पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अब भी दिल्ली से ज्यादा प्रदूषित हमारा शहर:पटना की सड़कों पर कम चलीं गाड़ियां तो एक्यूआई लेवल 350 से घटकर हुआ 288

पटना2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सबसे अधिक प्रदूषण तारामंडल, सबसे कम बीआईटी के पास

राजधानी की सड़कों पर वाहनों की संख्या कम हुई तो एक्यूआई लेवल में कमी आई है। रविवार दिन होने के कारण सरकारी एवं प्राइवेट कंपनी आज बंद है, जिसके कारण सड़क पर वाहनों का परिचालन कम हुआ है। इसका असर सीधे शहरवासियों को सांस पर पड़ी है। वाहन कम होने के कारण राजधानी के एयर क्वालिटी इंडेक्स लेवल 350 से सीधे 288 पर आ गई है।

यानी शनिवार तक शहर की हवा बहुत खराब थी और रविवार को जब वाहन कम चली तो लेवल सिर्फ खराब पर आ पहुंचे। रविवार को लगातार चौथे दिन दिल्ली से अधिक वायु प्रदूषण पटना में बना रहा। पटना का एयर क्वालिटी इंडेक्स लेवल 288, जबकि दिल्ली का 256 है। मुजफ्फरपुर का 242, जबकि गया का 134 है। पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड की एयर क्वालिटी इंडेक्स मॉनिटरिंग मशीन की शाम 5:05 बजे की रिपोर्ट के अनुसार राजधानी के तारामंडल, दानापुर सहित अन्य इलाकों में प्रदूषण अधिक है।

12 लाख से अधिक वाहन, रविवार को सात लाख वाहन ही सड़क पर उतरे

पटना शहरी क्षेत्र में वाहनों की बढ़ती संख्या प्रदूषण वृद्धि का बड़ा कारण है। वायु प्रदूषण के साथ ही ध्वनि प्रदूषण लोगों को अस्वस्थ करने में अहम भूमिका निभा रहा है। पटना में 12 लाख से अधिक वाहन हैं। रविवार को सरकारी एवं प्राइवेट कार्यालय बंद होने के कारण इसमें करीब सात लाख वाहन सड़कों पर उतरे। करीब 5 लाख वाहन घरों में रहे।

पटना में सबसे अधिक वायु प्रदूषण 21 फीसदी वाहनों से होता हैै। दिसंबर, 2019 और जनवरी-फरवरी, 2020 में जब राजधानी में पॉल्यूशन लेवल गंभीर स्थिति पर पहुंच गया था तो सरकार ने एक्शन लिया था। इसमें इस बात की भी चर्चा हुई थी कि सबसे अधिक वायु प्रदूषण वाहनों सेे होता है।

डीजल, केरोसिन से चलने वाले ऑटो को करना होगा बंद, तब कम होगा पॉल्यूशन

अनुग्रह नारायण महाविद्यालय, जैव प्रौद्योगिकी विभाग के डॉ. मनीष कंठ बताया कि रविवार को सरकारी एवं प्राइवेट कार्यालय बंद रहते हैं। इस वजह से शहर में वाहनों का परिचालन अन्य दिनों की तुलना में करीब 65 फीसदी कम होता है। इस वजह से एयर क्वालिटी इंडेक्स लेवल में कमी आती है। पॉल्यूशन का सबसे बड़ा कारण शहर में अधिक वाहन है।

ऊपर से आसपास के करीब 20 हजार वाहनों का दबाव भी हर दिन बढ़ गया है। इन सबमें डीजल और केरोसिन से चलने वाले ऑटो से सबसे अधिक पॉल्यूशन होता है। इसके अलावा शहर में चलनेे वाली पीली छोटी सिटी बस हैं, जिनसे काफी अधिक प्रदूषण फैलता है। सरकार को चाहिए कि ऐसे वाहनों की कड़ाई से जांच करा कर दाेषियाें पर कार्रवाई करे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- व्यस्तता के बावजूद आप अपने घर परिवार की खुशियों के लिए भी समय निकालेंगे। घर की देखरेख से संबंधित कुछ गतिविधियां होंगी। इस समय अपनी कार्य क्षमता पर पूर्ण विश्वास रखकर अपनी योजनाओं को कार्य रूप...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser