पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

मैराथन दौड़:गुडा गोपीनाथ बांध रखरखाव के अभाव में हुआ क्षतिग्रस्त, 25 वर्षों से किसानों को नहीं मिला पानी

देसूरीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
देसूरी. गुड़ा गोपीनाथ बांधा की क्षतिग्रस्त नहर। - Dainik Bhaskar
देसूरी. गुड़ा गोपीनाथ बांधा की क्षतिग्रस्त नहर।
  • बारिश में पानी की अच्छी आवक के बावजूद हाे नहीं पाता ठहराव

सांसरी ग्राम पंचायत के अधीन गुडा गोपीनाथ बांध का पिछले कई वर्षों से रखरखाव नही होने के कारण जगह जगह से क्षतिग्रस्त हो गया है। जिसके कारण बांध में पानी की आवक होने के बावजूद पानी नही रुक पा रहा है। किसानों को इस बांध से पिछले 25 वर्षों से सिंचाई के लिए पानी नही मिला है,ऐसे में बांध किसानों के लिए नाकारा साबित हो रहा है। ज्ञातव्य है कि बांध में बरसात शुरू होते ही पानी की आवक भी शुरू हो जाती है,जिसके कारण बांध में पानी की आवक अधिक होने से कई बार ओवरफ्लो हो चुका है।

जिससे सिंचाई के लिए बांध से किसानों को पर्याप्त पानी मिलने से अच्छी पैदावार होती थी। मगर जलसंसाधन विभाग की ओर से इस बांध का रखरखाव नही होने से यह बांध धीरे धीरे क्षतिग्रस्त होने लगा। नहर खोलने की मोरी तो पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई। ऊपर से राय सरकार ने छोटे बांधों को 2001 में पंचायतों को सौंप के आदेश जारी कर दिये। जिसके कारण गुडा गोपीनाथ बांध सांसरी पंचायत के अधीन आ गया। मगर राय सरकार ने इस बांध के रखरखाव को लेकर किसी प्रकार का आज दिन तक बजट आवंटन नही किया।

जिसके कारण इस बांध का भी पिछले 20 वर्षों से रखरखाव नही हुआ है। जिसके कारण बांध की दीवारें पर बड़े बेड पेड़ हो गये,मोरी पुरी तरह से क्षतिग्रस्त हो रखी है,जबकि बांध की नहर तो कम देखने को मिल रही है। ऐसे में बरसात के मौसम में गुडा गोपीनाथ बांध में पानी की आवक अधिक होती है। मगर रखरखाव के अभाव में पानी बांध से रिसाव के साथ खाली हो जाता है।

किसानों को मिला था पर्याप्त पानी
गुडा गोपीनाथ बांध से किसानों को सिंचाई के लिए पर्याप्त पानी मिलता था,जिसके कारण रबी फसलों की अच्छी पैदावर होती थी। मगर पिछले 25 वर्षों से किसानों को इस बांध से सिंचाई के लिए पानी नहीं मिल पाया है। बांध का पिछले कई वर्षों से रखरखाव नही हो पाया है, जिससे मोरी ओर नहर क्षतिग्रस्त हो रखी है। वही मोरी में लगी लोहे की फाटकें तो पुरी तरह से नष्ट हो चुकी है।

रखरखाव को लेकर की जा चुकी मांग
गुड़ा गोपीनाथ बांध के रखरखाव को लेकर पंचायत के प्रस्ताव तैयार कर राय सरकार ओर जलसंसाधन मंत्री के साथ विभाग के अधिकारियों को पत्र भेजकर कई बार मांग की जा चुकी है। मगर आज दिन तक इस बांध के रखरखाव को लेकर कोई बजट आवंटन नही हुआ।
-वर्षा कंवर, सरपंच ग्राम पंचायत सांसरी

खबरें और भी हैं...