पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

ऑफलाइन प्रमाण पत्र:दस्तावेजों को ऑनलाइन अपलोड करने में शिक्षकों को परेशानी, समाधान की मांग

रजौली22 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

रजौली प्रखण्ड के शिक्षकों को जरूरी दस्तावेजों को ऑनलाइन अपलोड में परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।बिहार राज्य शिक्षक संघ के प्रखण्ड अध्यक्ष अजित कुमार ने बताया कि प्रखण्ड के सभी शिक्षकों को शिक्षा विभाग के निर्देश पर जाती,आवासीय,शैक्षणिक एवं पशैक्षणिक प्रमाण पत्रों को निर्देशित पोर्टल पर ऑनलाइन अपलोड करने में काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है।अध्यक्ष ने बताया कि दर्जनों शिक्षकों की परेशानियों का समाधान दूरभाष के माध्यम से किया जा रहा है।

सामान्य श्रेणी के शिक्षकों को भी जाति प्रमाण पत्र अपलोड करने को कहा गया है।शिक्षकों को जाति व आवासीय प्रमाण पत्र के साथ शैक्षणिक एवं प्रशैक्षणिक प्रमाण पत्र का मार्क्स शीट एवं मूल दोनों को अपलोड करना है।2003 में बने शिक्षामित्रों को 1 जुलाई 206 को नियोजित शिक्षक के रूप में समायोजित किया गया है।जिसके कारण इनके नियुक्ति तिथि 2006 ही अपलोड करना है।डीपीई का फूल मार्क्स का एग्जाम हुआ था।

परन्तु मार्क्सशीट में नहीं दिखता है। बीआरपीएसएस के प्रदेश अध्यक्ष प्रदीप कुमार पप्पू ने ऑफलाइन प्रमाण पत्र लेने की मांग को लेकर शिक्षा मंत्री एवं मुख्यमंत्री से किया गया है।रजौली प्रखण्ड के शिक्षकों के परेशानीयों को देखते हुए शिक्षा मंत्री से ऑफलाइन प्रमाण पत्र जमा करने की मांग की है।

खबरें और भी हैं...