आज से 12-14 साल तक के बच्चों का वैक्सीनेशन:बिहार में 56 लाख बच्चों को दिया जाएगा कोरोना का टीका; स्पॉट रजिस्ट्रेशन की भी व्यवस्था

पटना6 महीने पहले

आज का दिन इतिहास बन गया है। यह दिन से कोरोना की लड़ाई में बड़ी कड़ी बनी है। देश में एक साथ 12 से 14 वर्ष के बच्चों का वैक्सीनेशन शुरू होगा। बिहार में कुल 5626000 बच्चों का वैक्सीनेशन होगा। पटना के गुरु नानक भवन से बुधवार को दोपहर 12 बजे वैक्सीनेशन का शुभारंभ किया जाएगा। बच्चों के लिए खास बात यह होगी कि स्कूलों के साथ जहां भी सेशन साइट होगी, वहां ऑन स्पॉट रजिस्ट्रेशन की सुविधा दी जाएगी।

पहला टीका लगने के 28वें दिन दूसरी डोज लगाई जाएगी।
पहला टीका लगने के 28वें दिन दूसरी डोज लगाई जाएगी।

जानिए बिहार में कितने बच्चों का होगा वैक्सीनेशन

बिहार में 12 से 13 साल के बच्चों में बालकों की संख्या 1428000 है जबकि बालिकाओं की संख्या 1389000 है। वहीं 13 से 14 वर्ष के वर्ग में बालकों की संख्या 1426000 है जबकि बालिकाओं की संख्या 1383000 है। राज्य में स्वास्थ्य विभाग को कुल 12 से 14 वर्ष के 5626000 बच्चों के वैक्सीनेशन का टारगेट है। 15 से 18 साल में 4.93 लाख बच्चे पटना में है जबकि 12 से 14 में 2.95 लाख हैं। बच्चों के वैक्सीनेशन को लेकर अधिकारियों का कहना है कि 15 से 18 की तरह ही 12 वर्ष वालों का भी टीकाकरण होगा। पटना में 2 लाख 48 हजार डोज वैक्सीन भी आ गई है। लगभग 80 प्रतिशत के लिए पहली डोज आ गई है। जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉक्टर एसपी विनायक का कहना है कि वह पूरी तरह से तैयार हैं।

ऐसे होगी रजिस्ट्रेशन की पूरी प्रक्रिया

वैक्सीनेशन की प्रक्रिया कोविन पोर्टल या आरोग्य सेतु एप से पूरी होगी। दोनों माध्यम से रजिस्ट्रेशन कर सकते हैं। रजिस्ट्रेशन के लिए लिंक https://selfregistration.cowin.gov.in पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन का विकल्प चुनें। इसके बाद मोबाइल नंबर दर्ज करना होगा। इसके बाद संबंधित मोबाइल नंबर पर ओटीपी आएगी उसे दर्ज करना होगा। मोबाइल नंबर पर आए OTP को सब्मिट करते ही नया पेज खुलेगा। इस जेज पर डिटेल भरना होगा। इसमें कोई एक विकल्प चुन आईडी नंबर डालना होगा। फिर नाम , जेंडर और जन्मतिथि भरना होगा। इसी दौरान वैक्सीनेशन सेंटर चुनने भी विकल्प आएगा। पहचान पत्र में आधार कार्ड या मान्य फोटो युक्त परिचय पत्र को वैध किया गया है। पोर्टल पर सेंटर चुनने के बाद सुविधानुसार स्लॉट का चुनाव किया जा सकता है। जिस समय स्लॉट आए उस समय संबंधित सेंटर पर जाकर वैक्सीनेशन कराया जा सकता है। हालांकि, छूट ऑन स्पॉट रजिस्ट्रेशन की भी है, बस अपनी फोटो पहचान पत्र बच्चों को ले जाना होगा।

जानिए, बिहार में 56 लाख बच्चों के वैक्सीनेशन का प्लान

28 दिन पर लगेगा दूसरा डोज

12 से 14 वर्ष के बच्चों को भी बड़ों की तरह निडिल वाली इंजेक्शन 0.5 एमएल वैक्सीन लगाई जाएगी। Corbevax नई वैक्सीन है, इमरजेंसी में भारत सरकार ने इस नई वैक्सीन को 12 से 14 वर्ष के बच्चों के लिए मंजूरी दी है। बायोलॉजिकल ई लिमिटेड हैदराबाद में तैयार हुई वैक्सीन को लेकर जो गाइडलाइन आई है उसके मुताबिक बड़ों की तरह Corbevax की डोज भी 28 दिनों के अंतराल पर लगाई जाएगी। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को प्रशिक्षण में बताया गया है कि कोवैक्सीन और कोवीशील्ड की तरह Corbevax भी निडिल वाली इंजेक्शन से बच्चों के दाहिने हाथ के बाजू में 0.5 एमएल दी जाएगी।

पटना के जिला प्रतिरक्षण पदाधिकारी डॉ. एसपी विनायक का कहना है कि वैक्सीन पूरी तरह से टेस्टेड है और बच्चों के लिए कोरोना की लड़ाई में बड़ा हथियार बनेगी। यह कोरोना की भले ही नई वैक्सीन है, लेकिन इसे बड़ी वैक्सीन कंपनी ने बताया है। कोवैक्सीन और कोवीशील्ड की तरह सह वैक्सीन है जिससे निडिल से ही दी जाएगी। डॉ विनायक का कहना है कि इंजेक्शन लगाने के बाद भी इससे दर्द नहीं होगा। निडिल पतली होगी और प्रशिक्षण में वैक्सीनेटरों को ऐसा ट्रेंड किया जाएगा जिससे जरा भी दर्द नहीं होगा।
जानिए, कैसी होगी बच्चों की वैक्सीन

खबरें और भी हैं...