पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आक्रोश:महुआ में शराब के साथ बीएमपी जवान को पकड़ ग्रामीणों ने पीटा, घंटों बनाया बंधक

महुआ22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
शराब के साथ बीएमपी जवान को महुआ के जीडवारा चौक के पास ग्रामीणों ने पकड़ा। - Dainik Bhaskar
शराब के साथ बीएमपी जवान को महुआ के जीडवारा चौक के पास ग्रामीणों ने पकड़ा।
  • सूचना पर पहुंची पुलिस बीएमपी जवान को शराब के साथ गिरफ्तार कर थाने ले आई

सूबे में पूर्ण शराबबंदी का सीएम का सपना पुलिस वाले ही चकनाचूर कर रहें हैं जिन पर मुख्य रूप से शराबबंदी कानून को अमलीजामा पहनाने की जिम्मेवारी है। पुलिस बालू-बालू व दारू-दारू खेल रही है। हालात ऐसे हैं कि शराब माफिया के बाद दूसरा बड़ा शक पुलिस पर ही जाता है। वर्दी वाले तक खुदरा व थोक शराब का कारोबार कर रहे हैं। ऐसा ही एक मामले काे उजागर महुआ के ग्रामीणों ने किया है। लोगों ने एक बीएमपी जवान को शराब ले जाते पकड़ कर पहले तो जमकर धुनाई कर दी।

उसके बाद उसे कई घंटों तक बंधक बनाए रखा। सूचना पर महुआ पुलिस पहुंची व बंधक बने बीएमपी जवान एवं शराब को अपने कब्जे में लेकर थाने आ गई। दरअसल, बुधवार की सुबह महुआ पातेपुर सड़क मार्ग के जिरवारा गांव के पास एक बीएमपी जवान को ग्रामीणों ने बैग में शराब भरकर ले जाते हुए धर दबोचा। ग्रामीणों ने बीएमपी जवान की जमकर पिटाई कर दी व उसे घेर कर रखा। इसकी सूचना पुलिस को दी। सूचना पर थाना के अवर निरीक्षक एसके यादव पुलिस बल के साथ पहुंचे और बीएमपी जवान को शराब के साथ गिरफ्तार कर थाने ले आई।

ग्रामीणों ने पुलिस पर लगाया शराब तस्करी का आरोप, कहा- मिलीभगत रखते हैं

​​​​​​​बाइक में टक्कर होने के बाद शराब का हुआ खुलासा
बताया जाता है कि नालंदा जिला के अंगारी सुल्तानपुर गांव निवासी वरुण प्रसाद के पुत्र सूरज कुमार पातेपुर थाना में डुमरा में बीएमपी कैंप में कार्यरत था। बुधवार को छुट्टी मिलने के बाद वह पातेपुर से बाइक से अपने बैग में शराब भरकर अपने घर जा रहा था। इसी दौरान उसके बाइक से दूसरे बाइक में टक्कर हो गई जिसके बाद दोनों बाइक सवार सड़क पर गिर पड़े। आसपास के लोगों ने देखा तो दोनों को उठाने के लिए दौड़े। लेकिन इस दौरान बीएमपी जवान सूरज का कंधे पर रखा बैग जमीन पर गिर गया और बैग में रखे शराब की बोतलें फूट गई। जिसके कारण शराब की दुर्गंध आस पास फैल गया। शराब की दुर्गंध पर लोगों ने बीएमपी जवान को धर दबोचा और जमकर पिटाई की और गांव में ही उसे बंधक बना लिया।

बीएमपी जवान को लोगों से छुड़ाने में पुलिस को करनी पड़ी मशक्कत
बताया जाता है कि बीएमपी जमान को ग्रामीणों द्वारा पकड़े जाने की सूचना जैसे ही महुआ पुलिस को मिली महुआ के अवर निरीक्षक एसके यादव पुलिस वालों के साथ गांव में पहुंचे और लोगों को समझाने का प्रयास करने लगे। काफी देर के प्रयास के बाद लोग शांत हुए और पुलिस बीएमपी जवान को गिरफ्तार कर थाने ले आई।

बीएमपी जवान को गिरफ्तार किया गया है, जांच जारी : थानाअध्क्ष
इस संबंध में महुआ थाना अध्यक्ष कृष्णानंद झा ने बताया कि शराब के साथ बीएमपी जवान को गिरफ्तार किया गया है। इस मामले की गहनता से छानबीन की जा रही है। गिरफ्तार जवान को जेल भेजा जाएगा।

बीएमपी जवान द्वारा शराब बेचने की लोग जता रहे हैं आशंका
स्थानीय लोगों ने बताया कि हो सकता है कि बीएमपी जवान थाना से शराब चोरी कर ले जाता होगा और उसे मार्केट में सेल करता होगा। लोगों ने बताया कि ऐसा कई बार कर चुका होगा लेकिन कभी पकड़ में नहीं आया होगा लेकिन आज सड़क दुर्घटना होने के कारण जवान पकड़ में आ गया। बीएमपी जवान को पुलिस किसी तरह लोगों से चुरा कर महुआ थाने ले आई तथा उसे हाजत में बंद कर दिया। वहीं उसके बैग से 15 बोतल विदेशी शराब के मिले।

खबरें और भी हैं...