पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पंचायत चुनाव:मतदाता ग्लब्स पहन ही दबा सकेंगे ईवीएम का बटन

हाजीपुर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • आयोग ने कोरोना संक्रमण को देखते हुए व लोगों का ख्याल रखते हुए चुनाव कराने की तैयारी शुरू की

त्रिस्तरीय पंचायत चुनाव को लेकर प्रशासनिक तैयारी शुरू कर दी गई है। आयोग ने कोरोना संक्रमण को देखते हुए लोगों के स्वास्थ्य का पूरा ख्याल रखते हुए चुनाव कराने की तैयारी शुरू की है। पंचायत चुनाव में मतदाता हैंड ग्लब्स पहनकर ही ईवीएम का बटन दबाएंगे। यह पहला मौका होगा जब पंचायत चुनाव के दौरान वोटर हैंड ग्लब्स का इस्तेमाल अनिवार्य रूप से करेंगे। पंचायत चुनाव में प्रशिक्षण से लेकर नामांकन व मतदान से लेकर मतगणना के दौरान शारीरिक दूरी का पालन किया जाएगा।

राज्य निर्वाचन आयोग ने बिहार पंचायत चुनाव 2021 के लिए कई गाइडलाइन जारी किया है। चुनाव आयोग की वेबसाइट पर जाकर पंचायत चुनाव के प्रत्याशी नामांकन पत्र भर सकते हैं। वें चाहे तो पत्र को डाउनलोड करके नामांकन केंद्र में जमा करने का ऑप्शन भी चुन सकते हैं। नामांकन के समय केवल एक प्रस्तावक उम्मीदवार के साथ रह सकता है। नामांकन स्थल के बाहर उम्मीदवार व प्रस्तावक को कोविड -19 के प्रोटोकॉल नियमों के अनुसार शारीरिक दूरी का पालन करते हुए इंतजार करने का समय मिलेगा।

नामांकन से पहले हाथ धोने के लिए सेनेटाइजर या साबुन व पानी की व्यवस्था की जाएगी। इसके अलावा सभी को मास्क पहनना जरूरी होगा। मतदान से जुड़े कर्मियों व पदाधिकारियों को बड़े हॉल में छह फीट की दूरी पर बैठने की व्यवस्था होगी। मतदान केंद्र प्रशिक्षण की जगह पर पहले थर्मल स्क्रीनिंग की जाएगी। यदि किसी मतदाता में कोरोना संक्रमण के लक्षण दिखाई देते है तो उसे फौरन क्वारेंटाइन किया जाएगा। कोरोना के लक्षण वाले मतदाता चुनाव के आखिरी घंटों में मतदान कर सकेंगे। बूथ पर अधिकतम 25 लोग एक कतार में शामिल होंगे। वहीं प्रत्याशियों के लिए चुनाव चिन्ह का भी अब निर्धारण प्रत्याशी व पद के हिसाब से किया जा रहा है।

निर्वाचित होने वाले प्रतिनिधियों को बेहतर प्रशिक्षण देने पर मंथन
इधर, पंचायती राज विभाग राज्य के त्रिस्तरीय पंचायतों में निर्वाचित होने वाले प्रतिनिधियों के बेहतर प्रशिक्षण का मंथन कर रहा है। इसके लिए जिला स्तर पर पंचायती राज प्रशिक्षण संस्थानों से प्रशिक्षित किया जायेगा। इसके लिए दो दिवसीय प्रशिक्षण कोर्स तैयार कराया गया है। इस बार नवनिर्वाचित प्रतिनिधियों आपदा प्रबंधन को लेकर विशेष प्रशिक्षण दिया जायेगा। कोरोना में पंचायतों को महत्वपूर्ण भूमिका निभायी है। अगर इस प्रकार की चुनौतियां आती हैं तो उससे निबटने के लिए खास प्रशिक्षण दिया जायेगा। साथ ही कोरोना की दूसरी लहर में पंचायतों के कार्यों की भी जानकारी दी जायेगी।

खबरें और भी हैं...