• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • This Time In Bihar, The Cold Will Not Chill Much, The Temperature From The Mountains To The Plain Is Also Expected To Be Normal

मौसम विभाग का पूर्वानुमान:बिहार में इस बार बहुत नहीं ठिठुराएगी ठंड, पहाड़ों से मैदान तक तापमान भी सामान्य रहने के आसार

पटना2 महीने पहलेलेखक: अनिरुद्ध शर्मा
  • कॉपी लिंक
सर्द दिनों व अत्यधिक सर्द दिनों की संख्या औसत से कम हो सकती है। - Dainik Bhaskar
सर्द दिनों व अत्यधिक सर्द दिनों की संख्या औसत से कम हो सकती है।

इस बार सर्दियों में दिसंबर-फरवरी के दौरान देश के पहाड़ी राज्यों जम्मू-कश्मीर, लद्दाख, हिमाचल प्रदेश व उत्तराखंड और उत्तर के मैदानी व गंगा वाले राज्यों पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान, उत्तर प्रदेश, बिहार व मध्य प्रदेश, पूर्वोत्तर राज्यों में सर्दियां सामान्य रहेंगी। अधिकतम व न्यूनतम तापमान सामान्य या सामान्य से अधिक रहेंगे।

हालांकि उत्तर भारत के स्थान विशेष पर कभी-कभी एक से दो दिन के लिए भीषण सर्दी का दौर आ सकता है लेकिन इस वर्ष सर्द दिन (कोल्ड डे) और अत्यंत सर्द दिन (सीवियर कोल्ड डे) की संख्या बीते वर्षों की तुलना कम रहेगी। उधर, देश के दक्षिणी राज्यों में अधिकतम व न्यूनतम तापमान सामान्य से कम रहने की संभावना है। दिसंबर महीने में दक्षिणी राज्यों तमिलनाडु, केरल, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना व पुड्‌डुचेरी में सामान्य से अधिक बारिश यानी 132 फीसदी से अधिक होने की संभावना है।

मौसम पूर्वानुमान मॉडल के आधार पर यह कहा गया : मौसम विभाग
मौसम विभाग के महानिदेशक डॉ. मृत्युंजय महापात्र ने कहा कि विभाग ने मानसून मिशन पूर्वानुमान मॉडल सहित दुनिया के पांच सबसे प्रमुख मौसम पूर्वानुमान मॉडल के औसत के आधार पर यह पूर्वानुमान लगाया है। उन्होंने बताया कि भारतीय मौसम को प्रभावित करने वाले समुद्री सतह के तापमान में सामान्य से 0.7 डिग्री सेल्सियस तक की कमी है।

प्रशांत महासागर में कमजोर ला-नीना दशाएं जारी हैं जिसके कारण अगले तीन महीने के दौरान मध्यम स्थिति तक रहने की संभावना बनी है। हिंद महासागर में तटस्थ आईओडी की स्थिति है जिसके अगले तीन महीने तक इसी स्थिति में बने रहने की संभावना है।

दक्षिण में इस महीने भी भारी बारिश के आसार
दिसंबर में दक्षिण भारत के राज्यों में सामान्य से 132 फीसदी तक ज्यादा बारिश होने की संभावना है। महापात्र ने बताया कि बीते नवंबर महीने में 121 वर्ष के मौसम विभाग के रिकॉर्ड में सर्वाधिक बारिश हुई है।

खबरें और भी हैं...