VIP पार्टी को यूपी में VIP ट्रीटमेंट नहीं:यूपी में VIP गठबंधन होता नहीं देख सहनी भड़के; बोले- कमजोर हैं, लेकिन मजबूर नहीं

पटना5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
मुकेश सहनी, अध्यक्ष, वीआईपी - Dainik Bhaskar
मुकेश सहनी, अध्यक्ष, वीआईपी

यूपी विधानसभा चुनाव में हो रही राजनीति की धमक बिहार में भी देखने को मिल रही है। बिहार की कुछ राजनीतिक पार्टियां अपने विस्तार को लेकर यूपी विधानसभा चुनाव में अपनी किस्मत आजमाना चाह रही है। जिसमें बिहार के सत्तारूढ़ दल में शामिल विकासशील इंसान पार्टी के मुखिया मुकेश सहनी भी शामिल है। मुकेश सहनी यूपी में भाजपा के साथ चुनाव लड़ना चाह रहे थे। सहनी ने मंगलवार को भाजपा को धमकी भरे लहजे में कहा है कि मजबूर हूं, लेकिन कमजोर नहीं।

दरअसल, भाजपा ने मुकेश सहनी को दरकिनार करते हुए, यूपी के संजय निषाद की निषाद पार्टी से गठबंधन कर लिया। ऐसे ही में मुकेश सहनी पूरी तरह से भड़क गए हैं। यूपी का गुस्सा बिहार में निकालने की बात कह रहे हैं। मुकेश सहनी बिहार की सत्तारूढ़ दल में शामिल है और इनके चार विधायक का समर्थन एनडीए सरकार को है।

भ्रम में नहीं रहे भाजपा
बिहार सरकार में पशुपालन मंत्री मुकेश सहनी सीधे तौर पर भाजपा पर हमलावर है। उन्होंने साफ कहा कि हम कमजोर जरूर हैं, लेकिन मजबूर नहीं हैं। सरकार जिन चार कंधों के सहारे यानी कि हम, वीआईपी, जदयू बीजेपी चल रही है, उसमें एक कंधा वीआईपी पार्टी का भी है। ऐसे में भाजपा भ्रम ना रहे। बिहार में सरकार चलाने के लिए जितनी 74 सीट वाली भाजपा की जरूरत है, उतनी ही 4 सीटों वाले वीआईपी की भी जरूरत है। मुकेश सहनी ने इशारों-इशारों में यह कह दिया कि जरूरत पड़ने पर बिहार में वह अपना रंग दिखा देंगे।

निषाद जाति का वोट बैंक सिर्फ 15%
मुकेश सहनी लगातार यूपी चुनाव को लेकर गंभीर हैं। वह कई महीनों से यूपी दौरे में जाकर चुनाव प्रचार कर रहे हैं। उन्होंने उत्तर प्रदेश में 165 विधानसभा सीटों पर चुनाव लड़ने की घोषणा कर दी है। यूपी में मुकेश सहनी की जाति यानी कि निषाद जाति का वोट बैंक 15% है। ऐसे में मुकेश सहनी इस मौके को गंवाना नहीं चाहते हैं।

पहले से वह चाहते थे कि जिस तरह से भाजपा ने बिहार में उनके साथ गठबंधन किया है, उसी तरह से यूपी में भी भाजपा उनके साथ गठबंधन करके चुनाव लड़ती तो अपनी पार्टी को यूपी में भी स्थापित कर लेते। लेकिन ऐसा नहीं होता देख मुकेश सहनी भड़के हुए हैं।

बीजेपी का पलटवार
मुकेश सहनी के भड़के हुए बयान के बाद बीजेपी प्रदेश प्रवक्ता प्रेम रंजन पटेल ने साफ कर दिया यूपी बीजेपी का संगठन अलग है और बिहार बीजेपी का संगठन अलग है। वहां के संगठन को यदि गठबंधन की जरूरत होगी तो गठबंधन करेंगे, नहीं तो यूपी बीजेपी ने कई पार्टियों से गठबंधन किया हुआ है।

अपना दल, निषाद पार्टी जैसे दलों से गठबंधन करके समीकरण के मुताबिक चुनाव लड़ा जा रहा है। बिहार में जिन पार्टियों से गठबंधन है यहां के विकास के लिए है। यहां के गठबंधन को वहां के चुनाव से जोड़कर नहीं देखना चाहिए। गठबंधन का फैसला यूपी भाजपा के संगठन को लेना है।