सक्रिय मरीजों की संख्या 1 लाख पार:बेलगाम रफ्तार बेबस बिहार, 35 दिन में ही सक्रिय मरीज 100000 पार

पटना6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
फाइल फोटो - Dainik Bhaskar
फाइल फोटो
  • बिहार में 26 मार्च को 1 हजार सक्रिय केस थे अब 100821
  • पिछले 24 घंटे में 13089 नए मरीज मिले, पटना में 2186
  • कंफर्म केस के मामले में 22% पटना में, दूसरे नंबर पर गया जिला

कोरोना की दूसरी लहर में 35 दिन में ही सक्रिय मरीजों की संख्या 1 लाख के पार कर गई है। 26 मार्च को राज्य में सक्रिय मरीजों की संख्या जहां 1 हजार थी, वहीं गुरुवार को यह संख्या 100821 हो गई। कोरोना की दूसरी रफ्तार इतनी तेज है कि पिछले 11 दिन में ही 50 हजार से अधिक और बीते 24 घंटे में ही 13089 कोरोना के नए मरीज मिले हैं। सबसे अधिक 2186 संक्रमित पटना में मिले हैं।

चिंता की बात
चिंता की बात

गया में लगातार दूसरे दिन एक हजार से अधिक यानी 1128 संक्रमित मिले। हालांकि राज्य में पिछले 24 घंटे में 10926 मरीज ठीक भी हुए हैं। राज्य का रिकवरी दर 77.27 प्रतिशत है। पिछले 24 घंटे में 89 मरीजों की मौत हुई है। 29 अप्रैल तक संक्रमितों की कुल संख्या 454464 हो गई है। जिनमें से 351162 लोग ठीक हो चुके हैं।

7 दिनों से 1.7% की दर से बढ़ रहे मरीज, 22% है एक्टिव रेशियो

कंफर्म केस के मामले में 22% पटना में, दूसरे नंबर पर गया जिला
कंफर्म केस के मामले में 22% पटना में, दूसरे नंबर पर गया जिला

28 अप्रैल तक बिहार में कुल कंफर्म केस 4,41,375 थे जिनमें से अकेले करीब 22 फीसदी (97,017) प्रदेश की राजधानी पटना में थे। गया दूसरा सर्वाधिक संक्रमित जिला है। पटना में सर्वाधिक 2939 कंफर्म केस 21 अप्रैल को आए थे, जबकि सर्वाधिक 2434 रिकवरी 24 अप्रैल को हुई। एक सुकून की बात है कि अभी यहां मृत्युदर 0.5 फीसदी है, जो देश की औसत 1.1 फीसदी के आधे से भी कम है। वहीं देश में टेस्ट के मामले में बिहार तीसरे नंबर पर है। बिहार में 2.6 करोड़ टेस्ट हो चुका है। देश में 1.7 फीसदी के साथ सबसे कम टेस्ट पॉजिटििवटी रेशियो वाला राज्य बन गया है। 1.4% मृत्युदर के साथ दरभंगा सबसे आगे है। शिवहर में मृत्युदर सबसे कम 0.1 फीसदी है।

खबरें और भी हैं...