कार्यक्रम:नालंदा विवि में अंतरराष्ट्रीय धर्म-धम्म सम्मेलन का उद्घाटन करेंगे उपराष्ट्रपति

राजगीर21 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
राजगीर में तीन दिवसीय इंटरनेशनल कॉन्फ्रेंस के लिए सजाया गया नालंदा विश्वविद्यालय। - Dainik Bhaskar
राजगीर में तीन दिवसीय इंटरनेशनल कॉन्फ्रेंस के लिए सजाया गया नालंदा विश्वविद्यालय।

उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू शनिवार की देर शाम दो दिवसीय दौरे पर बिहार आ चुके हैं। सबसे पहले वे वायुसेना के विमान से पटना एयरपोर्ट पहुंचे और फिर वहां से राजभवन गए जहां उन्होंने रात्रि विश्राम किया। उप राष्ट्रपति वेंकैया नायडू बिहार में दो दिन रहेंगे। उप राष्ट्रपति रविवार को नालंदा विश्व विद्यालय आएंगे। नालंदा विश्वविद्यालय में आयोजित छठे इंटरनेशनल धर्म-धम्म विषय पर आयोजित तीन दिवसीय काॅन्फ्रेंस का उद्घाटन करेंगे। कार्यक्रम में राज्यपाल फागू चौहान और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के अलावा सिक्किम के मुख्यमंत्री प्रेम सिंह तमांग, अरुणाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री पेमा खांडू एवं विदेश राज्यमंत्री मीनाक्षी लेखी, श्रीलंका के केंद्रीय ट्रांसपोर्ट मंत्री पवित्रा वन्नियाराच्ची, राम माधव समेत देश-विदेश के कई विद्वान और गणमान्य नागरिक शामिल होंगे। यहां के कार्यक्रम के बाद उप राष्ट्रपति पटना एयरपोर्ट से नई दिल्ली प्रस्थान करेंगे।

विभिन्न देशों के 100 से अधिक प्रतिनिधि कार्यक्रम में होंगे शामिल
नालंदा विवि की कुलपति प्रो. सुनैना सिंह ने प्रेस रिलीज जारी कर कहा कि कोविड उपरांत विश्व व्यवस्था के निर्माण में धर्म-धम्म परंपराएं विषय पर आधारित छठे अंतर्राष्ट्रीय धर्म-धम्म सम्मेलन का उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू उद्घाटन करेंगे। सम्मेलन में विभिन्न देशों के दो सौ से अधिक प्रतिनिधि, गणमान्य व्यक्ति व काफी संख्या में विद्वान हिस्सा लेंगे। यह सम्मेलन शिक्षा जगत के श्रेष्ठ बुद्धिजीवियों, प्रमुख राजनेताओं और भारत तथा विदेशों के धार्मिक राजनेताओं को एक साझा मंच प्रदान करेगा। सम्मेलन में कोविड के बाद की विश्व व्यवस्था के निर्माण की नई संभावनाओं पर विचार-विमर्श होगा।

व्यवस्था का डीएम ने लिया जायजा
व्यवस्था का जायजा डीएम योगेंद्र सिंह और एसपी हरिप्रसाथ एस द्वारा लिया गया है। यूनिवर्सिटी की कुलपति और जिला प्रशासन के आलाधिकारियों की बैठक भी समारोह और उसकी तैयारी को लेकर की गयी है। उपराष्ट्रपति के सुरक्षा व्यवस्था के लिए दिल्ली और पटना के अधिकारी राजगीर पहुंच चुके हैं। उनके द्वारा सुरक्षा व्यवस्था की कमान संभाल ली गई है।

7 से 9 अगस्त तक सम्मेलन
इंडिया फाउंडेशन के सहयोग से आयोजित तीन दिवसीय अंतर्राष्ट्रीय सम्मेलन 7 से 9 नवंबर 2021 तक चलेगा। धर्म-धम्म परंपराएं लोगों की जीवन शैली सुधारने और महामारी के विनाशकारी प्रभाव से उबरने में अहम भूमिका निभा सकती है। यह सम्मेलन मानव और प्रकृति के सामंजस्यपूर्ण सह-अस्तित्व को ध्यान में रखते हुए कोविड बाद की खुशहाल और स्वस्थ दुनिया बनाने में बड़ी भूमिका निभाएगा और इसके लिए आध्यात्मिक मूल्यों पर आधारित नए विचारों को साझा करने की संभावना पैदा करेगा। सम्मेलन का मुख्य उद्देश्य इन विषयों के साथ-साथ स्वास्थ्य, मानव कल्याण, जलवायु परिवर्तन और सामाजिक सद्भाव से संबंधित अन्य विषयों पर भी विचार-विमर्श करना और धर्म-धम्म परम्पराओं में दिखाए गए मार्गों के महत्व को प्रदर्शित करना है।

खबरें और भी हैं...