पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

वारदात:मुर्गी फॉर्म संचालक की हत्या, आजादी के बाद अजनौरा गांव में मर्डर की पहली घटना

नूरसरायएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
नूरसराय में रोते बिलखते परिजन। - Dainik Bhaskar
नूरसराय में रोते बिलखते परिजन।
  • नूरसराय थाना क्षेत्र में वारदात, सिर के पीछे तेज नुकीले हथियार से वार, पोखर में मिला शव
  • ग्रामीण बोले- गांव में शराब चुलाने के धंधे का संजय ने किया था विरोध

कोरोना काल में भी अपराधी सक्रिय हैं। लॉकडाउन के दौरान हत्या जैसी घटनाएं घट रही है। नूरसराय थाना क्षेत्र के अजनौरा गांव में हत्या की घटना घटी है। गुरुवार की देर रात मुर्गी फार्म व्यवसायी 42 वर्षीय संजय कुमार उर्फ संजू की धारदार हथियार से हत्या कर शव को पास के ही पोखर में फेंक दिया गया। शुक्रवार की सुबह तालाब में शव होने की खबर पूरे गांव में आग की तरह फैल गई। देखते ही देखते सैकड़ों ग्रामीण मुर्गी फॉर्म के पास इकठ्ठा हो गये। सूचना पाकर डीएसपी संजय कुमार, थानाध्यक्ष वीरेंद्र चौधरी ने पुलिस बल के साथ गांव पहुंचकर शव को तालाब से बाहर निकाला। मृतक व्यवसायी के सिर के पीछे तेज नुकीले हथियार से कई वार किया हुआ था। मृतक के शरीर पर कई जगहों पर चोट के भी निशान है। पुलिस ने मामले की छानबीन शुरू कर दी है।

चोरी की नियत से मुर्गी फार्म में घुसने की अाशंका
ग्रामीण आपस में चर्चा कर रहे थे कि देर रात गांव के कुछ बदमाश चोरी करने की नियत से मुर्गी फार्म में घुसा होगा। विरोध करने पर ही मुर्गी फार्म व्यवसायी की हत्या धारदार हथियार से कर पास के तालाब में फेंक दिया होगा। ग्रामीणों की माने तो अजनौरा गांव में शराब चुलाने का भी काम जोरों पर चल रहा है। जिसका विरोध मृतक संजय ने किया था। वहीं तालाब के पास से एक ब्लू रंग का टीशर्ट पुलिस ने बरामद किया है। घटनास्थल से थोड़े ही दूर पर पुलिस ने खाली बक्से को भी बरामद किया है। फिलहाल पुलिस सभी बिंदुओं पर जांच कर रही है। शव को पुलिस ने कब्जे में लेकर पोस्टमाटर्म के लिए सदर अस्पताल भेज दिया।

पहले लूटपाट की, बाद में कर दी हत्या
मृतक के बड़े भाई सुनील कुमार ने बताया कि गुरुवार की देर शाम नौ-साढ़े नौ बजे के आसपास संजय घर से खाना खाकर मुर्गी फार्म की रखवाली के लिए गया था। सुबह में मनहूस खबर मिली। मुर्गी फॉर्म का रुपया रखने वाला बक्सा भी कुछ दूरी पर फेंका हुआ था। लगता है अपराधियों ने पहले लूटपाट की है फिर भाई की हत्या कर दी। गांव के ही विधानसभा के पूर्व प्रत्याशी कौशलेंद्र कुमार उर्फ छोटे मुखिया ने बताया कि आजादी से अब तक गांव में कोई हत्या नहीं हुई थी। संजू की हत्या गांव की पहली हत्या है। हालांकि बीते पांच वर्षों में पंचायत में चार हत्याएं हुई है। अजनौरा गांव में बड़े पैमाने पर शराब का कारोबार होता है। जिसकी सूचना स्थानीय थाना को भी है पर आज तक कोई भी कार्रवाई नहीं की गयी है। शराब के नशे में ही अपराधियों ने हत्या व लूटपाट का अंजाम दिया है। स्थानीय प्रसाशन से जल्द से जल्द अपराधियों की गिरफ्तारी की मांग भी उन्होंने की है। डीएसपी संजय कुमार ने बताया कि पुलिस सभी बिंदुओं पर जांच कर रही है। अपराधियों की पहचान करने में पुलिस जुटी हुई है।

खबरें और भी हैं...