रोहतास में बिस्कोमान प्रबंधक पर गिरी गाज:नाबालिग रिश्तेदारों को ही बेच दी यूरिया, कालाबाजरी करने के उद्देश्य से की गई खाद की बिक्री

रोहतास7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
प्रतीकात्मक तस्वीर। - Dainik Bhaskar
प्रतीकात्मक तस्वीर।

रोहतास में लगातार चल रही खाद की किल्लत एवं कालाबाजारी के बाद टॉप यूरिया विक्रेताओं की जांच शुरू कर दी गई है। इसी क्रम में जिले के नासरीगंज में खाद की कालाबाजारी करने के मामले में बिस्कोमान कृषक सेवा केंद्र, नासरीगंज के प्रबंधक उपेन्द्र सिंह को तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया गया है। बिस्कोमान के प्रबंध निदेशक ने जिला कृषि पदाधिकारी, रोहतास की अनुशंसा पर कार्रवाई की है।

डीएओ संजय नाथ तिवारी ने बताया कि अप्रैल 2021 से सितंबर 2021 तक टॉप 20 यूरिया क्रेताओं की जांच के क्रम में बिस्कोमान कृषक सेवा केंद्र नासरीगंज के यूरिया विक्रय में गंभीर अनियमिततायें पायी गयी है। प्रखंड कृषि पदाधिकारी नासरीगंज एवं समन्वयक के संयुक्त जांच में पाया गया कि पांच क्रेताओं द्वारा जमीन का रसीद एवं आधार कार्ड नंबर उपलब्ध नहीं कराया गया है। कई क्रेता नाबालिग है तथा पांचों क्रेता बिस्कोमान प्रबंधक के रिश्तेदार है।

डीएओ ने कहा कि सभी क्रेताओं को बिस्कोमान कृषक सेवा केंद्र नासरीगंज के प्रबंधक द्वारा कालाबाजरी करने के उद्देश्य से उर्वरक की बिक्री की गई है। जिसके बाद तत्काल प्रभाव से प्रभारी को निलंबित कर दिया गया है एवं अनुशासनात्मक कार्रवाई की जा रही है। बिस्कोमान कृषक सेवा केंद्र, नासरीगंज के प्रबंधक पद पर फिलहाल क्षेत्रीय पदाधिकारी, सासाराम को जिम्मेवारी दी गयी है।

सभी प्रखण्डों में चल रही जांच

ज्ञात हो कि जिले में चल रही खाद की किल्लत एवं कालाबाजारी को ले गत 18 दिसंबर को रोहतास डीएम द्वारा सभी वरीय नोडल पदाधिकारी को अप्रैल 2021 से लेकर सितंबर 2021 तक टॉप 20 यूरिया क्रेताओं की पहचान एवं सत्यापन का निर्देश दिया गया है।