• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • The Theory Examination Of Bose Will Be Held In Two Shifts From January 17 To 29 At Two Centers In Hajipur.

परीक्षा:हाजीपुर के दो केंद्रों पर 17 से 29 जनवरी तक दो पालियों में होगी बी बोस की सैद्धांतिक परीक्षा

हाजीपुर5 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

बीबोस के लिए शिक्षा विभाग ने तैयारी शुरू कर दी है। बिहार मुक्त विद्यालयी शिक्षण एवं परीक्षा बोर्ड की ओर से माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक स्तरीय द्वितीय सैद्धांतिक विषयों की परीक्षा 17 जनवरी से कोविड सुरक्षा के बीच शुरू होगी। परीक्षा 29 जनवरी तक तक दो पालियों में संचालित की जाएगी। जिसमें प्रथम पाली 9:30 से 12:30 बजे एवं द्वितीय पाली 1:15 बजे से शाम 4:15 बजे तक संचालित की जाएगी। परीक्षा की सभी प्रशासनिक तैयारी पूरी कर ली गयी है। प्रवेश पत्र के आधार पर परीक्षार्थी परीक्षा देंगे। फोटो में किसी प्रकार की छेड़छाड़ या संदेह की स्थिति में तुरंत जाँच कर कार्रवाई की जाएगी। बिहार परीक्षा संचालन अधिनियम 1981 के प्रावधानों के अनुसार परीक्षा में अनुचित तरीके अपनाने , षड्यंत्र करने एवं अन्य कदाचार से जुड़े कार्यों के लिए कोई भी दोषी हो तो वे दण्ड के भागी होंगे। माध्यमिक एवं उच्च माध्यमिक स्तर के लिए अलग - अलग परीक्षार्थियों को अपना स्थान खोजने में असुविधा न हो। एक लंबे बेंच पर दो से अधिक परीक्षार्थियों तथा सिंगल बेंच पर एक से अधिक नही बैठ सकेंगे। जांच-पड़ताल के बाद परीक्षा कक्ष में मिलेगा पवेश: कदाचारमुक्त व शांतिपूर्ण परीक्षा संचालन के लिए हाजीपुर अनुमंडल में दो परीक्षा केंद्र बनाए गए है जिसमें डॉ. राम बालक राय कॉलेज एवं शुखदेव मुखलाल इंटरमीडिएट कॉलेज निर्धारित किये गए है। परीक्षा के लिए प्रश्न - पत्रों के गोपनीय पैकेटों को बोर्ड के प्रतिनिधि द्वारा उपलब्ध करा दिया गया है। परीक्षा के लिए स्टैटिक दण्डाधिकारी दण्डाधिकारी, पुलिस पदाधिकारी एवं पुलिस बल की प्रतिनियुक्ति कर दी गयी है। कोई परीक्षार्थी अमान्य उपकरण, चिट पुर्जा, पुस्तक गाइड आदि के साथ परीक्षा भवन में प्रवेश नहीं करें , इसके लिए प्रवेश द्वार पर जाँच - पड़ताल की कड़ी व्यवस्था रहेगी। परीक्षा केन्द्र के परीक्षा कक्ष में किसी प्रकार के इलेक्ट्रॉनिक उपकरण यथा मोबाइल , ब्लूटूथ , पेजर आदि रखने की अनुमति नहीं होगी। परीक्षा प्रारम्भ होने के पूर्व परीक्षा केन्द्र के बाहर निरोधात्मक सूचना लगायी जाएगी ताकि कोई परीक्षार्थी नकल करने वाले उपकरणों के साथ परीक्षा केन्द्र के भीतर प्रवेश न करें।

खबरें और भी हैं...