सुविधा:नालंदा विवि में कोरोना जांच कैंप लगा अफसर-छात्रों का सैंपल लिया

राजगीर21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
राजगीर में अनुमंडलीय अस्पताल का निरीक्षण करते हुए पदाधिकारी - Dainik Bhaskar
राजगीर में अनुमंडलीय अस्पताल का निरीक्षण करते हुए पदाधिकारी

उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू शनिवार की देर शाम दो दिवसीय दौरे पर बिहार आ चुके हैं। नालंदा विवि में होने वाले उनके कार्यक्रम को लेकर अनुमंडलीय अस्पताल राजगीर द्वारा नालंदा यूनिवर्सिटी में कोरोना जांच के लिए कैंप लगाया गया। कैम्प में संबधित सभी अधिकारियों, कर्मियों और स्टूडेंट की आरटीपीसीआर टेस्ट के सैंपल संग्रह किये गये हैं। सैंपल को वर्द्धमान आयुर्विज्ञान संस्थान पावापुरी (विम्स) भेजा जाएगा। जिन पदाधिकारियों, कर्मियों और स्टूडेंट्स की कोरोना जांच रिपोर्ट निगेटिव आयेगी वही उप राष्ट्रपति के कार्यक्रम में शामिल हो सकेंगे। हेलीपैड स्थल से लेकर समारोह स्थल तक सड़क के दोनों ओर सुरक्षा कारणों से बैरिकेडिंग की गई है। हेलीपैड स्थल पर दमकल तैनात किए गए हैं। विश्वविद्यालय परिसर की विशेष साफ-सफाई कराई जा रही है। भवनों को बिजली की लड़ियो से सजाया और संवारा जा रहा है। जिला प्रशासन द्वारा उप राष्ट्रपति के कार्केड एवं सुरक्षा का फूल रिहर्सल किया गया। रिहर्सल में उप राष्ट्रपति के कार्केड में शामिल होने वाले सभी प्रकार के वाहनों को शामिल किया गया। स्वास्थ्य विभाग द्वारा अनुमंडलीय अस्पताल में उच्च स्तरीय आईसीयू सेंटर बनाया गया है। जहां विशेष टीम को तैनात किया गया है। वही उपराष्ट्रपति के कार्यक्रम को देखते हुए अलग-अलग स्थानों पर 6 एंबुलेंस को तैनात किया गया है। सभी एंबुलेंस में स्वास्थ्य विभाग की टीम मुस्तैद रहेगी। सिविल सर्जन डा. सुनील कुमार ने अनुमंडलीय अस्पताल पहुंचकर स्वास्थ्य व्यवस्था का जायजा लिया।

राजगीर में नालंदा विश्व विद्यालय में काम करते लोग।
राजगीर में नालंदा विश्व विद्यालय में काम करते लोग।

उपराष्ट्रपति के आगमन की प्रशासनिक तैयारी पूरी, विवि में लैंड करेगा हेलीकाॅप्टर

कार्यक्रम को लेकर उच्चस्तरीय व्यवस्था पूरी कर ली गई है। शनिवार की देर शाम तक नालंदा विश्वविद्यालय और प्रशासन के अधिकारी तैयारियों को अंतिम रूप देने में जुटे रहे। कार्यक्रम स्थल पर कुलपति सुनैना सिंह कार्यक्रम को लेकर संबंधित पदाधिकारियों को दिशा-निर्देश देते दिखी। उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू वायु सेना के विशेष हेलीकॉप्टर से आएंगे। उनका हेलीकॉप्टर नालंदा विश्वविद्यालय के कैंपस में ही लैंड करेगा। इसको लेकर पुलिस सुरक्षा व्यवस्था के बीच हेलीपैड बनाया गया है। मुख्यमंत्री, राज्यपाल का हेलीकॉप्टर भी परिसर में ही लैंड करेगा। इसको लेकर अलग-अलग हेलीपैड बनाए गए हैं। राष्ट्रपति का हेलीकॉप्टर जहां उतरेगा वह हेलीपैड को बिल्कुल पक्का और मजबूत बनाया गया है। जिस पर एक बार में वायु सेना का तीन विशेष हेलिकॉप्टर उतरेगा। जिसमें एक हेलीकॉप्टर में उप राष्ट्रपति होगे और दो हेलिकॉप्टर मे उनका विशेष सुरक्षा कर्मी होंगे। उप राष्ट्रपति के हेलीकॉप्टर से आने के बाद पुख्ता सुरक्षा व्यवस्था के बीच कार्यक्रम स्थल पर ले जाया जाएगा। सुरक्षा की दृष्टिकोण से हेलीपैड और कार्यक्रम स्थल का बम निरोधक दस्ते सहित अन्य मशीनों द्वारा जांच पड़ताल की जा रही है। काॅन्फ्रेंस में विश्व के कई देशों के विद्वान शामिल होंगे और अपना व्याख्यान देंगे। राष्ट्रपति के आगमन को लेकर उच्चस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था का इंतजाम किया गया है। सिर्फ विश्वविद्यालय और प्रशासन द्वारा सेलेक्टेड व्यक्ति ही कार्यक्रम स्थल पर जा सकेंगे। शनिवार से ही भारी संख्या में पुलिस बल, मजिस्ट्रेट और पदाधिकारियों की तैनाती कर दी गयी है। बिना जांच पड़ताल के कार्यक्रम स्थल पर किसी को जाने नहीं दिया जा रहा है। उप राष्ट्रपति के आगमन को लेकर वायु सेना के विशेष हेलीकाप्टर द्वारा भी रिहर्सल किया गया है। ताकि जब उपराष्ट्रपति का आगमन हो तो हेलीकॉप्टर की लैंडिंग में कोई समस्या नहीं हो। वायु सेना के पदाधिकारियों द्वारा भी कार्यक्रम स्थल की ऊंचाई और सुरक्षा का जायजा लिया गया है। उपराष्ट्रपति की सुरक्षा में कोई चूक न हो इसका हर स्तर से ध्यान रखा जा रहा है। तीन दिवसीय कार्यक्रम नालंदा विश्वविद्यालय में सुषमा स्वराज ऑडिटोरियम में आयोजित किया जाएगा।

खबरें और भी हैं...