मतदान केंद्र पर मतदाता की हार्ट-अटैक से मौत:लहठान पंचायत के मध्य विद्यालय बूथ संख्या-170 पर अचानक गिर पड़े 60 वर्षीय रामेश्वर

पीरो2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

लहठान पंचायत के मध्य विद्यालय, पीरो बूथ संख्या-170 पर मतदान करने के लिए रामेश्वर महतो (60 वर्ष) पहुंचे थे। वे मतदान के लिए अन्य मतदाताओं की तरह पंक्ति में खड़े थे। अचानक उनको हार्ट-अटैक आया। वह कतार में लगे अवस्था में गिर पड़े। मतदाताओं के सहयोग से बगल के एक चिकित्सक के पास ले जाया गया।

जहां उनकी मौत हो गयी। इससे उनके घर में हाहाकार मच गया। महिलाओं के रुदन से माहौल गमगीन हो गया। इधर घटना की जानकारी मिलते ही कुछ लोग भागे-भागे मतदान केंद्र पर पहुंचे और कुछ लोग अस्पताल की ओर भागे। परिजनों का रो-रोकर बुरा हाल हो गया था।

पीठासीन अधिकारी पर ग्रामीणों ने लगाया आरोप, डीएम ने की कार्रवाई
कटरियां पंचायत के छछुडीह मतदान केन्द्र संख्या-158, यहां पर ग्रामीणों ने पीठासीन अधिकारी राजेश प्रसाद पर एक पक्ष के प्रत्याशी पर वोटिंग में सहायता करने का आरोप लगाते हुए हंगामा किया। सूचना पर पहुंचे डीएम रोशन कुशवाहा ने कहा कि पीठासीन अधिकारी के बारे में शिकायत मिली थी।

इसके बाद उनको कार्य के अलग कर मतदान के लिए वैकल्पिक व्यवस्था की गई थी। लेकिन ऐसी कोई बात नहीं। वैसे किसी प्रकार मामला आने पर चुनाव आयोग के नियम के अनुसार जांच होगी।

हसन बाजार में बूथ के बाहर दो पक्ष भिड़े
राजकीय मध्य विद्यालय, हसन बाजार। समय 2:45 बजे। यहां दो मतदान केंद्र थे शांतिपूर्ण मतदान हो रहा था अचानक मतदान केंद्र के बाहर सड़क पर 2 प्रत्याशियों के समर्थक भिड़ गए। हाथापाई और नोकझोंक होने लगी। इसकी सूचना जैसे ही मतदान केंद्र परिसर में मौजूद पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों को मिली, हंगामा करने वाले को पकड़ने के लिए दौड़ पडे़।

पुलिस को देखते ही दोनों प्रत्याशियों के समर्थक डर से भाग गए। इस बीच अतिरिक्त पुलिस बल भी तीन-चार गाड़ियों में धमक पडे़। इस दौरान एक युवक को पुलिसकर्मियों ने पकड़ लिया, डंडे भी बरसाए।

सुकरौली में पुलिसकर्मियों ने भीड़ लगाने वाले को खदेड़ा
सुकरौली में वोट देने के लिए लंबी कतार लगी थी। कुछ लोग मतदान केंद्र के बाहर हुजूम लगाए थे। डीएम और एसपी के काफिले के पहुंचने के बाद भीड़ छंट गई। बाद में दोनों अधिकारियों के जाने के बाद फिर भीड़ जुट गई। तभी विपरीत दिशा से सशस्त्र काफी संख्या में जुट गए। बेवजह जमावडा़ लोग हट गए। मतदान केंद्र का परिसर कुछ खाली हुआ। वैशाडीह, नारायणपुर, नोनार में शांतिपूर्ण मतदान हुए।

भोजपुर-रोहतास सीमा पर चेकिंग
भोजपुर और रोहतास जिला की सीमा पर है हसन बाजार हसन बाजार। यहां सिर्फ प्रखंड का अंतिम बूथ है उत्क्रमित मध्य विद्यालय, हसन बाजार (अनुसूचित जाति टोला। इसके आगे है रोहतास जिले के बिक्रमगंज अनुमंडल का मोहनी गांव। पीरो प्रखंड में पंचायत चुनाव के मतदान के दिन अलग नजारा था।

दोनों जिला की सीमा पर भोजपुर के तरफ मजिस्ट्रेट उमेश चौधरी व विपिन बिहारी सिंह, एएसआई रणविजय सिंह और पुलिस -बल मुस्तैद थे।

खबरें और भी हैं...