• Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Vehicle Pollution Testing Centers Provide By Transport Department In Bihar; Bihar Bhaskar Latest News

वाहन प्रदूषण जांच केंद्र खोल पा सकते हैं रोजगार:परिवहन विभाग दे रही 3 लाख का अनुदान, जानिए क्या हैं मापदंड

पटना9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
सांकेतिक तस्वीर। - Dainik Bhaskar
सांकेतिक तस्वीर।

परिवहन विभाग ने राज्य के 35 जिलों के 134 प्रखंडों के लिए आवेदन आमंत्रित किये गए हैं। ये आवेदन वाहन प्रदूषण जांच केंद्र खोलने के लिए आमंत्रित किए गए हैं । इसके लिए 15 जनवरी 2022 तक जिला परिवहन कार्यालय में आवेदन किया जा सकता है ।

अधिकतम 3-3 लाख रुपए की दी जाएगी प्रोत्साहन राशि

बिहार में नए प्रदूषण जांच केंद्र खोलने के लिए परिवहन विभाग अनुदान दे रही है । परिवहन विभाग मंत्री शीला कुमारी ने कहा है कि केन्द्र खुलने से लोगों को रोजगार का अवसर मिलेगा और लोगों को वाहन प्रदूषण जांच कराने में भी सहुलियत होगी। मंत्री ने बताया कि जिस प्रखंड में पेट्रोल पंप और वाहन सर्विस सेंटर के अतिरिक्त एक भी वाहन प्रदूषण जांच केंद्र नहीं है। वहां प्रखंडों में एक-एक वाहन प्रदूषण जांच केंद्र खोलने के लिए अनुदान दिया जाएगा।

यह अनुदान अधिकतम 3-3 लाख रुपए दी जाएगी। अनुदान राशि का निर्धारण दो मापदंडों पर किया गया है । सरकार उपकरणों के क्रय मूल्य का 50 प्रतिशत या अधिकतम 3 लाख रुपए तक देगी । प्रदूषण जांच केंद्र खोलने के लिए जिन उपकरणों की खरीददारी की जा सकती है उसमें स्मोक मीटर, गैस एनालाईजर, डेस्कटॉप इंटरनेट के साथ, प्रिंटर और यूपीएस शामिल है ।

24 जनवरी को प्रखंडवार सूची का होगा प्रकाशन

प्रखंडों में वाहन प्रदूषण जांच केंद्र खोलने के लिए आवेदक 15 जनवरी 2022 तक आवेदन संबंधित जिला परिवहन कार्यालय में दे सकते हैं। योग्य लाभुकों का चयन 17 जनवरी 2022 तक किया जाएगा। जिला परिवहन पदाधिकारी द्वारा चयनित लाभार्थियों की प्रखंडवार सूची का प्रकाशन 24 जनवरी 2022 तक संबंधित प्रखंडों में किया जाएगा। इसके बाद 25 जनवरी 2022 को अंतिम सूची का प्रकाशन किया जाएगा।

एक ही प्रखंड के लिए एक से अधिक आवेदन आने पर उच्चतर शैक्षणिक योग्यता को प्राथमिकता का आधार बनाया जाएगा । दो आवेदकों की शैक्षणिक योग्यता समान होने पर उच्चतम योग्यता के अंकों के आधार पर चयन किया जाएगा। योग्य अभ्यर्थियों के चयन हेतु आवेदक की उच्चतर शैक्षणिक योग्यता मान्य होगी।

आवेदक की योग्यता और जरूरी कागजात

आवेदक उसी प्रखंड के स्थायी निवासी हो, जिस प्रखंड में प्रदूषण जांच केंद्र की स्थापना की जानी है। आवेदक स्वयं या उसका स्टॉफ मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल या ऑटोमोबाइल अभियंत्रण में डिग्रीधारी अथवा डिप्लोमा हो अन्यथा इंटरमीडिएट/बारहवीं कक्षा (विज्ञान के साथ) उत्तीर्ण हो, या मोटरवाहन से संबंधित किसी ट्रेड में आईटीआई उत्तीर्ण हो। आवेदन करने के लिए जो कागजात जरूरी है ।

सक्षम पदाधिकारी द्वारा निर्गत आवासीय प्रमाण पत्र की स्वअभिप्रमाणित प्रति। प्रदूषण जांच केंद्र स्थापना हेतु स्वयं या स्टॉफ की शैक्षणिक एवं तकनीकी योग्यता से संबंधित स्वअभिप्रमाणित छायाप्रति। अपने बैंक पासबुक के प्रथम पृष्ठ की स्वअभिप्रमाणित प्रति।