पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ट्विटर के खिलाफ सुनवाई टली:ट्विटर इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर के खिलाफ केस की सुनवाई 19 सितंबर को; भारत की संप्रभुता को आहत करने का आरोप

पटना20 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
ट्विटर इंडिया के प्रबंध निदेशक (MD) मनीष माहेश्वरी। - Dainik Bhaskar
ट्विटर इंडिया के प्रबंध निदेशक (MD) मनीष माहेश्वरी।

माइक्रोब्‍लॉगिंग साइट ट्विटर इंडिया पर पटना में भारत की संप्रभुता के खिलाफ जाने के खिलाफ दर्ज केस की सुनवाई 19 सितंबर को होगी। ट्विटर इंडिया के प्रबंध निदेशक (MD) मनीष माहेश्वरी के खिलाफ चीफ ज्यूडिशियल मजिस्ट्रेट (CJM) के कोर्ट में मामला दर्ज करवाया गया था। शिकायत वाद सुनवाई के लिए स्वीकार कर ली गई है।

शिकायत दर्ज कराने वाले सामाजिक कार्यकर्ता संजय रुंगटा ने आरोप लगाया था कि भारत के नक्शे के साथ बार-बार छेड़छाड़ किए जाने और भारत सरकार द्वारा कई बार चेतावनी दिए जाने के बावजूद ट्विटर बाज नहीं आ रहा है। ट्विटर के इस रवैये से साबित होता है कि वह भारत की सार्वभौमिकता के साथ देश को बदनाम करने की कोशिश कर रहा है।

शिकायत वाद में कहा गया है कि ट्विटर एक सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म है, जहां लोग अपने मैसेज और विचार को साझा करते हैं। इसे पूरे विश्व के लोगों द्वारा गंभीरता से लिया जाता है। ट्विटर से इस बात की अपेक्षा की जाती है कि इस प्लेटफॉर्म का दुरुपयोग नहीं हो और इस प्लेटफॉर्म से वैसी कोई चीज नहीं आए जो किसी की सभ्यता, सामाजिक अनुभूति और भारत तथा भारतीयों के सुरक्षा के विरुद्ध हो।

नक्शे में छेड़छाड़ पर भड़का गुस्सा

शिकायत में संजय रुंगटा ने आरोप लगाया है कि 12 नवंबर 2020 को ट्विटर ने भारत के नक्शे से छेड़छाड़ करते हुए लद्दाख को भारत के नक्शे से हटाकर चीन का हिस्सा दिखाया था। भारत सरकार ने कड़ी आपत्ति दर्ज कराई बावजूद इसके ट्विटर ने 28 मई 2021 को जम्मू कश्मीर और लद्दाख दोनों राज्यों को भारत के नक्शे से हटा कर एक अलग देश के रूप में प्रदर्शित किया।

वाद में आगे कहा गया है कि भारत सरकार और केंद्र सरकार के IT मंत्रालय द्वारा उक्त बातों को लेकर सिर्फ कई बार शिकायत ही नहीं, बल्कि चेतावनी भी दी गई है कि ऐसे पोस्ट की अनुमति नहीं दें, जिससे देश के सामाजिक ताना-बाना और संस्कृति को नुकसान पहुंचता हो। बावजूद इसके ट्विटर जानबूझकर सरकार के निर्देशों का पालन नहीं कर रहा।

अभियुक्त द्वारा ट्विटर प्लेटफॉर्म का उपयोग देश के संप्रभुता के नुकसान पहुंचाने के लिए किया जा रहा है। इस मामले में भाजपा के सिद्धार्थ शम्भू, प्रेमरंजन पटेल, राजीव रंजन मुख्य गवाह बने हैं।

भारत के मानचित्र से छेड़छाड़ को लेकर ही ट्विटर के खिलाफ उत्तर प्रदेश में भी केस दर्ज कराया गया था। साल 2020 में देश के मानचित्र से छेड़छाड़ पर आपत्ति दर्ज कराने पर ट्विटर ने लिखित तौर पर माफी मांगी थी, लेकिन ट्विटर ने फिर यह गलती दुहराई तो अब बिहार की राजधानी पटना में इस मामले में केस दर्ज कराया गया।

खबरें और भी हैं...