परिचर्चा:केंद्र और राज्य की योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाएं कार्यकर्ता

पटनाएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

भाजपा के राष्ट्रीय महामंत्री व बिहार प्रभारी भूपेंद्र यादव ने पार्टी कार्यकर्ताओं से संगठन को और धारदार बनाने में जुट जाने के लिए कहा है। सोमवार को भाजपा प्रदेश कार्यालय में आयोजित 11 जिलों की क्षेत्रीय बैठक में यादव ने उनसे केंद व राज्य सरकारों की विकास व कल्याणकारी योजनाओं को जन-जन तक पहुंचाने की अपील की। उन्हाेंने बैठक में बूथ पर सप्त ऋषियों के गठन और सप्त ऋषियों के कार्यो-कार्यक्रम की समीक्षा की। बैठक में सासाराम, औरंगाबाद, अरवल, गया, जहानाबाद, नवादा, मुंगेर, नालंदा, जमुई, शेखपुरा, लखीसराय जिलों के प्रमुख कार्यकर्ताओं ने शिरकत की।  प्रदेश अध्यक्ष डॉ. संजय जायसवाल ने आगामी कार्यक्रम की चर्चा करते हुए कहा कि बिहार जनसंवाद वर्चुअल रैली के माध्यम से केंद्र व राज्य सरकार की योजनाओं को जनता के बीच ले जाया जा रहा है। जनसंवाद कार्यक्रम बिहार के अलग-अलग विधानसभा में सफलता पूर्वक चल रहा है। कोरोना संकट में पार्टी कार्यकर्ताओं के कार्यों की उन्होंने जमकर तारीफ की। बैठक को मंत्री नंदकिशोर यादव, डॉ. प्रेम कुमार, मंगल पांडेय, पूर्व केन्द्रीय मंत्री राधामोहन सिंह, सांसद गोपाल नारायण सिंह व शिवनारायण महतो ने भी सं‍बोधित किया। मौके पर सांसद सुशील सिंह, संजीव चौरसिया, सुशील चौधरी, देवेश कुमार, जनक राम, अभय गिरी, राजेंद्र सिंह, प्रमोद चंद्रवंशी आदि मौजूद थे। 

केंद्र की पहल पर 21 लाख मजदूर विशेष ट्रेन से लाए गए बिहार : मोदी
उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने केंद्र व राज्य सरकार के कार्यों की विस्तार से जानकारी दी। कहा- केंद्र सरकार की पहल पर 21 लाख मजदूर विशेष ट्रेन से बिहार लाए गए।  राज्य सरकार ने 20 लाख मजदूरों के खाते में 1 हजार रुपए दिया। 15 हजार क्वारेंटाइन सेंटर बनाए गए। परेशान और हताशा में बिहार के विपक्षी दलों को केंद्र-राज्य सरकार के कार्य नहीं दिख रहे।

पूरी बोरी हड़पने के बाद कार्यकर्ताओं से गुड़ न खाने की अपील कर रहा राजद नेतृत्व

पटना|उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने साेमवार काे ट्वीट किया- राजद नेतृत्व गुड़ की पूरी बोरी हड़पने के बाद कार्यकर्ताओं से गुड़ न खाने की अपील कर रहा है। राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रघुवंश सिंह का इस्तीफा, पांच एमएलसी का सामूहिक रूप से अलग होना और प्रदेश उपाध्यक्ष के पार्टी छोड़ने की तैयारी दीवार पर लिखी ऐसी इबारत है, जिसे लालू प्रसाद पुत्र मोह में पढ़ना नहीं चाहते।

खबरें और भी हैं...