पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

चयनित:इनोवेटिव फार्मर एवं इनोवेटिव फेलो अवार्ड के लिए पूरे बिहार से तीन किसान हुए चयनित

हाजीपुर10 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद की ओर कृषि यंत्रीकरण के क्षेत्र में बेहतर कार्य करने वाले वैशाली जिले के दो किसान को चयनित किया गया है। देश स्तर पर पांच किसानों को इन्नोवेटिव फार्मर एवं इन्नोवेटिव फेलो अवार्ड से सम्मानित किया जाता है। पूरे बिहार से तीन किसान को इस अवार्ड के लिए के लिए चयनित किया गया है। जिसमें पहली बार वैशाली जिले के दो जागरूक युवा किसान को 25 फरवरी को भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद पूसा में आयोजित किसान मेला में पीएम नरेंद्र मोदी या केंद्रीय कृषि मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर के हाथों सम्मानित करने की संभावना है।

कृषि विज्ञान केंद्र वैशाली के वरीय वैज्ञानिक सह प्रधान डाॅ. सुनीता कुशवाहा ने बताया की राजापाकर प्रखंड के खलील फरीदपुर बखरी निवासी किसान मो. मुशर्रफ खलील को कृषि यंत्रीकरण के क्षेत्र एवं लालगंज प्रखंड के नामीडिह निवासी किसान जितेंद्र प्रसाद सिंह समेकित कृषि प्रणाली के क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य के लिए इन्नोवेटिव फार्मर एवं इन्नोवेटिव फेलो अवार्ड 2020 से पुरस्कृत किया जाएगा।

नवीनतम तकनीकों अपनाकर किसान ने किया अधिकतम उत्पादन: कृषि विज्ञान केंद्र, वैशाली की वरीय वैज्ञानिक सह प्रधान डाॅ. सुनीता कुशवाहा ने हर्ष व्यक्त करते हुए कहा कि देश स्तर पर आयोजित इन्नोवेटिव फार्मर एवं इन्नोवेटिव फेलो अवार्ड से 2020 के लिए जिले के पहली बार एक साथ दो किसानों का चयन होना किसान एवं केंद्र के वैज्ञानिकों के लिए गर्व की बात है। भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद ने बिहार से तीन किसान को पुरस्कार के लिए आईएआरआई ने चयन किया है। दोनों किसान को कृषि विज्ञान केंद्र वैशाली से मिले नवीनतम तकनीकों को अपनाकर अधिकतम उत्पादन प्राप्त किया है। चयनित दोनों ही किसान भाई अपने अपने क्षेत्र में अन्य किसानों को नवीनतम तकनीकी की देते है। कृषि के प्रति उनकी सच्ची लगन और उपलब्धी को देखते हुए इस वर्ष भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद चयनित किसान भाइयों को सम्मानित करने का निर्णय लिया है।

विश्वविद्यालय के मार्गदर्शन का है परिणाम
चयनित किसान मो. मुशर्रफ खलील एवं जितेंद्र प्रसाद सिंह ने बताया कि पिछले आठ से दस वर्षों से कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिकों के मार्ग दर्शन में समेकित प्रणाली, हाई डेंसिटी मैनेजमेंट के साथ कृषि कार्य करने का परिणाम है। केंद्र की वरिष्ठ वैज्ञानिक डॉ. सुनीता कुशवाहा ने कहा कि केंद्र डॉ. एमएस कुंडू निदेशक प्रसार शिक्षा के दिशा निर्देशन में कार्य कर रहा है। डॉ. राजेंद्र प्रसाद केंद्रीय कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति डॉ. आरसी श्रीवास्तव के मार्गदर्शन में नवीनतम तकनीकी जानकारी किसान भाईयों को उपलब्ध कराई जा रही है। जिले से दो किसान को चयनित होने पर विश्वविद्यालय की टीम ने कृषि विज्ञान केंद्र वैशाली की टीम ने चयनित किसान को बधाई भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद को भी धन्यवाद दिया है।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- आज समय कुछ मिला-जुला प्रभाव ला रहा है। पिछले कुछ समय से नजदीकी संबंधों के बीच चल रहे गिले-शिकवे दूर होंगे। आपकी मेहनत और प्रयास के सार्थक परिणाम सामने आएंगे। किसी धार्मिक स्थल पर जाने से आपको...

    और पढ़ें