पूजा शुरू:शिवलिंग प्रकट होने की सूचना पर पूजा शुरू, जमीन पर धारा 144

हाजीपुर4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • गलत ढंग से एनजीओ को बेची गई कबीर मठ की जमीन, असल माजरा सामने आते ही मजिस्ट्रेट के साथ जवान तैनात

हाजीपुर औद्योगिक थाना क्षेत्र के सुल्तानपुर में एक खाली पड़ी जमीन से शिवलिंग प्रकट होने की खबर से पूजा-पाठ, दर्शन के लिए लोगों का तांता लगना शुरू हो गया है। पुलिस तक जब जानकारी पहुंची उनके कान खड़े हो गए। आनन-फानन में जिला प्रशासन ने मजिस्ट्रेट व पुलिस अफसर के नेतृत्व पुलिसबलों को तैनात कर दिया है। उक्त जमीन पर विवाद की स्थिति को देखते हुए धारा 144 की कार्रवाई पूर्व में की गई थी। विवादित पक्ष के लोग जमीन पर न जाएं इसलिए दो सिपाहियों को वहां तैनात किया गया था। इस बीच शिवलिंग कैसे प्रकट हुए पहेली बना है। शिवलिंग जमीन से स्वतः निकला है इसकी प्रमाणिकता सिद्ध नहीं हो पाई है।

ग्रामीणों का अपना ही दावा
बताया गया कि सुल्तानपुर स्थित कबीरपंथी मठ की खाली पड़ी जमीन में सुबह टहलने गए लोगों ने शिवलिंग निकला देखा। यह सूचना जंगल की आग की तरह फैल गई। स्थानीय लोग शिवलिंग की पूजा-अर्चना में जुट गए। खबर आसपास के लोगों तक पहुंची फिर वहां दर्शन-पूजन के लिए लोगों की भीड़ उमड़नी शुरू हो गई। शिवलिंग के नजदीक गीत गाती शांति देवी ने बताया कि यहां पास में ही जमीन से शिवलिंग प्रकट हुए हैं। यहां एक भव्य मंदिर बनेगा और जो भी शिव चर्चा में शामिल महिलाएं हैं उनका यह आसरा भी होगा। स्थानीय मनीष कुमार का कहना है कि यहां पर भोला बाबा प्रगट हुए हैं। सुबह 6:00 बजे के करीब लोगों ने देखा है तो स्थानीय लोग मिलकर पूजा अर्चना कर रहे हैं। उन्होंने आगे बताया कि हम लोग सुबह में घूमने आए थे तो देखें।

दो माह पूर्व एनजीओ ने खरीदी जमीन : एसएचओ
हालांकि इसके बारे में औद्योगिक थाना अध्यक्ष संतोष कुमार सिंह ने बताया कि वर्ष 2014 में जमीन की घेराबंदी हुई थी। 2 महीना पूर्व जिस एनजीओ ने इसे खरीदा है उसके द्वारा मिट्टी भराई का भी काम कराया गया था। मिट्टी भराई के बाद स्थानीय लोगों ने आरोप लगाया कि यह कबीरपंथी समाज की जमीन है। इसे कोई बाहरी संस्था कैसे खरीद सकती है? बाहरी संस्था क्या करेगी यह हमें पता नहीं है परंतु यह कबीरपंथी समाज की है। इसका इन लोगों ने विरोध किया था। उसके बाद बवाल, शांतिभंग की आशंका को देखते हुए पिछले सप्ताह से वहां पुलिस बल भी लगा दिया था। सुबह सेल गेट के पास के स्थानीय लोगों द्वारा उस घेराबंदी के अंदर में शिवलिंग रखकर पूजा-अर्चना की गई। सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर कैम्प कर रही है। बवाल को देखते हुए हाजीपुर सीओ भी सुबह घटनास्थल पर पहुंचे। इस मामले में 10 लोगों के विरुद्ध 107 का मुकदमा किया गया है।

खबरें और भी हैं...