• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Till September This Year, 550 Children Suffering From Serious Diseases Were Given Free Surgeries In Government Hospitals.

सरकार सर्जरी की व्यवस्था मुफ्त उपलब्ध करा रही:इस साल सितंबर तक गंभीर बीमारियों से ग्रसित 550 बच्चों की सरकारी अस्पतालों में की गई मुफ्त सर्जरी

पटनाएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा- राज्य में सरकारी अस्पताल में की जा रही बच्चों व किशोरों की मुफ्त सर्जरी। - Dainik Bhaskar
स्वास्थ्य मंत्री ने कहा- राज्य में सरकारी अस्पताल में की जा रही बच्चों व किशोरों की मुफ्त सर्जरी।

बिहार में सितंबर महीने तक गंभीर बीमारियों से ग्रसित 550 बच्चों की मुफ्त सर्जरी सरकारी अस्पतालों में की गई है। स्वास्थ्य विभाग के अनुसार राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम के अंतर्गत राज्य में छोटे बच्चों व किशोरों के इलाज के लिए योजना बनाकर कार्य किए जा रहे हैं। कई रोगों से ग्रसित ऐसे बच्चे, जिनको गंभीर सर्जरी की जरूरत थी।

उनके लिए सरकार सर्जरी की व्यवस्था मुफ्त उपलब्ध करा रही है। राज्यभर में इस साल सितंबर माह तक जन्म से लेकर 18 वर्ष तक के जिन बच्चों की विभिन्न बीमारियों की मेजर सर्जरी सरकारी अस्पतालों में मुफ्त हुई है, उनमें न्यूरल ट्यूब डिफेक्ट से ग्रसित 13 बच्चों की सर्जरी इस साल की गई। डेवलपमेंट डिस्प्लेसिया ऑफ हिप से ग्रसित 2 बच्चों का मुफ्त सर्जरी की गई है।

वहीं क्लबफुट से ग्रसित 307, क्लेफ्ट लिप 7, क्लेफ्ट पैलेट 5, क्लेफ्ट लिप एंड पैलेट 11, जन्मजात हृदय रोग (सीएचडी) 182, आंख की बीमारी से ग्रसित 18 व कान की बीमारी से संबंधित 5 बच्चों की सर्जरी राज्य भर के अलग-अलग सरकारी मेडिकल कॉलेज सह अस्पतालों में की गई है।

राज्य में काम कर रही मोबाइल हेल्थ टीम

स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडेय ने कहा कि इन सभी रोगों के इलाज के लिए राज्य में मोबाइल हेल्थ टीम काम करती है। राज्य के जिन मेडिकल कॉलेज व अस्पतालों में इनकी सर्जरी की जाती है उनमें आईजीआईएमएस, आईजीआईसी पटना, एम्स पटना, पीएमसीएच पटना, एनएमसीएच गया, जेएलएनएमसीएच भागलपुर, एसकेएमसीएच मुजफ्फरपुर, डीएमसीएच, दरभंगा शामिल है। बच्चों को विभिन्न बीमारियों में इस कार की सर्जरी की जरूरत तभी पड़ती है, जब गर्भवती महिलाओं में किसी प्रकार की कमी रह जाती है। इसलिए गर्भवती महिलाओं को जागरूक रहने की जरूरत है।