परेशानी:नहीं पहुंच रहा नहर का पानी, किसान नहीं कर पा रहे रोपनी

रोहएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

रोह प्रखंड क्षेत्र के खेतों में पानी की कमी के कारण रोपनी कार्य पर ग्रहण लगा है। नहर के किनारे वाले किसानों की रोपनी कार्य शुरू कर समाप्त होने के कगार पर है। वहीं जिन किसानों का खेत नहर से दूर है उन्हें रोपनी करने में काफी परेशानी हो रही है। कुछ खेत ऐसे भी हैं जहां किसान सुखे को जोत रहे हैं। नहर के निचले छोर तक पानी नहीं पहुंचने से वहां भी रोपनी कार्य मंद पड़ गया है।

पिछले कई दिनों से हो रही बारिश के बाद क्षेत्र में रोपनी का कार्य शुरू हुआ था। रोहिणी नक्षत्र में धान का बीज डालने वाले किसान इस बार जलस्तर मे गिरावट होने के कारण बिचरा डालने मे चुक गए थे, क्योंकि उनके धान का बिचड़ा गिराने में पानी का अभाव हो गया था। इधर आद्रा नक्षत्र में बीज डालने वाले किसानों का बिचड़ा तैयार हो गया। लेकिन बारिश नहीं होने के कारण खेत तैयार नहीं हुआ। पर्याप्त बारिश नहीं होने के कारण किसानों की परेशानी साफ दिख रही है। हफ्ते भर से बारिश की फुहार उंट के मुंह में जीरा साबित हो रही है।

अब पंपसेट के सहारे रोपणी की जा रही है। मौसम विभाग पर्याप्त पानी के संभावना कीबात तो कर रही है लेकिन अब तक अच्छी बारिश नहीं होने से किसानों की परेशानी लगातार बढती जा रही है। कृषि फीडर से खेतों में नहीं पहुंची बिजली क्षेत्र के किसानों ने बिजली विभाग के प्रति नाराजगी जताते हुए कहा की बिजली विभाग की ओर से एक बर्ष पूर्व प्रखंड मुख्यालय में कैम्प लगाकर बिजली कनेक्शन लेने के लिए किसानों को प्रोत्साहित किया गया था।

खबरें और भी हैं...