेत्रीय रेलवे में नियुक्ति दी गई।

इन पर एफआईआर: लालू-राबड़ी के अलावा मीसा भारती, हेमा यादव, राज कुमार सिंह,मिथिलेश कुन्नार, अजय कुन्नारी, संजय राय, धर्मेंद्र राय, विकास कुमार, पिंटू कुमार, दिलचंद कुमार
प्रेम चंद कुमार, लाल चंद कुमार, हृदयानंद चौधरी, अभिषेक कुमार पर एफआईआर दर्ज की है।

लालू ने डॉक्टर बुलाने की मांग की
छापे के दौरान लालू प्रसाद यादव ने सीबीआई के अफसरों से डॉक्टर बुलाने की मांग की। उन्होंने ने कहा कि मेरी तबीयत ठीक नहीं है आप पहले डॉक्टर को बुला लीजिए। इसके साथ ही 2 वकीलों को भी बुलाया गया था। पटना में राबड़ी देवी से पूछताछ के लिए महिला IPS अफसर भी पहुंची है।

सुशील मोदी ने कहा- भ्रष्टाचार का नया तरीका
बिहार से भाजपा के सांसद और पूर्व डिप्टी CM सुशील मोदी ने कार्रवाई को लेकर कहा कि लालू के रेल मंत्री रहते भ्रष्टाचार का एक नया तरीका अपनाया गया था। लोगों को रेलवे के डी ग्रुप की नौकरी दी गई और बदले में उनसे पैसे की जगह जमीन ली गई।

इधर, पटना में CBI की कार्रवाई के विरोध में राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के कार्यकर्ताओं ने जमकर हंगामा किया। राजद कार्यकर्ताओं ने छापे को राजनीति से प्रेरित बताते हुए इसे धरना और प्रदर्शन शुरू कर दिया है। छापे की शुरुआत में अफसरों ने लालू के बड़े बेटे तेजप्रताप को पेड़ के नीचे बैठा दिया था।

पोल में हिस्सा लेकर अपनी राय दे सकते हैं...

राबड़ी आवास पर CBI की 8 सदस्यीय टीम
पटना में CBI की 8 सदस्यीय टीम 10 सर्कुलर रोड स्थित राबड़ी आवास पर पहुंची। टीम में महिला और पुरुष अधिकारी दोनों ही शामिल हैं। इस दौरान आवास में किसी को भी आने-जाने से रोक दिया गया। टीम दस्तावेजों को खंगाल रही है। पूर्व CM और लालू यादव की पत्नी राबड़ी देवी से पूछताछ की भी खबर है।

राबड़ी आवास के बाहर खड़े सुरक्षाकर्मी और मीडियाकर्मी।
राबड़ी आवास के बाहर खड़े सुरक्षाकर्मी और मीडियाकर्मी।

राजद कार्यकर्ताओं का प्रदर्शन
इधर, कार्रवाई की जानकारी मिलते ही राबड़ी आवास के बाहर कार्यकर्ताओं की भीड़ लग गई। कार्यकर्ता केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी कर रहे हैं। उनका कहना है कि ये सत्ता का दुरुपयोग है। विधान परिषद में मिली सफलता से BJP डर गई है। इसके चलते ये छापेमारी की गई है।

CBI रेड के दौरान लालू परिवार की बेचैनी देखिए:तेज प्रताप कराते रहे मसाज, राबड़ी टहलती रहीं; मीसा ने टीम को 'सी-ऑफ' किया

गोपालगंज में चार घंटे चली छापेमारी
गोपालगंज में राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के करीबी और स्वरेजी हाई स्कूल के शिक्षक देवेंद्र यादव के घर करीब चार घंटे छापेमारी चली। CBI की टीम आवश्यक कागजात के साथ देवेंद्र को भी अपने साथ ले गई। उनका घर उचकागांव थाना के इटावा गांव में है।

राबड़ी देवी के आवास के सामने एक पोस्टर लगाया गया है जिसमें लालू प्रसाद पुष्पा फिल्म का डायलॉग 'मैं झुकेगा नहीं' बोलते हुए दिख रहे हैं।
राबड़ी देवी के आवास के सामने एक पोस्टर लगाया गया है जिसमें लालू प्रसाद पुष्पा फिल्म का डायलॉग 'मैं झुकेगा नहीं' बोलते हुए दिख रहे हैं।

नीतीश-लालू की नजदीकी से बौखलाई भाजपा
राजद के विधायक मुकेश रोशन राबड़ी देवी के आवास पर पहुंचे और उन्होंने कहा कि जब से नीतीश कुमार और तेजस्वी यादव के बीच नजदीकियां बढ़ी हैं तब से भाजपा का सिर दर्द बढ़ गया है और केंद्र सरकार ने अपने तोते CBI को राबड़ी देवी के आवास पर भेज दिया है। ऐसे समय में यह छापेमारी ठीक नहीं है, जब लालू प्रसाद का दिल्ली में इलाज चल रहा है और तेजस्वी यादव भी बाहर हैं।

जीतनराम मांझी ने तेजस्वी पर साधा निशाना
सीबीआई रेड पर तरह-तरह की प्रतिक्रिया सामने आ रही है। राजद जहां इसे सत्ता का दुरुपयोग बता रहा है। वहीं पूर्व सीएम जीतनराम मांझी ने इशारों में लालू के छोटे बेटे तेजस्वी पर निशाना साधा है।

उन्होंने ट्‌वीट किया- घर का भेदी लंका ढाए, मौका देखकर बाहर उड़ जाए। बता दें कि एक दिन पहले ही तेजस्वी अपनी पत्नी के साथ लंदन रवाना हुए हैं।

लालू के नाम IRCTC के बाद RRB घोटाला
रेलवे घोटाले का जिन्न एक बार फिर से RJD सुप्रीमो और पूर्व रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। सीबीआई ने रेलवे रिक्रूटमेंट बोर्ड (RRB) घोटाले में नई एफआईआर दर्ज की है। मामला नौकरी के बदले जमीन लेने से जुड़ा है। ये जमीन पटना के खटाल इलाके में हैं। सीबीआई ने रेड से पहले नौकरी के बदले जमीन देने वालों की जांच की, फिर रेड मारी। पढ़िए पूरी खबर

चारा घोटाले के डोरंडा ट्रेजरी में 5 साल की हुई थी सजा
चारा घोटाले के सबसे बड़े मामले डोरंडा कोषागार से अवैध निकासी के मामले में लालू को 5 साल की सजा और 60 लाख का जुर्माना लगा था। पिछले महीने ही झारखंड हाईकोर्ट से उनको जमानत मिली है। 66 दिन जेल में बिताने के बाद उन्हें 10 लाख रुपए बॉन्ड के साथ जमानत दी गई है। इसके साथ ही हाई कोर्ट से परमिशन लिए बिना देश छोड़ने और मोबाइल बदलने पर भी पाबंदी लगा दी गई है। पढ़िए पूरी खबर

सोशल मीडिया पर निकला राजद फैन्स का गुस्सा

लालू प्रसाद के ठिकानों पर सीबीआई की छापेमारी को लेकर राजद कार्यकर्ता खासे नाराज हैं। सोशल मीडिया पर वो अपनी भड़ास निकाल रहे हैं। कोई CBI को तोता बोल रहा है तो कोई इस कार्रवाई को परेशान करने वाली पॉलिटिक्स बता रहा है। पढ़िए पूरी खबर