मतदान का दिन:पुलिस पर पथराव, प्रत्याशी पुत्र की पिटाई के बीच पीरो में हुआ मतदान

पीरो2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अगिआंव बाजार, मां के धर्म के साथ जिम्मेदार नागरिक का कर्तव्य निभाया। - Dainik Bhaskar
अगिआंव बाजार, मां के धर्म के साथ जिम्मेदार नागरिक का कर्तव्य निभाया।
  • दूसरे चरण में पीरो में पंचायत चुनाव के मतदान में आधी आबादी ने दिखाया अधिक उत्साह, वोटिंग के लिए आगे आईं
  • 289 में से 60 मतदान केन्द्रों पर पहली बार कार्यरत रहा बायोमीट्रिक सिस्टम, अन्य जगहों पर कार्य ही नहीं किया
  • शांतिपूर्ण मतदान की प्रक्रिया संपन्न कराने के लिए सभी पोलिंग बूथों पर मुस्तैद थे सुरक्षाकर्मी, वज्र वाहन की भी थी तैनाती

भोजपुर जिले में द्वितीय चरण का मतदान पीरो प्रखंड में बायोमीट्रिक सिस्टम फेल, सुबह में कुछ ईवीएम के खराब होने, मारपीट, सिर फुटव्वल, पथराव के बीच हुई। पहली बार सही मतदाताओं की पहचान और बाेगस वोटिंग राेकने के लिए बायोमीट्रिक सिस्टम की व्यवस्था की गई थी। लेकिन, अधिकांश बायोमीट्रिक सिस्टम ने काम नहीं कर सके।

दूसरी ओर, शांतिपूर्ण और निष्पक्ष मतदान के लिए पुलिस-प्रशासन की पुख्ता व्यवस्था थी। सभी मतदान केंद्रों पर काफी संख्या में मजिस्ट्रेट, पुलिस-बल और व्रज-वाहन तैनात रहे। स्थानीय निर्वाचन कार्यालय के अनुसार शाम 7 बजे तक 57.09 प्रतिशत मतदाताओं ने वोट डाले थे। महिलाओं का प्रतिशत 62.8 था और पुरुषों का प्रतिशत 52.75 रहा। सुबह 7 बजे मतदान शुरू होने पर करीब दो दर्जन से अधिक स्थानों पर ईवीएम खराबी की शिकायतें आई।

ईवीएम खराबी की वजह देवचंदा गांव में मतदान केन्द्र संख्या-109 पर 8 बजे शुरू हुआ मतदान। प्राथमिक विद्यालय, नारायणपुर मतदान केन्द्र-181 पर सुब 8 बजे, मतदान केन्द्र-186 मध्य विद्यालय अगिआंव में सुबह 8ः30 बजे, नेवारी में सुबह 9 बजे। मोथी में 9ः30 बजे, बचरी में 9 बजे, मध्य विद्यालय तिलाठ में बूथ संख्या-112 पर 10 बजे, प्राथमिक विद्यालय, मोहनटोला बूथ संख्या-111 पर सुबह 9.30 बजे शुरू हुआ। डीएम रोशन कुशवाहा और एसपी विनय तिवारी सुबह से दोपहर बाद तक डटे रहे। तिलाठ, तेलाढ, कटरियां, खैरी तिवारीडीह, सुखरौली, जगदेवपुर, नोनार, कचनथ, पचरुखिया, जितौरा सहित कई केन्द्रों का संयुक्त भ्रमण किया।

बुधवार को जिउतिया पर्व होने की वजह से सभी स्थानों पर सुबह से करीब 9 बजे तक महिलाएं ही कतार में थीं। दिन चढ़ता गया और पुरुष मतदाता कतार में लगते गए। कई जगह महिलाओं की सुविधा के लिए पुरुषों ने बाद में मतदान किया। मध्य विद्यालय अगिआंव बाजार, हसनबाजार, उच्च विद्यालय कातर में महिलाओं की लंबी कतार लगी थी।

289 मतदान केंन्द्रों में 229 पर बायोमीट्रिक सिस्टम फेल
पीरो प्रखंड में 289 मतदान केन्द्रों पर मतदान हुआ। सभी केन्द्रों पर बायोमैट्रिक सिस्टम के मतदाताओं की पहचान करना था। लेकिन, 229 केन्द्रों पर बायोमीट्रिक सिस्टम अकार्यरत रहा। इससे मतदाताओं के पहचान-पत्रों की स्कैनिंग बायोमीट्रिक सिस्टम से बाधित था। कुल 60 केंद्रों पर बायोमीट्रिक सिस्टम कार्यरत रहा। इससे मतदान कर्मियों और मतदाताओं को परेशानी हुई।

बता दें कि बोगस वोटिंग रोकने के लिए पहली बार मतदान केंद्रों पर बायोमीट्रिक सिस्टम का उपयोग किया जा रहा था। पहले चरण में कई जगहों पर इसके नतीजे सकारात्मक मिले हैं, लेकिन दूसरे चरण में भोजपुर के कई केंद्रों पर सिस्टम में खराबी होने के बाद यह कार्य नहीं कर सका।

तिलाठ पंचायत: दो समर्थक भिड़े, प्रत्याशी पुत्र का सिर फोड़ा
तिलाठ पंचायत के निवर्तमान मुखिया गुप्तेश्वर राय और मुखिया प्रत्याशी ललन राय के समर्थकों के बीच जमकर मारपीट हुई। जिसमें प्रत्याशी ललन राय के पुत्र जितेंद्र राय (पंचायत रोजगार सेवक) का सिर फूट गया। सूचना पाकर एसडीएम अमरेन्द्र कुमार, एसडीपीओ राहुल कुमार ने पहुंचकर ग्रामीणों को समझाकर माहाैल शांत किया। इनके जाने के बाद गुप्तेश्वर राय के समर्थकों ने फायरिंग का आरोप भी लगाया, हालांकि इसकी पुष्टि नहीं हुई। वहीं कटरियां पंचायत के वसमनपुर में मतदान केन्द्र संख्या-105 पर मुखिया प्रत्याशी चांदनी देवी के पति बबलु सिंह का विपक्षी प्रत्याशी के समर्थकों से मारपीट हुई। जिसमें बबलु सिंह का नाक फट गया।

जितौरा पंचायत : पुलिस पर ग्रामीणों ने किया पथराव
देर शाम जितौरा जंगल महाल पंचायत के छेदी टोला बूथ संख्या-81 पर पुलिसकर्मियों पर ग्रामीणों ने पथराव किया। इसे लेकर तनातनी रही। ग्रामीणों का आरोप था कि मतदाताओं की कतार लगी थी। जहां वोट देने से रोका गया। बाद में पहुंची पुलिस-बल ने ग्रामीणों को खदेड़ा। वहीं मतदान के पहले चुनावी रंजिश में जमुआंव गांव में मंगलवार की रात दो प्रत्याशियों के समर्थकों के बीच फायरिंग की सूचना है।

हालांकि, घटना में कोई हताहत नहीं हुआ। पूरे मामले को लेकर थाने में प्राथमिकी की सूचना भी नहीं है। इधर कुछ लोगों ने कहा कि अगर ग्रामीणों ने ऐसा किया है तो निश्चित रूप से यह निंदनीय है। पुलिसकर्मियों पर पथराव करना सरासर गलत कार्य है।

दिखा उत्साह, सुबह-सुबह ही लोकतंत्र के महापर्व में शामिल होने पहुंचे।
दिखा उत्साह, सुबह-सुबह ही लोकतंत्र के महापर्व में शामिल होने पहुंचे।
रसौली गांव, पंचायत चुनाव में पहली बार वोट देतीं लवली व सुरभि।
रसौली गांव, पंचायत चुनाव में पहली बार वोट देतीं लवली व सुरभि।
कटरिया गांव में 110 वर्षीय महिला भी पहुंची भागीदारी निभाने के लिए।
कटरिया गांव में 110 वर्षीय महिला भी पहुंची भागीदारी निभाने के लिए।

कटरिया पंचायत के प्रेमा राय के टोला निवासी 105 वर्षीय फूलगेना कुंवर भी मतदान करने पहुंची। वृद्ध महिला चलने में असमर्थ थी। जिससे उनके पौत्र सुभाष राय उनको गोद में उठाकर बूथ संख्या-155 पर मतदान कराने पहुंचे थे। इसी पंचायत के कटरिया मतदान केन्द्र पर पैर से दिव्यांग भी मतदान करने पहुंचा था। इस दौरान मतदान केंद्रों पर आए लोगों ने बताया कि पंचायत सरकार चुनने के लिए हमलोगों में काफी उत्साह है। लोकतंत्र के हर पर्व में यानी सभी चुनावों में हिस्सा लेना ही नागरिक का फर्ज होता है।

पंचायत चुनाव के दिन मतदानकर्मियाें को सांस लेने की भी नहीं मिली फुर्सत, बॉर्डर एरिया तक दिखे मुस्तैद

वोट देने के बाद अंगुली में लगी स्याही दिखातीं राजकुमारी व राजनंदनी।
वोट देने के बाद अंगुली में लगी स्याही दिखातीं राजकुमारी व राजनंदनी।
खबरें और भी हैं...