पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Local
  • Bihar
  • Patna
  • Panapur
  • Two Aunts Were Playing With A 10 month old Niece In Panapur, They Fell, Both The Sisters Died, The Innocent Was Not Even Scratched

आपदा:पानापुर में 10 माह की भांजी के साथ दो मौसी खेल रही थी, ठनका गिरा, दोनों सगी बहनों की मौत, मासूम को खरोंच तक नहीं

पानापुर7 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
ठनका की चपेट में आने से दो सगी बहनों की मौत के बाद रोते परिजन।
  • विधायक व जदयू के प्रदेश सचिव ने पीड़ित परिवार को दी सांत्वना

मंगलवार को पानापुर थाना क्षेत्र में आसमानी बिजली गिरने से 2 इंसान के साथ 4 बेजुबानों की मौत हो गई। प्रखंड के महम्मदपुर में ठनका की चपेट में आने से शैलेश ठाकुर की दो बेटियों की मौत हो गई। साथ ही एक बकरी की जान चली गई। वहीं धेनुकी में आसमानी बिजली की चपेट में आने से 2 भैंस और फकुली में 1 भैंस की मौत हो गई। जानकारी के अनुसार महम्मदपुर में शैलेश ठाकुर की 18 वर्षीय पुत्री शिल्पी कुमारी और 15 वर्षीया पुत्री काजल कुमारी अपनी सबसे बड़ी बहन की 10 महीने की बेटी को झोपड़ी में बैठाकर खेल रही थी। इसी दौरान बारिश शुरू हो गई। वर्षात के दौरान भी लड़कियां खेलने में मग्न रही। तभी झोपड़ी के बगल के आम के पेड़ पर आसमानी बिजली गिरी। बिजली गिरने से आम का पेड़ फट गया। पेड़ के जड़ में बंधी बकरी की मौत घटनास्थल पर ही हो गई। जबकि शैलेश ठाकुर की दोनों बेटियां गंभीर रूप से जख्मी हो गई। जल्दीबाजी में परिजन दोनों लड़कियों को पानापुर पीएचसी ले गए। जहां चिकित्सकों ने दोनों सगी बहनों को मृत घोषित कर दिया। घटना की जानकारी मिलने पर जदयू के प्रदेश सचिव शैलेंद्र प्रताप सिंह ने गहरी संवेदना व्यक्त की। उन्होंने बताया कि जल्द ही पीड़ित परिवार को आपदा राहत की राशि उपलब्ध करा दी जायेगी। उधर राजद विधायक मुद्रिका प्रसाद राय घटना की जानकारी के बाद पानापुर पीएचसी पहुंचे। और पीड़ित परिजनों को सांत्वना दी।

आसमानी बिजली की चपेट में आने के बाद शिल्पी ने गोद से नीचे नहीं उतरने दी

महम्मदपुर की घटना को देख-सुन एक बार फिर यह कहावत लोगों की जुबान पर चढ़ गई कि मारने वाला ऊपरवाला है और बचाने वाला ऊपरवाला ही है। आसमानी बिजली की चपेट में आने से 18 वर्षीय और 14 वर्षीय दोनों सगी बहनों की मौत हो गई। जबकि 10 माह की मासूम बहन बेटी को खरोंच भी नहीं आई। शायद मासूम बच्ची के नाम का भी प्रभाव रहा होगा। दिव्या की दिव्यता ने मौत के मुंह से उसे सकुशल बाहर निकाल दिया। महम्मदपुर निवासी शैलेश ठाकुर की 4 बेटियां और एक बेटे में दो बेटियों की मौत मंगलवार को हो गई। शैलेश ठाकुर की सबसे बड़ी बेटी पिंकी देवी की 10 महीने की बच्ची दिव्या के साथ दोनों लड़कियां झोपड़ी में खेल रही थी। आसमानी बिजली की चपेट में आने के बाद शिल्पी ने अपनी गोद से नीचे नहीं उतरने दी। वह गोद में लेकर ही जमीन पर गिर गई। आकाश से तेज आवाज होने और लड़कियों की चिल्लाने की आवाज सुन आस-पास के लोग दौड़ कर आए।

0

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज घर से संबंधित कार्यों को संपन्न करने में व्यस्तता बनी रहेगी। किसी विशेष व्यक्ति का सानिध्य प्राप्त हुआ। जिससे आपकी विचारधारा में महत्वपूर्ण परिवर्तन होगा। भाइयों के साथ चला आ रहा संपत्ति य...

और पढ़ें